Budhimaan

Home » Kahavaten » चंदन की चुटकी भरी, गाड़ी भरा न काठ, अर्थ, प्रयोग (Chandan ki chutki bhari, Gadi bhara na kaath)

चंदन की चुटकी भरी, गाड़ी भरा न काठ, अर्थ, प्रयोग (Chandan ki chutki bhari, Gadi bhara na kaath)

परिचय: चंदन की चुटकी भरी, गाड़ी भरा न काठ, इस कहावत का शाब्दिक अर्थ है कि चंदन की थोड़ी मात्रा भी महत्वपूर्ण होती है, जबकि लकड़ी का एक पूरा गाड़ी भर भी उतना मूल्यवान नहीं होता।

अर्थ: यह कहावत यह दर्शाती है कि गुणवत्ता की मात्रा उसके मूल्य को निर्धारित करती है, न कि मात्रा। चंदन की छोटी मात्रा भी अपनी सुगंध और औषधीय गुणों के कारण महत्वपूर्ण होती है, जबकि सामान्य लकड़ी की बड़ी मात्रा भी उतनी कीमती नहीं होती।

उपयोग: इस कहावत का प्रयोग अक्सर वास्तु और निर्माण के संदर्भ में किया जाता है। यह बताती है कि एक छोटा लेकिन अच्छी तरह से निर्मित और डिजाइन किया गया घर एक बड़े लेकिन साधारण घर से अधिक मूल्यवान हो सकता है।

उदाहरण:

-> यदि कोई व्यक्ति एक छोटा लेकिन सुंदर और फंक्शनल घर बनाता है, जो वास्तुशास्त्र के अनुसार हो, तो वह एक बड़े, असंगठित और खराब डिजाइन वाले घर से अधिक आनंद और संतोष प्रदान करता है।

समापन: इस कहावत का सार यह है कि गुणवत्ता और महत्वपूर्णता की मात्रा नहीं, बल्कि इसका मूल्य होता है। यह हमें यह सिखाती है कि हमें चीजों की गुणवत्ता पर ध्यान देना चाहिए और उनके मूल्य का सम्मान करना चाहिए, भले ही वे छोटे हों।

Hindi Muhavare Quiz

चंदन की चुटकी भरी, गाड़ी भरा न काठ कहावत पर कहानी:

एक छोटे से गांव में, विशाल और अभय नाम के दो अच्छे दोस्त रहते थे। विशाल एक साधारण किसान था जबकि अभय एक लकड़हारा था। एक दिन, विशाल ने फैसला किया कि वह अपने परिवार के लिए एक नया घर बनाएगा।

विशाल ने एक छोटा पर सुंदर और अच्छी तरह से डिजाइन किया हुआ घर बनाने का निश्चय किया। उसने अपने घर के निर्माण के लिए थोड़ा सा चंदन का उपयोग किया ताकि उसका घर सुगंधित और शांतिपूर्ण रहे। वहीं, अभय ने अपना घर बनाने के लिए बहुत सारी साधारण लकड़ी इकट्ठा की। उसने एक बड़ा और सामान्य घर बनाया, जिसमें कोई विशेष डिजाइन या सुविधा नहीं थी।

जब दोनों घर बनकर तैयार हुए, तो गांव के लोगों ने विशाल के घर की बहुत प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि उसका घर भले ही छोटा हो, लेकिन उसकी सुंदरता और सुगंध उसे बहुत खास बनाती है। वहीं, अभय के बड़े घर को देखकर लोग बहुत प्रभावित नहीं हुए।

इस कहानी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि “चंदन की चुटकी भरी, गाड़ी भरा न काठ”। यानी, गुणवत्ता का महत्व होता है, मात्रा का नहीं। विशाल के छोटे लेकिन गुणवत्तापूर्ण घर ने यह साबित कर दिया कि छोटी चीजें भी, अगर वे गुणवत्तापूर्ण हों, तो बहुत मूल्यवान हो सकती हैं।

शायरी:

