Budhimaan

Home » Kahavaten » अंधा सिपाही कानी घोड़ी, विधि ने खूब मिलाई जोड़ी, अर्थ, प्रयोग(Andha Sipahi kaani ghodi, Vidhi ne khoob milai jodi)

अंधा सिपाही कानी घोड़ी, विधि ने खूब मिलाई जोड़ी, अर्थ, प्रयोग(Andha Sipahi kaani ghodi, Vidhi ne khoob milai jodi)

परिचय: “अंधा सिपाही कानी घोड़ी, विधि ने खूब मिलाई जोड़ी” एक प्रचलित हिंदी कहावत है, जिसका उपयोग अक्सर उन परिस्थितियों का वर्णन करने के लिए होता है, जहां दो असमान या अनुपयुक्त तत्वों का संयोजन होता है।

अर्थ: इस कहावत का शाब्दिक अर्थ है कि एक अंधे सिपाही को एक कानी घोड़ी मिली है। यहाँ ‘विधि’ का तात्पर्य किस्मत या भाग्य से है। इसका आशय यह है कि कभी-कभी भाग्य ऐसी जोड़ी बना देता है जो एक-दूसरे के लिए बिल्कुल भी उपयुक्त नहीं होती।

उपयोग: यह कहावत तब प्रयोग की जाती है जब दो व्यक्ति या वस्तुएं जो एक-दूसरे के लिए अनुपयुक्त हों, एक साथ आ जाते हैं और इससे अजीब या अनपेक्षित परिणाम सामने आते हैं।

उदाहरण:

-> मान लीजिए, एक कंपनी ने एक ऐसे प्रोजेक्ट मैनेजर को नियुक्त किया जो तकनीकी ज्ञान से अनजान है और उसे एक ऐसी टीम का नेतृत्व करने के लिए कहा जाता है जो उच्च तकनीकी कौशल रखती है। यहाँ इस कहावत का प्रयोग करके कहा जा सकता है कि “अंधा सिपाही कानी घोड़ी, विधि ने खूब मिलाई जोड़ी” क्योंकि मैनेजर और टीम की अनुपयुक्तता उनके कार्य प्रदर्शन पर असर डालेगी।

समापन: इस कहावत के माध्यम से यह समझा जाता है कि जीवन में कभी-कभी अनपेक्षित और असंगत जोड़ियां बन जाती हैं, जो अक्सर प्रभावशाली नहीं होतीं। यह भाग्य और संयोगों की अनिश्चितता पर प्रकाश डालती है और यह भी दर्शाती है कि हर जोड़ी या संयोजन हमेशा उचित या सफल नहीं होता।

Hindi Muhavare Quiz

अंधा सिपाही कानी घोड़ी, विधि ने खूब मिलाई जोड़ी कहावत पर कहानी:

एक बार की बात है, एक छोटे से गाँव में दो दोस्त रहते थे – विकास और अभय। विकास बहुत ही तेज़ दौड़ने वाला था, लेकिन उसे दिशाओं का ज्ञान नहीं था। वहीं, अभय दिशाओं का ज्ञानी था, लेकिन वह चल नहीं सकता था। गाँव के लोग इन्हें अक्सर एक साथ देखते थे।

एक दिन गाँव में एक बड़ी प्रतियोगिता का आयोजन हुआ। इसमें एक विशेष दौड़ थी, जिसमें भाग लेने वाले को न सिर्फ तेज़ दौड़ना था, बल्कि सही दिशा में दौड़कर मंजिल तक पहुँचना था। विकास और अभय ने इसमें भाग लेने का निर्णय किया।

दौड़ शुरू होते ही, विकास ने अभय को अपनी पीठ पर बिठा लिया। अभय ने दिशा बताई और विकास ने दौड़ लगाई। शुरुआत में तो सब ठीक लग रहा था, लेकिन जल्द ही वे गलत दिशा में जाने लगे। अभय को दिशा का पता था, लेकिन वह विकास को सही से समझा नहीं पा रहा था, और विकास तेज़ तो दौड़ रहा था, लेकिन सही दिशा में नहीं।

आखिरकार, वे दौड़ में सबसे आखिरी स्थान पर आए। गाँव वाले उन्हें देखकर कहने लगे, “ये तो अंधा सिपाही कानी घोड़ी की जोड़ी है। विधि ने खूब मिलाई जोड़ी।”

