Budhimaan

Home » Hindi Muhavare » टाल-मटोल समय का चोर अर्थ, प्रयोग(Tal-matol samay ka chor)

टाल-मटोल समय का चोर अर्थ, प्रयोग(Tal-matol samay ka chor)

परिचय: “टाल-मटोल समय का चोर” एक प्रचलित हिंदी मुहावरा है, जिसका प्रयोग अक्सर समय की बर्बादी को दर्शाने के लिए किया जाता है।

अर्थ: इस मुहावरे का सीधा अर्थ है कि जब हम किसी काम को बार-बार टालते हैं या अनावश्यक देरी करते हैं, तो असल में हम अपने समय को नष्ट कर रहे होते हैं।

प्रयोग: यह मुहावरा उन परिस्थितियों में प्रयोग किया जाता है जहाँ किसी व्यक्ति के आलस या अनिच्छा के कारण काम में देरी हो रही हो।

उदाहरण:

-> अभय ने अपना प्रोजेक्ट समय पर पूरा नहीं किया क्योंकि उसने बहुत टाल-मटोल किया। वाकई, टाल-मटोल समय का चोर है।

-> अनीता हमेशा अपने काम को कल पर टालती है, और फिर शिकायत करती है कि समय कम पड़ जाता है। उसे समझना चाहिए कि टाल-मटोल समय का चोर है।

निष्कर्ष: “टाल-मटोल समय का चोर” मुहावरा हमें यह सिखाता है कि समय का सही उपयोग करना और आवश्यक कार्यों को समय पर पूरा करना कितना महत्वपूर्ण है। इस मुहावरे के माध्यम से हमें यह संदेश मिलता है कि टाल-मटोल करने से हम अपने कीमती समय को बर्बाद कर रहे होते हैं।

Hindi Muhavare Quiz

टाल-मटोल समय का चोर मुहावरा पर कहानी:

एक बार की बात है, एक छोटे गाँव में अमन नाम का एक लड़का रहता था। अमन पढ़ाई में तेज था, लेकिन उसे एक बुरी आदत थी – वह हमेशा अपने काम को टालता रहता था। उसके माता-पिता और शिक्षक उसे बार-बार समय का महत्व समझाते, पर अमन हर बार यह कहकर टाल देता कि ‘कल कर लूँगा।’

धीरे-धीरे, अमन के इस टाल-मटोल की आदत ने उसकी पढ़ाई पर असर डालना शुरू कर दिया। जब भी परीक्षाएँ नजदीक आतीं, अमन घबरा जाता क्योंकि उसे समझ नहीं आता कि इतने कम समय में इतना सारा कोर्स कैसे पूरा करे।

एक बार, उसकी फाइनल परीक्षा से ठीक पहले, अमन को एहसास हुआ कि उसने अभी तक कुछ भी तैयारी नहीं की थी। उसे अपनी गलती का अहसास हुआ और उसने बहुत कोशिश की, लेकिन समय कम पड़ गया। परिणामस्वरूप, उसके अंक बहुत कम आए।

इस घटना के बाद, अमन ने समझा कि “टाल-मटोल समय का चोर” है। उसने अपनी आदतें बदलीं और अपने समय का सही उपयोग करने लगा। अब वह अपने काम को समय पर पूरा करता और अपनी पढ़ाई में भी अच्छे अंक लाता।

इस कहानी से हमें यह सीख मिलती है कि समय का सही उपयोग करना कितना जरूरी है और टाल-मटोल करने से हम अपने मूल्यवान समय को बर्बाद कर देते हैं।

शायरी:

कल पर जो काम टालता हूँ, आज मैं उसे ढूंढता हूँ,

समय के चोर में, अपना आज खोजता हूँ।

हर टाल-मटोल में एक अफ़सोस छुपा होता है,

ज़िन्दगी का हर पल, इसी में दुबा होता है।

वक्त की कीमत क्या होती है, ये सोचता हूँ मैं,

जो आज में खोया, वो कल में ढूंढता हूँ मैं।

जिसने भी समय का मोल समझा, वो आगे बढ़ गया,

जो टाल-मटोल में जीता रहा, वहीं पर ठहर गया।

कहते हैं समय बहुत बलवान होता है,

जो इसे समझे, वही इंसान होता है।

 

टाल-मटोल समय का चोर शायरी

आशा है कि आपको इस मुहावरे की समझ आ गई होगी और आप इसका सही प्रयोग कर पाएंगे।

Hindi to English Translation of टाल-मटोल समय का चोर – Tal-matol samay ka chor Idiom:

Introduction: “टाल-मटोल समय का चोर” is a prevalent Hindi idiom, commonly used to denote the wastage of time.

Meaning: The literal meaning of this idiom is that when we repeatedly procrastinate or unnecessarily delay a task, we are essentially wasting our time.

Usage: This idiom is used in situations where someone’s laziness or unwillingness is causing a delay in completing a task.

Example:

-> Abhay did not complete his project on time because he procrastinated a lot. Indeed, procrastination is a thief of time.

-> Anita always puts off her work until tomorrow and then complains about running out of time. She should understand that procrastination is a thief of time.

Conclusion: The idiom “टाल-मटोल समय का चोर” teaches us the importance of utilizing time correctly and completing necessary tasks on time. It conveys the message that by procrastinating, we waste our valuable time.

Story of ‌‌Tal-matol samay ka chor Idiom in English:

Once upon a time, in a small village, there lived a boy named Aman. Aman was bright in his studies, but he had a bad habit – he always procrastinated. His parents and teachers repeatedly explained to him the importance of time, but Aman would always put things off, saying, ‘I’ll do it tomorrow.’