चंदन सी महकती फिजां, लकड़ी की भीड़ में खास,

जैसे दिल में बसे कुछ एहसास, जिंदगी के सफर का राज।

काठ की बगिया में खोजे ना कोई चंदन,

वही चुटकी भर खुशबू, बन जाए जीवन की बंदन।

बड़ी-बड़ी बातें नहीं, छोटे से दिल में बसता प्यार,

चंदन सा असर, काठ की भीड़ में भी अपना आधार।

जीवन का संगीत, चंदन की तरह सुरीला,

काठ की दुनिया में भी, असली मोल है उसका अकेला।

चंदन की चुटकी में छिपा, जीवन का सार,

काठ की भीड़ में खोजना, असली प्यार का इजहार।

 

चंदन की चुटकी भरी, गाड़ी भरा न काठ शायरी

आशा है कि आपको इस मुहावरे की समझ आ गई होगी और आप इसका सही प्रयोग कर पाएंगे।


Hindi to English Translation of चंदन की चुटकी भरी, गाड़ी भरा न काठ – Chandan ki chutki bhari, Gadi bhara na kaath Proverb:

Introduction: Chandan ki chutki bhari, Gadi bhara na kaath, The literal meaning of this proverb is that even a small amount of sandalwood is significant, whereas a cartload of ordinary wood is not as valuable.

Meaning: The proverb illustrates that the quality of an item determines its value, not the quantity. Even a small amount of sandalwood is important due to its fragrance and medicinal properties, whereas a large quantity of ordinary wood is not as precious.

Usage: This proverb is often used in the context of architecture and construction. It suggests that a small but well-built and designed house can be more valuable than a large but ordinary house.

Examples:

-> If a person builds a small, beautiful, and functional house according to the principles of Vastu Shastra, it provides more joy and satisfaction than a large, disorganized, and poorly designed house.

Conclusion: The essence of this proverb is that the value lies in the quality and significance, not in the quantity. It teaches us to focus on the quality of things and respect their value, no matter how small they may be.

Story of Chandan ki chutki bhari, Gadi bhara na kaath Proverb in English:

In a small village, there lived two good friends named Vishal and Abhay. Vishal was a simple farmer, while Abhay was a woodcutter. One day, Vishal decided to build a new house for his family.

Vishal resolved to build a small but beautifully designed house. He used a little bit of sandalwood in its construction to ensure the house was fragrant and peaceful. On the other hand, Abhay collected a lot of ordinary wood for his house. He built a large and plain house, which lacked any special design or features.

When both houses were completed, the villagers praised Vishal’s house. They said that although his house was small, its beauty and fragrance made it very special. In contrast, the people were not very impressed with Abhay’s large house.

This story teaches us the proverb “चंदन की चुटकी भरी, गाड़ी भरा न काठ” which means that quality is important, not quantity. Vishal’s small but high-quality house proved that even small things, if they are of good quality, can be very valuable.

 

I hope this gives you a clear understanding of the proverb and how to use it correctly.

FAQs:

इस कहावत का प्रयोग किस प्रकार की स्थितियों में किया जा सकता है?

इस कहावत का प्रयोग तब किया जा सकता है जब गुणवत्ता और मात्रा के बीच की तुलना की जा रही हो।

इस कहावत का उदाहरण क्या हो सकता है?

उदाहरण के लिए, एक छोटी मात्रा में अच्छी क्वालिटी की चीज बड़ी मात्रा में सामान्य क्वालिटी की चीज से अच्छी होती है।

इस कहावत का आधुनिक समाज में क्या प्रभाव है?

आधुनिक समाज में इस कहावत का प्रभाव यह है कि यह लोगों को गुणवत्ता पर ध्यान देने की प्रेरणा देती है।

इस कहावत का साहित्य में क्या स्थान है?

साहित्य में इस कहावत का प्रयोग अक्सर गुणवत्ता और मात्रा के महत्व को दर्शाने के लिए किया जाता है।

क्या यह कहावत किसी विशेष क्षेत्र या समुदाय से जुड़ी हुई है?