इस कहानी के माध्यम से यह सिखने को मिलता है कि कभी-कभी जीवन में ऐसे संयोग बनते हैं, जहां दो लोग या वस्तुएँ एक-दूसरे के लिए अनुपयुक्त होते हैं, और इससे अनपेक्षित परिणाम निकलते हैं। यह भाग्य और किस्मत की विडंबना को दर्शाता है।

शायरी:

अंधे की लाठी में जब दिखती नहीं रोशनी,

कानी घोड़ी लेकर चल पड़े हमसफर बनके।

विधि की इस अजब जोड़ी में, एक तमाशा छिपा है,

अंधा सिपाही कानी घोड़ी, जिंदगी का रिश्ता दीपक से पिघला है।

जिस्म चले बिन दिशा के, और दिल भटके बिन पता के,

अंधे और कानी की यह जोड़ी, जैसे कहानी अधूरी सी लगती है।

विधि के इस खेल में, सब कुछ होता अनजाना,

जब अंधा सिपाही मिले कानी घोड़ी से, हर कहानी में बनता एक अफसाना।

तकदीर की इस चाल में, जिंदगी यूँ गुजर जाती है,

अंधा सिपाही और कानी घोड़ी, जैसे हर राह में खुद को खोजती है।

 

अंधा सिपाही कानी घोड़ी, विधि ने खूब मिलाई जोड़ी शायरी

आशा है कि आपको इस मुहावरे की समझ आ गई होगी और आप इसका सही प्रयोग कर पाएंगे।


Hindi to English Translation of अंधा सिपाही कानी घोड़ी, विधि ने खूब मिलाई जोड़ी – Andha Sipahi kaani ghodi, Vidhi ne khoob milai jodi Proverb:

Introduction: “Andha Sipahi kaani ghodi, Vidhi ne khoob milai jodi” is a popular Hindi proverb used to describe situations where two dissimilar or unsuitable elements are combined.

Meaning: The literal meaning of this proverb is that a blind soldier has been paired with a one-eyed horse. Here, ‘Vidhi’ refers to fate or destiny. It suggests that sometimes destiny forms a pair that is utterly unsuitable for each other.

Usage: This proverb is used when two individuals or objects, unsuitable for each other, come together, leading to bizarre or unexpected results.

Examples:

For instance, suppose a company appoints a project manager who is unaware of technical knowledge and is asked to lead a team with high technical skills. In this case, one could use this proverb to comment, “Andha Sipahi kaani ghodi, Vidhi ne khoob milai jodi,” because the incompatibility of the manager and the team would affect their performance.

Conclusion: Through this proverb, it is understood that sometimes life brings together unexpected and incompatible pairs, which often are not effective. It highlights the uncertainty of fate and coincidences and shows that not every pairing or combination is always appropriate or successful.

Story of Andha Sipahi kaani ghodi, Vidhi ne khoob milai jodi Proverb in English:

Once upon a time in a small village, there lived two friends – Vikas and Abhay. Vikas was very fast at running, but he had no sense of direction. On the other hand, Abhay was knowledgeable about directions, but he couldn’t walk. The villagers often saw them together.

One day, a big competition was organized in the village. It included a special race in which participants not only had to run fast but also had to reach the destination in the right direction. Vikas and Abhay decided to participate in it.

As the race started, Vikas carried Abhay on his back. Abhay guided the direction, and Vikas ran. Initially, everything seemed fine, but soon they started going in the wrong direction. Abhay knew the directions, but he couldn’t guide Vikas properly, and Vikas, although running fast, was not heading in the right direction.

Eventually, they ended up in the last place in the race. The villagers, seeing them, commented, “This is like the blind soldier with a one-eyed horse. Fate has indeed matched them well.”

This story teaches us that sometimes in life, such coincidences happen where two people or things are unsuitable for each other, leading to unexpected outcomes. It illustrates the irony of fate and destiny.

 

I hope this gives you a. clear understanding of the proverb and how to use it correctly.

FAQs:

क्या इस कहावत में सिपाही और घोड़ी का संबंध है?

हाँ, यहां सिपाही अज्ञानी व्यक्ति को और घोड़ी विधि और ज्ञान को प्रतिष्ठित करती है, जो मिलकर सही जोड़ी बनाते हैं।

क्या इस कहावत में किसी विशेष स्थान या समय का उल्लेख है?

नहीं, इस कहावत में किसी विशेष स्थान या समय का उल्लेख नहीं है, यह एक सामान्य तथा सार्थक कहावत है।

क्या इस कहावत को हर क्षेत्र में लागू किया जा सकता है?

