Budhimaan

Home » Hindi Muhavare » जिसकी लाठी उसकी भैंस, अर्थ, प्रयोग(Jiski lathi uski bhains)

जिसकी लाठी उसकी भैंस, अर्थ, प्रयोग(Jiski lathi uski bhains)

"जिसकी लाठी उसकी भैंस मुहावरा", "Budhimaan.com हिंदी मुहावरे", "हिंदी मुहावरे की कहानी", "जिसकी लाठी उसकी भैंस चित्र"

अर्थ: ‘जिसकी लाठी उसकी भैंस’ इस मुहावरे का अर्थ है कि जिसके पास अधिक शक्ति या संसाधन होते हैं, वही अधिकार में होता है और उसी की बात मानी जाती है।

प्रयोग: जब किसी के पास अधिक शक्ति या संसाधन हो और वह उसका उपयोग अपनी बात मानवाने के लिए करे, तो इस मुहावरे का प्रयोग होता है।

उदाहरण: राम ने सुनील से कहा, “तुम्हारे पास पैसा है इसलिए तुम हमें डांटते हो, लेकिन याद रखो ‘जिसकी लाठी उसकी भैंस’ यह सच है, लेकिन यह सच्चाई नहीं है।”

विशेष टिप्पणी: यह मुहावरा हमें यह सिखाता है कि शक्ति और संसाधन का सही तरीके से उपयोग करना चाहिए। अधिकार में रहकर अन्यों को डांटना या उन्हें नीचा दिखाना उचित नहीं है।

जिसकी लाठी उसकी भैंस मुहावरा पर कहानी:

एक गाँव में दो प्रतिष्ठित व्यापारी रहते थे – रामनाथ और शिवनाथ। रामनाथ गाँव में सबसे अधिक धनी था और उसके पास बहुत सारी भूमि भी थी। वहीं, शिवनाथ भी धनी था, लेकिन उसके पास रामनाथ की तुलना में कम संसाधन थे।

एक दिन, गाँव में एक तालाब बनाने का प्रस्ताव आया। तालाब की जगह चुनते समय रामनाथ ने अपनी भूमि के एक हिस्से को तालाब के लिए प्रस्तुत किया, जबकि वह जगह शिवनाथ की भूमि के पास थी और उससे उसकी खेती को नुकसान हो सकता था।

शिवनाथ ने इसका विरोध किया, लेकिन रामनाथ ने अपनी धन शक्ति और प्रभाव का उपयोग करके गाँव के पंच को अपनी तरफ मायल किया। जब तालाब का निर्माण शुरू हुआ, तो शिवनाथ की खेती में पानी भर गया।

शिवनाथ ने अपने दोस्त से कहा, “यह तो ‘जिसकी लाठी उसकी भैंस’ का प्रमाण है। रामनाथ के पास अधिक संसाधन हैं, इसलिए वह अपनी मर्जी से कुछ भी कर सकता है।”

इस कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि अधिक शक्ति और संसाधन होने के बावजूद, उनका सही तरीके से उपयोग करना चाहिए, ताकि दूसरों को नुकसान न हो।

शायरी:

जिसकी लाठी वही राजा, भैंस पीछे चले आजा।

शक्ति का नाज़ हो जब, दिल में न हो अहंकार का अब्ब।

धन-बल से जो चलता है, वही दुनिया में बजता है।

लेकिन याद रखो दोस्त, सच्चाई की भी है अपनी बात।

आशा है कि आपको इस मुहावरे की समझ आ गई होगी और आप इसका सही प्रयोग कर पाएंगे।

Hindi to English Translation of जिसकी लाठी उसकी भैंस – Jiski lathi uski bhains idiom:

Meaning: The idiom “Jiski Lathi Uski Bhains” translates to “He who has the stick, owns the buffalo.” It implies that the person with power or resources is the one who dominates or has the final say.

Usage: This idiom is used when someone exercises their power or resources to have their way or to dominate others.

Example: Ram said to Sunil, “You scold us because you have money, but remember, ‘Jiski Lathi Uski Bhains’ might be a fact, but it’s not the truth.”

Special Note: This idiom teaches us that power and resources should be used wisely. Dominating or belittling others just because one is in a position of power is not appropriate.

Story of Jiski lathi uski bhains idiom in English:

In a village, there were two prominent businessmen – Ramanath and Shivanath. Ramanath was the wealthiest in the village and owned vast tracts of land. On the other hand, Shivanath was also affluent, but his resources were limited compared to Ramanath.

One day, a proposal to build a pond in the village came up. While selecting the location for the pond, Ramanath offered a part of his land, which was adjacent to Shivanath’s property. This could potentially harm Shivanath’s farming.

Shivanath opposed this, but Ramanath, using his financial power and influence, swayed the village council in his favor. When the construction of the pond began, Shivanath’s fields got flooded.

Shivanath said to his friend, “This is a classic case of ‘He Who Has the Stick, Owns the Buffalo’. Ramanath has more resources, so he can do as he pleases.”

This story teaches us that even if one has immense power and resources, they should be used judiciously to ensure no harm comes to others.

I hope this gives you a clear understanding of the proverb and how to use it correctly.

