Budhimaan

Home » Hindi Muhavare » सन्न रह जाना, अर्थ, प्रयोग(Sann rah jana)

सन्न रह जाना, अर्थ, प्रयोग(Sann rah jana)

स्कूल की सभा में छात्र, प्रधानाध्यापक माइक पकड़ते हुए, अंश और उसके दोस्त सन्न होते हुए, शिक्षक की स्मृति में दुखी अंश

अर्थ: सन्न रह जाना, किसी अचानक आई घातक समस्या या असमाजिक घटना के चलते अच्छानक स्तंभित हो जाना। या फिर, किसी अप्रत्याशित समाचार से चौंक जाना।

उदाहरण:

-> जब अखिल को पता चला कि उसके प्रिय मित्र का दुर्घाटना में निधन हो गया, वह सन्न रह गया।

-> अनुज अपने प्रमोशन की खबर सुनते ही सन्न रह गया।

उत्पत्ति: इस मुहावरे की उत्पत्ति की स्पष्ट जानकारी उपलब्ध नहीं है, लेकिन इसका प्रयोग लोग अच्छानक चौंकने या स्तंभित होने की भावना को दर्शाने के लिए करते हैं।

सारांश: “सन्न रह जाना” मुहावरा हमें वह समय याद दिलाता है जब हम अचानक किसी घातक या अनपेक्षित घटना से स्तंभित हो जाते हैं। यह मुहावरा हमारी भाषा में उस समय की भावना को व्यक्त करने का अद्वितीय तरीका है।

आशा है कि अब आपको ‘सन्न रह जाना’ मुहावरे का अर्थ और इसका सही प्रयोग करने का तरीका समझ आ गया होगा। अगले समय जब भी आप किसी समस्या से स्तंभित हों, तो आप इस मुहावरे का प्रयोग कर सकते हैं।

सन्न रह जाना मुहावरा पर कहानी:

अंश एक साधारण स्कूल में पढ़ाई करता था। वह हमेशा अपने दोस्तों के साथ मजे करता था, और स्कूल की हर घटना में उसकी रुचि होती थी।

एक दिन, स्कूल के प्रधानाध्यापक ने सभी छात्रों को सभा में बुलाया। सभी छात्र उत्सुकता से प्रधानाध्यापक का इंतजार कर रहे थे। जब प्रधानाध्यापक ने माइक पकड़ा, उन्होंने बताया कि स्कूल की एक प्रमुख टीम का चयन हुआ है जो प्रांतीय प्रतियोगिता में भाग लेने जा रही है।

जब उन्होंने टीम के छात्रों के नाम अधिसूचित किये, तो सभी छात्र जोड़ों में बातचीत करने लगे। लेकिन, जब प्रधानाध्यापक ने बताया कि स्कूल का एक प्रमुख शिक्षक अचानक चल बसे हैं, पूरे सभागार में सन्नता छा गया।

अंश और उसके दोस्त सन्न रह गए। वे शिक्षक से बहुत प्यार करते थे और उसकी मृत्यु से वह अचानक स्तब्ध हो गए। वे आपस में बातचीत नहीं कर पा रहे थे।

स्कूल समाप्त होने पर अंश अपने घर लौटा। उसके माता-पिता ने जब जानकारी पाई कि उसका मन क्यों उदास है, तो उन्होंने समझाया कि कभी-कभी जीवन में ऐसी घटनाएँ होती हैं जो हमें अचानक स्तंभित कर देती हैं।

इस कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि कभी-कभी अचानक आने वाली घटनाएँ हमें सन्न कर देती हैं, और हमें समझना चाहिए कि जीवन में अच्छी और बुरी घटनाएँ हमेशा आती रहेंगी।

शायरी:

जब जीवन लाए अचानक झटका,

सन्न रह जाए दिल, बेहाल हो ज़िंदगी का चक्कर।

फूलों की तरह खिला ना सके, दहक जाए जैसे दिया,

मोहब्बत में जो दर्द छुपा, वो कहाँ से लाये अदब का असर।

 

सन्न रह जाना शायरी

आशा है कि आपको इस मुहावरे की समझ आ गई होगी और आप इसका सही प्रयोग कर पाएंगे।

Hindi to English Translation of सन्न रह जाना – Sann rah jana Idiom:

Meaning: To be suddenly stunned due to an unexpected and grave problem or unsocial event. Or, to be taken aback by unexpected news.

Usage:

-> When Akhil learned about the tragic death of his dear friend in an accident, he was completely taken aback. 

-> Anuj was left dumbfounded upon hearing the news of his promotion.

Origin: The exact origin of this idiom is not available, but it’s used to describe the feeling of being suddenly shocked or stunned.

Conclusion: The idiom “सन्न रह जाना” reminds us of those moments when we are unexpectedly confronted with a grave or unexpected event. It is a unique way to express this feeling in our language. Hopefully, now you have a clear understanding of the meaning of ‘सन्न रह जाना’ and how to use it correctly. The next time you find yourself stunned by an issue, you can use this idiom to describe your emotions.

Story of ‌‌Sann rah jana Idiom in English:

Ansh studied at a regular school. He always had fun with his friends and took an interest in every school event.