हाँ, यह कहावत सभी क्षेत्रों में लागू हो सकती है, क्योंकि विधि और योजना हर काम को सुगम बना सकती है।

क्या यह कहावत जीवन में उपयोगी है?

हाँ, यह कहावत जीवन में उपयोगी है, क्योंकि इससे सीख मिलती है कि सही तरीके से योजना बनाना और काम करना कितना महत्वपूर्ण है।

क्या इस कहावत का अंग्रेजी में कोई समर्थन है?

हाँ, इस कहावत का अंग्रेजी में समर्थन “Blind Soldier, Crafty Horse, Good Pairing by Strategy” हो सकता है।

हिंदी कहावतों की पूरी लिस्ट एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

टिप्पणी करे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Budhimaan Team

Budhimaan Team

हर एक लेख बुधिमान की अनुभवी और समर्पित टीम द्वारा सोख समझकर और विस्तार से लिखा और समीक्षित किया जाता है। हमारी टीम में शिक्षा के क्षेत्र में विशेषज्ञ और अनुभवी शिक्षक शामिल हैं, जिन्होंने विद्यार्थियों को शिक्षा देने में वर्षों का समय बिताया है। हम सुनिश्चित करते हैं कि आपको हमेशा सटीक, विश्वसनीय और उपयोगी जानकारी मिले।

संबंधित पोस्ट

"खाइए मनभाता पहनिए जगभाता मुहावरे का चित्रण", "गाँव की शादी में समाज के अनुरूप वेशभूषा में युवक", "सादगीपसंद खाने और समाजिक वस्त्रों में संतुलन", "Budhimaan.com पर जीवन शैली और संस्कृति"
Hindi Muhavare

खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता अर्थ, प्रयोग (Khaiye manbhata, Pahniye jagbhata)

परिचय: “खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता” यह एक प्रचलित हिंदी मुहावरा है जो जीवन में एक संतुलित दृष्टिकोण अपनाने की सलाह देता है। यह मुहावरा हमें

Read More »
"करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत मुहावरे का चित्रण", "सकारात्मक कार्यों में ऊर्जा निवेश करते व्यक्ति की छवि", "Budhimaan.com पर सकारात्मक योगदान की प्रेरणा", "विवादों की बजाय कर्म पर ध्यान केंद्रित करता किसान"
Hindi Muhavare

करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत अर्थ, प्रयोग (Karni na kartoot, Ladne ko majboot)

परिचय: “करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत” एक हिंदी मुहावरा है जो उन व्यक्तियों के व्यवहार को उजागर करता है जो वास्तव में तो कुछ

Read More »
"ईंट की लेनी पत्थर की देनी कहानी चित्र", "मुहावरे का विवेचन आलेख छवि", "छोटी गलती बड़ा प्रतिशोध इलस्ट्रेशन", "Budhimaan.com पर जीवन की सीख ग्राफिक्स"
Hindi Muhavare

ईंट की लेनी पत्थर की देनी अर्थ, प्रयोग (Eent ki leni patthar ki deni)

परिचय: “ईंट की लेनी पत्थर की देनी” यह मुहावरा हिन्दी भाषा में बहुत प्रचलित है, जिसका प्रयोग अक्सर किसी के द्वारा की गई छोटी कार्रवाई

Read More »
"उत्तम खेती मध्यम बान इमेज", "स्वावलंबन का महत्व चित्र", "भारतीय मुहावरे विश्लेषण ग्राफिक", "Budhimaan.com पर आत्मनिर्भरता लेख इमेज"
Hindi Muhavare

उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान अर्थ, प्रयोग (Uttam kheti madhaym baan, Nikrasht chakri bheekh nidan)

परिचय: “उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान” एक प्राचीन हिंदी मुहावरा है जो विभिन्न पेशों की सामाजिक और आर्थिक स्थिति की तुलना करता

Read More »

आजमाएं अपना ज्ञान!​

बुद्धिमान की इंटरैक्टिव क्विज़ श्रृंखला, शैक्षिक विशेषज्ञों के सहयोग से बनाई गई, आपको भारत के इतिहास और संस्कृति के महत्वपूर्ण पहलुओं पर अपने ज्ञान को जांचने का अवसर देती है। पता लगाएं कि आप भारत की विविधता और समृद्धि को कितना समझते हैं।