Budhimaan

Home » Kahavaten » अब की अब, जब की जब के साथ, अर्थ, प्रयोग(Ab ki ab, Jab ki jab ke saath)

अब की अब, जब की जब के साथ, अर्थ, प्रयोग(Ab ki ab, Jab ki jab ke saath)

“अब की अब, जब की जब के साथ” एक प्रचलित हिंदी कहावत है, जो काल-बोध के महत्व को दर्शाती है।

परिचय: यह कहावत हमें यह सिखाती है कि हर काम का एक उचित समय होता है और उसे उसी समय करना चाहिए। यह हमें वर्तमान में जीने और भविष्य के लिए कार्य करने की प्रेरणा देती है।

अर्थ: “अब की अब, जब की जब के साथ” का मतलब है कि जो काम अभी किया जा सकता है, उसे अभी ही करना चाहिए और जो काम बाद में करने का है, उसे उस समय करना चाहिए। इससे समय प्रबंधन और कार्यकुशलता में सुधार होता है।

उपयोग: इस कहावत का उपयोग समय की प्राथमिकता और उसके अनुरूप कार्य करने के महत्व को समझाने के लिए किया जाता है।

उदाहरण:

-> मान लीजिए, एक छात्र को अपनी परीक्षा की तैयारी करनी है, लेकिन वह टालमटोल कर रहा है। यहाँ पर “अब की अब, जब की जब के साथ” कहावत का प्रयोग करके उसे समझाया जा सकता है कि परीक्षा की तैयारी का सही समय अभी है।

समापन: “अब की अब, जब की जब के साथ” कहावत हमें यह सिखाती है कि हर काम को उसके उचित समय पर करना चाहिए। इससे हम समय का सदुपयोग कर सकते हैं और जीवन में बेहतर प्रबंधन और सफलता प्राप्त कर सकते हैं।

Hindi Muhavare Quiz

अब की अब, जब की जब के साथ कहावत पर कहानी:

एक समय की बात है, एक गाँव में अनुज नामक एक किसान रहता था। अनुज बहुत मेहनती और ईमानदार था, लेकिन वह हमेशा समय के महत्व को नहीं समझता था।

एक बार की बात है, जब खेती के लिए बीज बोने का सही समय आया, तो अनुज ने सोचा कि वह कल बीज बो देगा और आज अपने दोस्तों के साथ समय बिताएगा। लेकिन कल जब वह खेत में पहुँचा तो देखा कि बारिश हो रही है। इस कारण वह उस दिन बीज नहीं बो सका।

जब तक मौसम साफ हुआ, तब तक बीज बोने का सही समय निकल चुका था। अनुज को इस बात का बहुत अफसोस हुआ। उसी समय गाँव के एक बुजुर्ग ने उसे देखा और कहा, “बेटा, तुमने ‘अब की अब, जब की जब के साथ’ कहावत का महत्व नहीं समझा। हर काम को उसके सही समय पर करना चाहिए।”

इस घटना से अनुज को समझ में आया कि समय का सही उपयोग कितना जरूरी है। उसने ठान लिया कि वह आगे से हर काम को उसके उचित समय पर ही करेगा।

इस कहानी से हमें सीखने को मिलता है कि “अब की अब, जब की जब के साथ” – यानी हर काम को उसके सही समय पर करने की आवश्यकता होती है, ताकि हम समय का सदुपयोग कर सकें और अपने जीवन में बेहतर प्रबंधन और सफलता हासिल कर सकें।

शायरी:

अब की अब करो काम, जब की जब ना ठहराओ,
जिंदगी के फलसफे में, वक्त की बात समझाओ।

हर पल की कीमत है अनमोल, इसे यूँ ना गवाँ देना,
वक्त के साथ चलो दोस्तो, जिंदगी को मुस्कान देना।

अब के अब में है जिंदगी, जब के जब में है सपने,
इन सपनों को हकीकत में, बदलने का हुनर सिख लेना।

वक्त की नदी में बहते, जीवन के इस सफर में,
अब की अब, जब की जब, इसी में है असली मंजर में।

जिंदगी के इस मेले में, वक्त का करो आदर,
‘अब की अब, जब की जब’ से, बनाओ जीवन खुशहाल और सुंदर।

 

अब की अब, जब की जब के साथ शायरी

आशा है कि आपको इस मुहावरे की समझ आ गई होगी और आप इसका सही प्रयोग कर पाएंगे।


Hindi to English Translation of अब की अब, जब की जब के साथ – Ab ki ab, Jab ki jab ke saath Proverb:

“Ab ki ab, Jab ki jab ke saath” is a prevalent Hindi proverb, highlighting the importance of time perception.

Introduction: This proverb teaches us that every task has an appropriate time and should be done at that time. It inspires us to live in the present and work for the future.

Meaning: “Ab ki ab, Jab ki jab ke saath” means that the tasks that can be done now should be done now, and the tasks meant for later should be done at that time. This improves time management and efficiency in work.

Usage: This proverb is used to explain the importance of prioritizing time and performing tasks accordingly.

Examples:

-> For instance, a student needs to prepare for an exam but is procrastinating. Here, the proverb “Ab ki ab, Jab ki jab ke saath” can be used to explain that the right time to prepare for the exam is now.

Conclusion: The proverb “Ab ki ab, Jab ki jab ke saath” teaches us that every task should be done at its appropriate time. This allows us to utilize time effectively and achieve better management and success in life.

Story of Ab ki ab, Jab ki jab ke saath Proverb in English:

Once upon a time, in a village, there lived a farmer named Anuj. Anuj was hardworking and honest, but he always failed to understand the importance of timing.

