Budhimaan

Home » Hindi Muhavare » उड़ता तीर लेना अर्थ, प्रयोग(Udta teer lena)

उड़ता तीर लेना अर्थ, प्रयोग(Udta teer lena)

परिचय: “उड़ता तीर लेना” एक प्रचलित हिंदी मुहावरा है जो अक्सर दूसरों की समस्याओं या विवादों में अनावश्यक रूप से शामिल होने की प्रवृत्ति को दर्शाता है। यह उन स्थितियों का वर्णन करता है जहाँ व्यक्ति बिना सोचे-समझे या बिना व्यक्तिगत संबंध के दूसरों की समस्याओं में उलझ जाते हैं।

अर्थ: “उड़ता तीर लेना” मुहावरे का अर्थ है किसी अन्य व्यक्ति की समस्या या विवाद में अनायास ही शामिल हो जाना। यह आमतौर पर उन परिस्थितियों में प्रयोग होता है जहां व्यक्ति अपने आप को ऐसी स्थितियों में पाता है जो उसके लिए अप्रासंगिक होती हैं।

प्रयोग:

-> जब कोई व्यक्ति दूसरों के बीच चल रहे विवाद में बिना बुलाए या बिना किसी संबंध के हस्तक्षेप करता है।

-> जब किसी को दूसरे की समस्या का समाधान करने की चेष्टा करते हुए खुद के लिए समस्याएँ खड़ी कर लेता है।

उदाहरण:

-> अनुज ने अपने सहकर्मियों के बीच चल रहे झगड़े में बिना मांगे ही सलाह दे दी और खुद भी उसमें उलझ गया। यहाँ वह “उड़ता तीर लेने” का उदाहरण बन गया।

निष्कर्ष: “उड़ता तीर लेना” मुहावरा हमें सिखाता है कि अनावश्यक रूप से दूसरों की समस्याओं में पड़ने से बचना चाहिए, खासकर जब वे समस्याएँ हमारे लिए अप्रासंगिक हों। यह हमें समझदारी से कार्य करने और अपनी सीमाओं को पहचानने की शिक्षा देता है।

Hindi Muhavare Quiz

उड़ता तीर लेना मुहावरा पर कहानी:

एक बार की बात है, एक छोटे से गाँव में विशाल नाम का एक युवक रहता था। विशाल एक साधारण और शांतिप्रिय व्यक्ति था। उसका जीवन सामान्य रूप से बीत रहा था, जब तक कि एक दिन उसके गाँव में दो पड़ोसियों के बीच एक विवाद ने जन्म नहीं ले लिया।

विवाद का कारण था एक छोटी सी जमीन का टुकड़ा, जिस पर दोनों पड़ोसियों ने अपना-अपना दावा किया था। यह विवाद दिन-प्रतिदिन बढ़ता जा रहा था। विशाल, जो अक्सर उनके घर के पास से गुजरता था, उनके झगड़े को देखकर चिंतित हो जाता था।

एक दिन, विशाल ने सोचा कि शायद वह उनके बीच मध्यस्थता करके उनके विवाद को सुलझा सकता है। उसने दोनों पड़ोसियों से बात करने का निर्णय लिया और अपनी ओर से एक समाधान का प्रस्ताव रखा। लेकिन, उसके इस प्रयास ने स्थिति को और बिगाड़ दिया, और अब वे दोनों पड़ोसी विशाल पर ही गुस्सा उतारने लगे।

विशाल को जल्द ही एहसास हो गया कि उसने “उड़ता तीर ले लिया” है, यानी बिना किसी कारण के दूसरों के विवाद में शामिल हो गया है। उसने महसूस किया कि कभी-कभी दूसरों की समस्याओं में बिना बुलाए हस्तक्षेप करने से बचना बेहतर होता है।

इस अनुभव ने विशाल को एक महत्वपूर्ण सबक सिखाया: कि हर समस्या में हस्तक्षेप करना जरूरी नहीं होता, कभी-कभी दूरी बनाए रखना और परिस्थितियों को स्वाभाविक रूप से सुलझने देना बेहतर होता है।