हिंदी मुहावरों की पूरी लिस्ट एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

2 टिप्पणियाँ

  1. पिंगबैक: List of Hindi Muhavare - Budhimaan

टिप्पणी करे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Budhimaan Team

Budhimaan Team

हर एक लेख बुधिमान की अनुभवी और समर्पित टीम द्वारा सोख समझकर और विस्तार से लिखा और समीक्षित किया जाता है। हमारी टीम में शिक्षा के क्षेत्र में विशेषज्ञ और अनुभवी शिक्षक शामिल हैं, जिन्होंने विद्यार्थियों को शिक्षा देने में वर्षों का समय बिताया है। हम सुनिश्चित करते हैं कि आपको हमेशा सटीक, विश्वसनीय और उपयोगी जानकारी मिले।

संबंधित पोस्ट

"टुकड़ा खाए दिल बहलाए कहावत का प्रतीकात्मक चित्र", "कपड़े फाटे घर को आए कहावत की व्याख्या वाला चित्र", "आर्थिक संघर्ष दर्शाती Budhimaan.com की छवि", "भारतीय ग्रामीण जीवन का यथार्थ चित्रण"
Kahavaten

टुकड़ा खाए दिल बहलाए, कपड़े फाटे घर को आए, अर्थ, प्रयोग(Tukda khaye dil bahlaye, Kapde fate ghar ko aaye)

“टुकड़ा खाए दिल बहलाए, कपड़े फाटे घर को आए” यह हिंदी कहावत कठिन परिस्थितियों में जीवन यापन करने के संघर्ष को दर्शाती है। इस कहावत

Read More »
"टका सर्वत्र पूज्यन्ते कहावत का चित्रण", "धन और सामाजिक सम्मान का प्रतीकात्मक चित्र", "भारतीय समाज में धन का चित्रण", "हिंदी कहावतों का विश्लेषण - Budhimaan.com"
Kahavaten

टका सर्वत्र पूज्यन्ते, बिन टका टकटकायते, अर्थ, प्रयोग(Taka sarvatra pujyate, Bin taka taktakayte)

परिचय: हिंदी की यह कहावत “टका सर्वत्र पूज्यन्ते, बिन टका टकटकायते” धन के महत्व और समाज में इसके प्रभाव पर जोर देती है। यह कहावत

Read More »
"टेर-टेर के रोवे कहावत का प्रतीकात्मक चित्र", "Budhimaan.com पर व्यक्तिगत समस्याओं का समाधान", "सामाजिक प्रतिष्ठा की रक्षा करती कहावत का चित्र", "हिंदी प्रवचनों की व्याख्या वाला चित्र"
Kahavaten

टेर-टेर के रोवे, अपनी लाज खोवे, अर्थ, प्रयोग(Ter-ter ke rove, Apni laj khove)

“टेर-टेर के रोवे, अपनी लाज खोवे” यह हिंदी कहावत व्यक्तिगत समस्याओं को बार-बार और सबके सामने व्यक्त करने के परिणामों को दर्शाती है। इस कहावत

Read More »
"ठग मारे अनजान कहावत का प्रतीकात्मक चित्र", "Budhimaan.com पर बनिया मारे जान कहावत का विश्लेषण", "धोखाधड़ी के विभिन्न रूप दर्शाती कहावत का चित्र", "हिंदी प्रवचनों की गहराई का चित्रण"
Kahavaten

ठग मारे अनजान, बनिया मारे जान, अर्थ, प्रयोग(Thag mare anjaan, Baniya maare jaan)

“ठग मारे अनजान, बनिया मारे जान” यह हिंदी कहावत विभिन्न प्रकार के छल-कपट की प्रकृति को दर्शाती है। इस कहावत के माध्यम से, हम यह

Read More »
"टका हो जिसके हाथ में कहावत का चित्रण", "समाज में धन की भूमिका का चित्र", "भारतीय कहावतों का चित्रात्मक प्रतिनिधित्व", "Budhimaan.com पर हिंदी कहावतों का विश्लेषण"
Kahavaten

टका हो जिसके हाथ में, वह है बड़ा जात में, अर्थ, प्रयोग(Taka ho jiske haath mein, Wah hai bada jaat mein)

“टका हो जिसके हाथ में, वह है बड़ा जात में” यह हिंदी कहावत समाज में धन के प्रभाव और उसकी महत्वपूर्णता पर प्रकाश डालती है।

Read More »
"टट्टू को कोड़ा और ताजी को इशारा कहावत का चित्रण", "बुद्धिमत्ता और मूर्खता पर आधारित हिंदी कहावत का चित्र", "Budhimaan.com पर हिंदी कहावतों की व्याख्या", "जीवन शैली और सीख का प्रतिनिधित्व करता चित्र"
Kahavaten

टट्टू को कोड़ा और ताजी को इशारा, अर्थ, प्रयोग(Tattoo ko koda aur tazi ko ishara)

“टट्टू को कोड़ा और ताजी को इशारा” यह हिंदी कहावत बुद्धिमत्ता और मूर्खता के बीच के व्यवहारिक अंतर को स्पष्ट करती है। इस कहावत के

Read More »

आजमाएं अपना ज्ञान!​

बुद्धिमान की इंटरैक्टिव क्विज़ श्रृंखला, शैक्षिक विशेषज्ञों के सहयोग से बनाई गई, आपको भारत के इतिहास और संस्कृति के महत्वपूर्ण पहलुओं पर अपने ज्ञान को जांचने का अवसर देती है। पता लगाएं कि आप भारत की विविधता और समृद्धि को कितना समझते हैं।