यह कहावत किसी विशेष क्षेत्र या समुदाय से नहीं जुड़ी हुई है; यह सामान्य रूप से भारतीय संस्कृति में प्रचलित है।

हिंदी कहावतों की पूरी लिस्ट एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

टिप्पणी करे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Budhimaan Team

Budhimaan Team

हर एक लेख बुधिमान की अनुभवी और समर्पित टीम द्वारा सोख समझकर और विस्तार से लिखा और समीक्षित किया जाता है। हमारी टीम में शिक्षा के क्षेत्र में विशेषज्ञ और अनुभवी शिक्षक शामिल हैं, जिन्होंने विद्यार्थियों को शिक्षा देने में वर्षों का समय बिताया है। हम सुनिश्चित करते हैं कि आपको हमेशा सटीक, विश्वसनीय और उपयोगी जानकारी मिले।

संबंधित पोस्ट

"खाइए मनभाता पहनिए जगभाता मुहावरे का चित्रण", "गाँव की शादी में समाज के अनुरूप वेशभूषा में युवक", "सादगीपसंद खाने और समाजिक वस्त्रों में संतुलन", "Budhimaan.com पर जीवन शैली और संस्कृति"
Hindi Muhavare

खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता अर्थ, प्रयोग (Khaiye manbhata, Pahniye jagbhata)

परिचय: “खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता” यह एक प्रचलित हिंदी मुहावरा है जो जीवन में एक संतुलित दृष्टिकोण अपनाने की सलाह देता है। यह मुहावरा हमें

Read More »
"करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत मुहावरे का चित्रण", "सकारात्मक कार्यों में ऊर्जा निवेश करते व्यक्ति की छवि", "Budhimaan.com पर सकारात्मक योगदान की प्रेरणा", "विवादों की बजाय कर्म पर ध्यान केंद्रित करता किसान"
Hindi Muhavare

करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत अर्थ, प्रयोग (Karni na kartoot, Ladne ko majboot)

परिचय: “करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत” एक हिंदी मुहावरा है जो उन व्यक्तियों के व्यवहार को उजागर करता है जो वास्तव में तो कुछ

Read More »
"ईंट की लेनी पत्थर की देनी कहानी चित्र", "मुहावरे का विवेचन आलेख छवि", "छोटी गलती बड़ा प्रतिशोध इलस्ट्रेशन", "Budhimaan.com पर जीवन की सीख ग्राफिक्स"
Hindi Muhavare

ईंट की लेनी पत्थर की देनी अर्थ, प्रयोग (Eent ki leni patthar ki deni)

परिचय: “ईंट की लेनी पत्थर की देनी” यह मुहावरा हिन्दी भाषा में बहुत प्रचलित है, जिसका प्रयोग अक्सर किसी के द्वारा की गई छोटी कार्रवाई

Read More »
"उत्तम खेती मध्यम बान इमेज", "स्वावलंबन का महत्व चित्र", "भारतीय मुहावरे विश्लेषण ग्राफिक", "Budhimaan.com पर आत्मनिर्भरता लेख इमेज"
Hindi Muhavare

उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान अर्थ, प्रयोग (Uttam kheti madhaym baan, Nikrasht chakri bheekh nidan)

परिचय: “उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान” एक प्राचीन हिंदी मुहावरा है जो विभिन्न पेशों की सामाजिक और आर्थिक स्थिति की तुलना करता

Read More »

आजमाएं अपना ज्ञान!​

बुद्धिमान की इंटरैक्टिव क्विज़ श्रृंखला, शैक्षिक विशेषज्ञों के सहयोग से बनाई गई, आपको भारत के इतिहास और संस्कृति के महत्वपूर्ण पहलुओं पर अपने ज्ञान को जांचने का अवसर देती है। पता लगाएं कि आप भारत की विविधता और समृद्धि को कितना समझते हैं।