Budhimaan

Home » Hindi Muhavare » रोते हुए गए मरे की खबर लाए अर्थ, प्रयोग (Rote hue gaye mare ki khabar laye)

रोते हुए गए मरे की खबर लाए अर्थ, प्रयोग (Rote hue gaye mare ki khabar laye)

परिचय: हिंदी मुहावरों में जीवन की विभिन्न स्थितियों और परिस्थितियों के लिए गहरी समझ और सीख होती है। “रोते हुए गए मरे की खबर लाए” एक ऐसा ही मुहावरा है, जो विपरीत परिणामों या उम्मीदों के विपरीत होने वाले परिणामों को दर्शाता है।

अर्थ: इस मुहावरे का अर्थ है कि जब कोई व्यक्ति किसी दुखद समाचार या बुरी खबर को लेकर आता है, तो वह खुद भी उस दुख में डूबा होता है। यह व्यक्ति के दुख और संवेदना को प्रकट करता है।

प्रयोग: इस मुहावरे का प्रयोग तब किया जाता है जब किसी को बहुत ही दुखद समाचार सुनाना पड़ता है, और यह दिखाने के लिए कि समाचार सुनाने वाला भी उसी दुख में शामिल है।

उदाहरण:

-> गांव में एक युवक था जिसे अपने पड़ोसी के निधन की खबर मिली। वह रोते हुए उस पड़ोसी के घर गया और उन्हें यह दुखद समाचार सुनाया। उसके आंसू ने “रोते हुए गए मरे की खबर लाए” मुहावरे की सच्चाई को प्रकट किया।

निष्कर्ष: “रोते हुए गए मरे की खबर लाए” मुहावरा हमें यह सिखाता है कि जीवन में दुखद समाचार और परिस्थितियां अनिवार्य हैं, लेकिन इन्हें साझा करने का तरीका भी महत्वपूर्ण है। यह हमें दुख की इस घड़ी में संवेदनशीलता और सहानुभूति के साथ पेश आने की प्रेरणा देता है।

रोते हुए गए मरे की खबर लाए मुहावरा पर कहानी:

एक छोटे से गांव में अनुभव नाम का एक युवक रहता था। अनुभव के पास एक बहुत ही कठिन काम था। उसे अपने मित्र अभय के घर जाकर अभय के पिता के निधन की खबर देनी थी। अनुभव और अभय बचपन से ही गहरे दोस्त थे, और अनुभव अभय के परिवार से भी बहुत जुड़ा हुआ था।

अनुभव के दिल में इस खबर को लेकर बहुत दुख और पीड़ा थी। वह रोते हुए अभय के घर की ओर चल पड़ा। जैसे ही उसने अभय के घर की दहलीज पर कदम रखा, उसकी आंखों से आंसू बह चले। अभय ने अनुभव को इस हालत में देखा तो समझ गया कि कुछ बहुत गंभीर बात है।

अनुभव ने अपनी सारी हिम्मत जुटाई और अभय को अपने पिता के निधन की खबर दी। अभय के लिए यह खबर सुनना बहुत ही कठिन था, लेकिन अनुभव के आंसू ने उसे यह अहसास दिलाया कि वह इस दुख की घड़ी में अकेला नहीं है।

निष्कर्ष

इस कहानी के माध्यम से “रोते हुए गए मरे की खबर लाए” मुहावरे का अर्थ स्पष्ट होता है। यह दर्शाता है कि जब हम किसी दुखद समाचार को साझा करते हैं, तो हमारी संवेदना और दुख उस समाचार को सुनने वाले तक पहुंचता है, और यही सहानुभूति और संवेदनशीलता का सच्चा रूप है। यह मुहावरा हमें सिखाता है कि दुख के समय में सहानुभूति और साथ देना कितना महत्वपूर्ण है।

शायरी:

दुख की इस घड़ी में, जब आंसू बने संगी,

“रोते हुए गए मरे की खबर लाए”, दुख के रंग में रंगी।

खबर जब दिल तोड़ दे, आंसू साथ बह जाएं,

दर्द का ऐसा सिलसिला, जहां शब्द कम पड़ जाएं।

संवेदना की बातें हैं, जब दिल से दिल मिलाए,

दुख में भी नज़दीकियां, जब आंसू साझा कर जाए।

खबर मरने की जब आए, दिल रोता हर बार,

जिंदगी के इस सफर में, दुख-सुख का है ये प्यार।

संग दुख में बांटने का, जब आए समय,

“रोते हुए गए मरे की खबर लाए”, ये कहानी है सबकी कही-अनकही।

 

रोते हुए गए मरे की खबर लाए शायरी

आशा है कि आपको इस मुहावरे की समझ आ गई होगी और आप इसका सही प्रयोग कर पाएंगे।

Hindi to English Translation of रोते हुए गए मरे की खबर लाए – Rote hue gaye mare ki khabar laye Idiom:

Introduction: Hindi idioms offer deep insights and lessons for various situations and circumstances in life. “रोते हुए गए मरे की खबर लाए” (Came crying with the news of death) is one such idiom that reflects outcomes contrary to expectations or adverse results.

Meaning: The idiom means that when someone comes bearing sad news or bad news, they themselves are also engulfed in that sorrow. It expresses the person’s grief and empathy.

Usage: This idiom is used when one has to convey very sad news, and it shows that the bearer of the news shares in the grief.