One day, the school principal called all the students for an assembly. All the students eagerly awaited the principal’s address. When the principal took the microphone, he announced that a main team from the school had been selected to participate in a provincial competition.

As he listed the names of the students on the team, there was a buzz of conversation among the students. However, when the principal revealed that a prominent teacher of the school had suddenly passed away, a hush fell over the entire hall.

Ansh and his friends were stunned. They were very fond of the teacher, and the news of his death left them in shock. They couldn’t even talk to each other.

When school ended, Ansh returned home. When his parents learned why he was so distraught, they explained that sometimes life brings unexpected events that leave us stunned.

This story teaches us that sometimes sudden events can leave us taken aback, and we should understand that life will always bring a mix of good and bad events.

 

I hope this gives you a clear understanding of the proverb and how to use it correctly

हिंदी मुहावरों की पूरी लिस्ट एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

टिप्पणी करे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Budhimaan Team

Budhimaan Team

हर एक लेख बुधिमान की अनुभवी और समर्पित टीम द्वारा सोख समझकर और विस्तार से लिखा और समीक्षित किया जाता है। हमारी टीम में शिक्षा के क्षेत्र में विशेषज्ञ और अनुभवी शिक्षक शामिल हैं, जिन्होंने विद्यार्थियों को शिक्षा देने में वर्षों का समय बिताया है। हम सुनिश्चित करते हैं कि आपको हमेशा सटीक, विश्वसनीय और उपयोगी जानकारी मिले।

संबंधित पोस्ट

घर का जोगी जोगड़ा कहावत छवि, प्रेमचंद्र का ज्ञान, Budhimaan.com पर प्रेरणादायक कहानी, गाँव के संत का प्रवचन, निकटता और सम्मान का चित्रण
Kahavaten

घर का जोगी जोगड़ा, आन गाँव का सिद्ध, अर्थ, प्रयोग(Ghar ka jogi jogda, Aan gaon ka siddh)

परिचय: “घर का जोगी जोगड़ा, आन गाँव का सिद्ध” यह हिंदी की एक प्रचलित कहावत है, जिसका अर्थ है कि अक्सर लोग अपने घर या

Read More »
जिन ढूंढ़ा तिन पाइयाँ कहावत छवि, अमन की आविष्कारशीलता, Budhimaan.com पर प्रेरणादायक कहानी, गाँव में नई मशीन का प्रदर्शन, कठिन परिश्रम की सफलता का चित्रण
Kahavaten

जिन ढूंढ़ा तिन पाइयाँ गहरे पानी पैठ, अर्थ, प्रयोग(Jin dhoondha paaiyan gahre pani paith)

परिचय: “जिन ढूंढ़ा तिन पाइयाँ गहरे पानी पैठ” यह हिंदी की एक प्रसिद्ध कहावत है, जो दृढ़ संकल्प और कठिन परिश्रम के महत्व को दर्शाती

Read More »
चील के घोसले में माँस कहाँ कहावत छवि, Budhimaan.com पर अनुभव की कहानी, व्यवसायिक संघर्ष का चित्रण, अनुभव का किराना दुकान, बड़ी कंपनी बनाम छोटा व्यवसाय
Kahavaten

चील के घोसले में माँस कहाँ, अर्थ, प्रयोग(Cheel ke ghosle mein maans kahan)

परिचय: “चील के घोसले में माँस कहाँ” यह हिंदी की एक प्रचलित कहावत है, जो यह बताती है कि कुछ स्थानों या परिस्थितियों में सफलता

Read More »
चोर लाठी दो जने कहावत चित्र, Budhimaan.com पर अंश और पिता की कहानी, एकता और साहस का प्रतीक, गाँव के परिदृश्य में वीरता, चुनौती का सामना करते पिता-पुत्र
Kahavaten

चोर लाठी दो जने और हम बाप पूत अकेले, अर्थ, प्रयोग(Chor lathi do jane aur ham baap poot akele)

परिचय: “चोर लाठी दो जने और हम बाप पूत अकेले” यह हिंदी की एक प्रचलित कहावत है, जो बल और साहस के महत्व को दर्शाती

Read More »
"चंदन-की-चुटकी-भरी-कहावत-इलस्ट्रेशन", "विशाल-और-अभय-की-प्रेरक-कहानी", "छोटे-सुंदर-घर-का-चित्र", "गुणवत्ता-बनाम-मात्रा-विचार", "Budhimaan.com-हिंदी-कहावत"
Kahavaten

चंदन की चुटकी भरी, गाड़ी भरा न काठ, अर्थ, प्रयोग(Chandan ki chutki bhari, Gadi bhara na kaath)

परिचय: चंदन की चुटकी भरी, गाड़ी भरा न काठ, इस कहावत का शाब्दिक अर्थ है कि चंदन की थोड़ी मात्रा भी महत्वपूर्ण होती है, जबकि

Read More »

आजमाएं अपना ज्ञान!​

बुद्धिमान की इंटरैक्टिव क्विज़ श्रृंखला, शैक्षिक विशेषज्ञों के सहयोग से बनाई गई, आपको भारत के इतिहास और संस्कृति के महत्वपूर्ण पहलुओं पर अपने ज्ञान को जांचने का अवसर देती है। पता लगाएं कि आप भारत की विविधता और समृद्धि को कितना समझते हैं।