शायरी:

ज़िंदगी में अक्सर हम, उड़ते तीर ले बैठे हैं,

अनजानी राहों में खुद, खुद को यहाँ खो बैठे हैं।

दूसरों की लड़ाई में, न जाने क्यों बढ़ चले,

अपने दिल की बात को, हम यूँ ही छोड़ चले।

सुलझाने चले थे जो, उलझे और उलझानियाँ,

खुद की राह में हमने, पाई बस परेशानियाँ।

सीख यही मिली है हमें, उड़ते तीर से आज,

अपनी राह चुनो सदा, बनो न किसी के राज।

हर दर्द की अपनी दवा, हर मर्ज़ का इलाज,

उड़ते तीर को न थामो, यही है सबसे सही राज।

 

उड़ता तीर लेना शायरी

आशा है कि आपको इस मुहावरे की समझ आ गई होगी और आप इसका सही प्रयोग कर पाएंगे।

Hindi to English Translation of उड़ता तीर लेना – Udta teer lena Idiom:

Introduction: “उड़ता तीर लेना” (Udta teer lena) is a popular Hindi idiom often used to describe the tendency of unnecessarily involving oneself in others’ problems or disputes. It depicts situations where individuals get entangled in others’ issues without thinking or without any personal relation.

Meaning: The literal meaning of the idiom is to inadvertently get involved in someone else’s problem or dispute. It is typically used in situations where a person finds themselves in scenarios that are irrelevant to them.

Usage:

-> When a person intervenes in an ongoing dispute between others without being asked or without any relation.

-> When someone tries to solve another person’s problem and ends up creating problems for themselves.

Usage:

-> Anuj offered unsolicited advice in an argument between his coworkers and got entangled himself. He became an example of “taking a flying arrow.”

Conclusion: The idiom “उड़ता तीर लेना” teaches us to avoid unnecessarily getting involved in others’ problems, especially when those problems are irrelevant to us. It educates us to act wisely and recognize our limits.

Story of ‌‌Udta teer lena Idiom in English:

Once upon a time in a small village, there was a young man named Vishal. Vishal was a simple and peaceful person. His life was going on normally until one day, a dispute arose between two neighbors in his village.

The dispute was over a small piece of land, which both neighbors claimed as their own. The conflict was escalating day by day. Vishal, who often passed by their houses, would become worried seeing their quarrel.

One day, Vishal thought that perhaps he could mediate between them and resolve their dispute. He decided to talk to both neighbors and proposed a solution from his side. However, his attempt only made the situation worse, and now both neighbors started venting their anger on Vishal.

Vishal soon realized that he had “taken a flying arrow”, meaning he had unnecessarily involved himself in others’ dispute. He understood that sometimes it is better to avoid intervening in other people’s problems uninvited.

This experience taught Vishal an important lesson: that it is not always necessary to intervene in every problem, and sometimes it is better to maintain distance and let situations resolve naturally.

 

I hope this gives you a clear understanding of the proverb and how to use it correctly

FAQs:

क्या इसका उपयोग केवल व्यक्तिगत स्थितियों में होता है?

नहीं, इस मुहावरे का उपयोग सामाजिक, आर्थिक या राजनीतिक परिस्थितियों के समाधान के संदर्भ में भी हो सकता है।

इस मुहावरे का प्रयोग किस परिस्थिति में होता है?

जब कोई व्यक्ति किसी कठिनाई या चुनौती का समाधान तेजी से निकाल लेता है, तो उस स्थिति में यह मुहावरा प्रयुक्त होता है।

क्या है मुहावरा “उड़ता तीर लेना” का अर्थ?

“उड़ता तीर लेना” का अर्थ होता है किसी समस्या या स्थिति का समाधान बड़ी आसानी से प्राप्त कर लेना।

क्या इस मुहावरे का कोई विपरीत अर्थ है?