Example:

-> In a village, there was a young man who received the news of his neighbor’s demise. He went to the neighbor’s house crying and conveyed the sorrowful news. His tears revealed the truth of the idiom “Came crying with the news of death.”

Conclusion: The idiom “रोते हुए गए मरे की खबर लाए” teaches us that sad news and situations are inevitable in life, but the way we share them is also important. It inspires us to approach moments of grief with sensitivity and empathy.

Story of ‌‌Rote hue gaye mare ki khabar laye Idiom in English:

In a small village lived a young man named Anubhav. Anubhav had a very difficult task ahead of him. He had to go to his friend Abhay’s house to deliver the news of Abhay’s father’s demise. Anubhav and Abhay had been close friends since childhood, and Anubhav was also very attached to Abhay’s family.

Anubhav’s heart was filled with sorrow and pain regarding this news. He set off towards Abhay’s house with tears in his eyes. As soon as he stepped onto the threshold of Abhay’s house, tears started flowing from his eyes. Seeing Anubhav in this state, Abhay realized that something very serious had happened.

Gathering all his courage, Anubhav informed Abhay about his father’s passing. It was very hard for Abhay to hear this news, but Anubhav’s tears made him feel that he was not alone in this moment of grief.

Conclusion

Through this story, the meaning of the idiom “रोते हुए गए मरे की खबर लाए” (Came crying with the news of death) becomes clear. It shows that when we share sad news, our empathy and grief reach the person hearing the news, and this is the true form of sympathy and sensitivity. The idiom teaches us the importance of providing support and empathy during times of sorrow.

 

I hope this gives you a clear understanding of the proverb and how to use it correctly

हिंदी मुहावरों की पूरी लिस्ट एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

टिप्पणी करे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Budhimaan Team

Budhimaan Team

हर एक लेख बुधिमान की अनुभवी और समर्पित टीम द्वारा सोख समझकर और विस्तार से लिखा और समीक्षित किया जाता है। हमारी टीम में शिक्षा के क्षेत्र में विशेषज्ञ और अनुभवी शिक्षक शामिल हैं, जिन्होंने विद्यार्थियों को शिक्षा देने में वर्षों का समय बिताया है। हम सुनिश्चित करते हैं कि आपको हमेशा सटीक, विश्वसनीय और उपयोगी जानकारी मिले।

संबंधित पोस्ट

"खाइए मनभाता पहनिए जगभाता मुहावरे का चित्रण", "गाँव की शादी में समाज के अनुरूप वेशभूषा में युवक", "सादगीपसंद खाने और समाजिक वस्त्रों में संतुलन", "Budhimaan.com पर जीवन शैली और संस्कृति"
Hindi Muhavare

खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता अर्थ, प्रयोग (Khaiye manbhata, Pahniye jagbhata)

परिचय: “खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता” यह एक प्रचलित हिंदी मुहावरा है जो जीवन में एक संतुलित दृष्टिकोण अपनाने की सलाह देता है। यह मुहावरा हमें

Read More »
"करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत मुहावरे का चित्रण", "सकारात्मक कार्यों में ऊर्जा निवेश करते व्यक्ति की छवि", "Budhimaan.com पर सकारात्मक योगदान की प्रेरणा", "विवादों की बजाय कर्म पर ध्यान केंद्रित करता किसान"
Hindi Muhavare

करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत अर्थ, प्रयोग (Karni na kartoot, Ladne ko majboot)

परिचय: “करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत” एक हिंदी मुहावरा है जो उन व्यक्तियों के व्यवहार को उजागर करता है जो वास्तव में तो कुछ

Read More »
"ईंट की लेनी पत्थर की देनी कहानी चित्र", "मुहावरे का विवेचन आलेख छवि", "छोटी गलती बड़ा प्रतिशोध इलस्ट्रेशन", "Budhimaan.com पर जीवन की सीख ग्राफिक्स"
Hindi Muhavare

ईंट की लेनी पत्थर की देनी अर्थ, प्रयोग (Eent ki leni patthar ki deni)

परिचय: “ईंट की लेनी पत्थर की देनी” यह मुहावरा हिन्दी भाषा में बहुत प्रचलित है, जिसका प्रयोग अक्सर किसी के द्वारा की गई छोटी कार्रवाई

Read More »
"उत्तम खेती मध्यम बान इमेज", "स्वावलंबन का महत्व चित्र", "भारतीय मुहावरे विश्लेषण ग्राफिक", "Budhimaan.com पर आत्मनिर्भरता लेख इमेज"
Hindi Muhavare

उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान अर्थ, प्रयोग (Uttam kheti madhaym baan, Nikrasht chakri bheekh nidan)

परिचय: “उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान” एक प्राचीन हिंदी मुहावरा है जो विभिन्न पेशों की सामाजिक और आर्थिक स्थिति की तुलना करता

Read More »

आजमाएं अपना ज्ञान!​

बुद्धिमान की इंटरैक्टिव क्विज़ श्रृंखला, शैक्षिक विशेषज्ञों के सहयोग से बनाई गई, आपको भारत के इतिहास और संस्कृति के महत्वपूर्ण पहलुओं पर अपने ज्ञान को जांचने का अवसर देती है। पता लगाएं कि आप भारत की विविधता और समृद्धि को कितना समझते हैं।