Gradually, Aman’s habit of procrastination began to affect his studies. Whenever exams approached, he would panic, not knowing how to complete so much course material in such little time.

Once, just before his final exams, Aman realized that he had not prepared at all. He became aware of his mistake and tried hard, but he ran out of time. As a result, he scored very low.

After this incident, Aman understood that “procrastination is a thief of time.” He changed his habits and started using his time effectively. Now, he completed his work on time and also started scoring well in his studies.

This story teaches us the importance of using time wisely and how procrastination can waste our valuable time.

 

I hope this gives you a clear understanding of the proverb and how to use it correctly

FAQs:

क्या इस मुहावरे का प्रयोग व्यक्तिगत और सामाजिक संदर्भों में किया जा सकता है?

हां, यह मुहावरा व्यक्तिगत और सामाजिक संदर्भों में दोनों ही रूपों में प्रयोग किया जा सकता है।

क्या इस मुहावरे का अन्य अर्थ होता है?

हां, इसका दूसरा अर्थ है किसी काम को बिना समय खोए या उसे बिना सही तरीके से अपनाए आगे बढ़ाना।

क्या है “टाल-मटोल समय का चोर बताते” का अर्थ?

यह मुहावरा वहां का उपयोग करता है जहां किसी व्यक्ति या स्थिति को ध्यान से नहीं देखते हुए समय का उपयोग नहीं किया जाता है।

क्या इस मुहावरे के किसी कहानी या उत्पत्ति के बारे में कुछ ज्ञात नहीं है?

ज्यादातर मुहावरों की तरह, इसकी कोई निश्चित कहानी या उत्पत्ति नहीं है, लेकिन यह जीवन के अनुभवों से निकाला गया हो सकता है।

क्या इस मुहावरे का प्रयोग केवल हिंदी भाषा में होता है?

नहीं, यह मुहावरा अन्य भाषाओं में भी प्रयोग किया जाता है, लेकिन उसका अर्थ वही होता है।

हिंदी मुहावरों की पूरी लिस्ट एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

टिप्पणी करे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Budhimaan Team

Budhimaan Team

हर एक लेख बुधिमान की अनुभवी और समर्पित टीम द्वारा सोख समझकर और विस्तार से लिखा और समीक्षित किया जाता है। हमारी टीम में शिक्षा के क्षेत्र में विशेषज्ञ और अनुभवी शिक्षक शामिल हैं, जिन्होंने विद्यार्थियों को शिक्षा देने में वर्षों का समय बिताया है। हम सुनिश्चित करते हैं कि आपको हमेशा सटीक, विश्वसनीय और उपयोगी जानकारी मिले।

संबंधित पोस्ट

"खाइए मनभाता पहनिए जगभाता मुहावरे का चित्रण", "गाँव की शादी में समाज के अनुरूप वेशभूषा में युवक", "सादगीपसंद खाने और समाजिक वस्त्रों में संतुलन", "Budhimaan.com पर जीवन शैली और संस्कृति"
Hindi Muhavare

खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता अर्थ, प्रयोग (Khaiye manbhata, Pahniye jagbhata)

परिचय: “खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता” यह एक प्रचलित हिंदी मुहावरा है जो जीवन में एक संतुलित दृष्टिकोण अपनाने की सलाह देता है। यह मुहावरा हमें

Read More »
"करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत मुहावरे का चित्रण", "सकारात्मक कार्यों में ऊर्जा निवेश करते व्यक्ति की छवि", "Budhimaan.com पर सकारात्मक योगदान की प्रेरणा", "विवादों की बजाय कर्म पर ध्यान केंद्रित करता किसान"
Hindi Muhavare

करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत अर्थ, प्रयोग (Karni na kartoot, Ladne ko majboot)

परिचय: “करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत” एक हिंदी मुहावरा है जो उन व्यक्तियों के व्यवहार को उजागर करता है जो वास्तव में तो कुछ

Read More »
"ईंट की लेनी पत्थर की देनी कहानी चित्र", "मुहावरे का विवेचन आलेख छवि", "छोटी गलती बड़ा प्रतिशोध इलस्ट्रेशन", "Budhimaan.com पर जीवन की सीख ग्राफिक्स"
Hindi Muhavare

ईंट की लेनी पत्थर की देनी अर्थ, प्रयोग (Eent ki leni patthar ki deni)

परिचय: “ईंट की लेनी पत्थर की देनी” यह मुहावरा हिन्दी भाषा में बहुत प्रचलित है, जिसका प्रयोग अक्सर किसी के द्वारा की गई छोटी कार्रवाई

Read More »
"उत्तम खेती मध्यम बान इमेज", "स्वावलंबन का महत्व चित्र", "भारतीय मुहावरे विश्लेषण ग्राफिक", "Budhimaan.com पर आत्मनिर्भरता लेख इमेज"
Hindi Muhavare

उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान अर्थ, प्रयोग (Uttam kheti madhaym baan, Nikrasht chakri bheekh nidan)

परिचय: “उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान” एक प्राचीन हिंदी मुहावरा है जो विभिन्न पेशों की सामाजिक और आर्थिक स्थिति की तुलना करता

Read More »

आजमाएं अपना ज्ञान!​

बुद्धिमान की इंटरैक्टिव क्विज़ श्रृंखला, शैक्षिक विशेषज्ञों के सहयोग से बनाई गई, आपको भारत के इतिहास और संस्कृति के महत्वपूर्ण पहलुओं पर अपने ज्ञान को जांचने का अवसर देती है। पता लगाएं कि आप भारत की विविधता और समृद्धि को कितना समझते हैं।