नहीं, इस मुहावरे का कोई विपरीत अर्थ नहीं है, यह सकारात्मक रूप से प्रशंसा करता है।

उड़ता तीर लेना” का सही वाक्य प्रयोग कैसे हो सकता है?

उस नेता ने देश के सामने आए सभी समस्याओं का उड़ता तीर लेना दिखाया और उन्हें सफलता से हल किया।”

हिंदी मुहावरों की पूरी लिस्ट एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

टिप्पणी करे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Budhimaan Team

Budhimaan Team

हर एक लेख बुधिमान की अनुभवी और समर्पित टीम द्वारा सोख समझकर और विस्तार से लिखा और समीक्षित किया जाता है। हमारी टीम में शिक्षा के क्षेत्र में विशेषज्ञ और अनुभवी शिक्षक शामिल हैं, जिन्होंने विद्यार्थियों को शिक्षा देने में वर्षों का समय बिताया है। हम सुनिश्चित करते हैं कि आपको हमेशा सटीक, विश्वसनीय और उपयोगी जानकारी मिले।

संबंधित पोस्ट

"खाइए मनभाता पहनिए जगभाता मुहावरे का चित्रण", "गाँव की शादी में समाज के अनुरूप वेशभूषा में युवक", "सादगीपसंद खाने और समाजिक वस्त्रों में संतुलन", "Budhimaan.com पर जीवन शैली और संस्कृति"
Hindi Muhavare

खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता अर्थ, प्रयोग (Khaiye manbhata, Pahniye jagbhata)

परिचय: “खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता” यह एक प्रचलित हिंदी मुहावरा है जो जीवन में एक संतुलित दृष्टिकोण अपनाने की सलाह देता है। यह मुहावरा हमें

Read More »
"करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत मुहावरे का चित्रण", "सकारात्मक कार्यों में ऊर्जा निवेश करते व्यक्ति की छवि", "Budhimaan.com पर सकारात्मक योगदान की प्रेरणा", "विवादों की बजाय कर्म पर ध्यान केंद्रित करता किसान"
Hindi Muhavare

करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत अर्थ, प्रयोग (Karni na kartoot, Ladne ko majboot)

परिचय: “करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत” एक हिंदी मुहावरा है जो उन व्यक्तियों के व्यवहार को उजागर करता है जो वास्तव में तो कुछ

Read More »
"ईंट की लेनी पत्थर की देनी कहानी चित्र", "मुहावरे का विवेचन आलेख छवि", "छोटी गलती बड़ा प्रतिशोध इलस्ट्रेशन", "Budhimaan.com पर जीवन की सीख ग्राफिक्स"
Hindi Muhavare

ईंट की लेनी पत्थर की देनी अर्थ, प्रयोग (Eent ki leni patthar ki deni)

परिचय: “ईंट की लेनी पत्थर की देनी” यह मुहावरा हिन्दी भाषा में बहुत प्रचलित है, जिसका प्रयोग अक्सर किसी के द्वारा की गई छोटी कार्रवाई

Read More »
"उत्तम खेती मध्यम बान इमेज", "स्वावलंबन का महत्व चित्र", "भारतीय मुहावरे विश्लेषण ग्राफिक", "Budhimaan.com पर आत्मनिर्भरता लेख इमेज"
Hindi Muhavare

उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान अर्थ, प्रयोग (Uttam kheti madhaym baan, Nikrasht chakri bheekh nidan)

परिचय: “उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान” एक प्राचीन हिंदी मुहावरा है जो विभिन्न पेशों की सामाजिक और आर्थिक स्थिति की तुलना करता

Read More »

आजमाएं अपना ज्ञान!​

बुद्धिमान की इंटरैक्टिव क्विज़ श्रृंखला, शैक्षिक विशेषज्ञों के सहयोग से बनाई गई, आपको भारत के इतिहास और संस्कृति के महत्वपूर्ण पहलुओं पर अपने ज्ञान को जांचने का अवसर देती है। पता लगाएं कि आप भारत की विविधता और समृद्धि को कितना समझते हैं।