On one occasion, when it was the right time to sow seeds for farming, Anuj thought he would sow the seeds tomorrow and spend today with his friends. However, when he reached the field the next day, he found it was raining. Due to this, he couldn’t sow the seeds that day.

By the time the weather cleared, the right time for sowing had passed. Anuj deeply regretted his decision. At that moment, an elder from the village saw him and said, “Son, you didn’t understand the importance of ‘Ab ki ab, Jab ki jab ke saath.’ Every task should be done at its proper time.”

This incident made Anuj realize the importance of using time appropriately. He resolved that from then on, he would do every task at its right time.

This story teaches us that “Ab ki ab, Jab ki jab ke saath” – meaning every task needs to be done at its appropriate time, to effectively utilize time and achieve better management and success in life.

 

I hope this gives you a clear understanding of the proverb and how to use it correctly

FAQs:

क्या यह कहावत जीवन में किस प्रकार मदद कर सकती है?

यह कहावत जीवन में समर्पितता और समय के सही उपयोग की महत्वपूर्णता को समझाने में मदद कर सकती है।

इस कहावत का उदाहारण दे सकते हैं?

यदि कोई व्यक्ति अपनी पढ़ाई में “अब की अब” और करियर में “जब की जब के साथ” सोचकर क्रियावली करता है, तो उसे सफलता मिल सकती है।

कहावत में समय की कीमत कैसे दिखाई गई है?

यह कहावत समझाती है कि समय का सही तरीके से उपयोग करना हमारे लिए कितना महत्वपूर्ण है।

क्या इस कहावत में कोई विशेष सावधानी दी गई है?

हाँ, इसमें सावधानी से समय का उपयोग करने की सलाह दी गई है ताकि किसी भी परिस्थिति में हम सही निर्णय ले सकें।

क्या इस कहावत का कोई विरोधाभास है?

नहीं, इस कहावत में कोई विरोधाभास नहीं है, बल्कि यह सभी स्थितियों के अनुकूल रूप से कार्रवाई करने की सलाह देती है।

हिंदी कहावतों की पूरी लिस्ट एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

टिप्पणी करे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Budhimaan Team

Budhimaan Team

हर एक लेख बुधिमान की अनुभवी और समर्पित टीम द्वारा सोख समझकर और विस्तार से लिखा और समीक्षित किया जाता है। हमारी टीम में शिक्षा के क्षेत्र में विशेषज्ञ और अनुभवी शिक्षक शामिल हैं, जिन्होंने विद्यार्थियों को शिक्षा देने में वर्षों का समय बिताया है। हम सुनिश्चित करते हैं कि आपको हमेशा सटीक, विश्वसनीय और उपयोगी जानकारी मिले।

संबंधित पोस्ट

"खाइए मनभाता पहनिए जगभाता मुहावरे का चित्रण", "गाँव की शादी में समाज के अनुरूप वेशभूषा में युवक", "सादगीपसंद खाने और समाजिक वस्त्रों में संतुलन", "Budhimaan.com पर जीवन शैली और संस्कृति"
Hindi Muhavare

खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता अर्थ, प्रयोग (Khaiye manbhata, Pahniye jagbhata)

परिचय: “खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता” यह एक प्रचलित हिंदी मुहावरा है जो जीवन में एक संतुलित दृष्टिकोण अपनाने की सलाह देता है। यह मुहावरा हमें

Read More »
"करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत मुहावरे का चित्रण", "सकारात्मक कार्यों में ऊर्जा निवेश करते व्यक्ति की छवि", "Budhimaan.com पर सकारात्मक योगदान की प्रेरणा", "विवादों की बजाय कर्म पर ध्यान केंद्रित करता किसान"
Hindi Muhavare

करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत अर्थ, प्रयोग (Karni na kartoot, Ladne ko majboot)

परिचय: “करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत” एक हिंदी मुहावरा है जो उन व्यक्तियों के व्यवहार को उजागर करता है जो वास्तव में तो कुछ

Read More »
"ईंट की लेनी पत्थर की देनी कहानी चित्र", "मुहावरे का विवेचन आलेख छवि", "छोटी गलती बड़ा प्रतिशोध इलस्ट्रेशन", "Budhimaan.com पर जीवन की सीख ग्राफिक्स"
Hindi Muhavare

ईंट की लेनी पत्थर की देनी अर्थ, प्रयोग (Eent ki leni patthar ki deni)

परिचय: “ईंट की लेनी पत्थर की देनी” यह मुहावरा हिन्दी भाषा में बहुत प्रचलित है, जिसका प्रयोग अक्सर किसी के द्वारा की गई छोटी कार्रवाई

Read More »
"उत्तम खेती मध्यम बान इमेज", "स्वावलंबन का महत्व चित्र", "भारतीय मुहावरे विश्लेषण ग्राफिक", "Budhimaan.com पर आत्मनिर्भरता लेख इमेज"
Hindi Muhavare

उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान अर्थ, प्रयोग (Uttam kheti madhaym baan, Nikrasht chakri bheekh nidan)

परिचय: “उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान” एक प्राचीन हिंदी मुहावरा है जो विभिन्न पेशों की सामाजिक और आर्थिक स्थिति की तुलना करता

Read More »

आजमाएं अपना ज्ञान!​

बुद्धिमान की इंटरैक्टिव क्विज़ श्रृंखला, शैक्षिक विशेषज्ञों के सहयोग से बनाई गई, आपको भारत के इतिहास और संस्कृति के महत्वपूर्ण पहलुओं पर अपने ज्ञान को जांचने का अवसर देती है। पता लगाएं कि आप भारत की विविधता और समृद्धि को कितना समझते हैं।