Budhimaan

Home » Hindi Muhavare » पुराना घाघ होना अर्थ, प्रयोग (Purana ghagh hona)

पुराना घाघ होना अर्थ, प्रयोग (Purana ghagh hona)

परिचय: हिंदी भाषा के मुहावरे अक्सर गहरे अर्थ और जीवन के महत्वपूर्ण पहलुओं को दर्शाते हैं। “पुराना घाघ होना” एक ऐसा ही लोकप्रिय मुहावरा है, जो व्यक्ति के अनुभव और चतुराई पर प्रकाश डालता है।

अर्थ: “पुराना घाघ होना” का अर्थ है किसी व्यक्ति का बहुत अनुभवी और चालाक होना। यह मुहावरा उन व्यक्तियों के लिए प्रयोग होता है जो जीवन के कई उतार-चढ़ाव देख चुके हों और जिन्हें विभिन्न परिस्थितियों में सही निर्णय लेने की क्षमता हो।

प्रयोग: इस मुहावरे का इस्तेमाल अक्सर उन स्थितियों में होता है जहां किसी व्यक्ति की चालाकी या अनुभव को प्रदर्शित करना होता है।

उदाहरण:

-> “राजनीति में वह व्यक्ति पुराना घाघ है, उसे समझना आसान नहीं।”

-> “कानूनी मामलों में वकील साहब तो पुराने घाघ हैं, उन्हें चकमा देना मुश्किल है।”

निष्कर्ष: “पुराना घाघ होना” मुहावरा यह बताता है कि जीवन के अनुभव और चतुराई व्यक्ति को समझदार और निपुण बनाते हैं। यह मुहावरा हमें सिखाता है कि विभिन्न परिस्थितियों से गुजरना और उनसे सीखना, व्यक्ति को जीवन में सफलता और सम्मान दिलाने में मदद करता है।

पुराना घाघ होना मुहावरा पर कहानी:

एक छोटे से गाँव में सुरेंद्र नामक एक बुजुर्ग व्यक्ति रहते थे। सुरेंद्र ने अपने जीवन में अनेक उतार-चढ़ाव देखे थे और हर स्थिति में उन्होंने अपनी बुद्धिमत्ता और चतुराई से समाधान निकाला था। गाँववाले उन्हें ‘पुराना घाघ’ कहकर बुलाते थे।

एक बार गाँव में एक बड़ी समस्या आई। एक धूर्त साहूकार ने गाँववालों को ऊँचे ब्याज के जाल में फंसा लिया। गाँववाले बहुत परेशान हो गए और सुरेंद्र के पास मदद मांगने गए।

सुरेंद्र ने साहूकार के खिलाफ एक चाल चली। उन्होंने गाँववालों को साहूकार के खिलाफ एकजुट किया और उन्हें कानूनी सलाह दी। सुरेंद्र की चतुराई से गाँववाले न सिर्फ साहूकार के चंगुल से बाहर आए, बल्कि साहूकार को भी उसके अन्याय के लिए दंडित किया गया।

इस घटना के बाद, सुरेंद्र की और भी अधिक प्रशंसा हुई। गाँववालों ने समझा कि सुरेंद्र के अनुभव और चतुराई ने ही उन्हें इस समस्या से उबारा।

इस कहानी से हमें सिखने को मिलता है कि अनुभव और चतुराई जीवन की बड़ी समस्याओं का हल निकालने में सहायक होते हैं। “पुराना घाघ होना” का मतलब है अपने अनुभवों से सीखना और हर परिस्थिति में बुद्धिमानी से काम लेना।

शायरी:

जिंदगी के सफर में, जो चले सबसे आगे,

वही ‘पुराना घाघ’ कहलाए, जो सीखे हर राह से।

किस्मत की बाजी में, जब सब दाँव पे लगे,

अनुभव वहीं चलता है, जहाँ चतुराई संग जुड़े।

हर फिक्र में वो मुस्कुराए, जो पुराना घाघ हो,

जीवन की उलझनों में, वो ही रास्ता ढूँढे जो।

जिनकी बातों में है वजन, जो देखे हैं जमाने,

वो ‘पुराना घाघ’ होते हैं, जो जीते हैं अनजाने।

उसे कहते हैं ‘पुराना घाघ’, जो खेले होशियारी से,

जीवन की हर चाल में, वो निकले अव्वल यारी से।

इसलिए जिंदगी में, सीखो हर पल से कुछ नया,

‘पुराना घाघ’ वही होता है, जो जीता है हर फसल से।

 

पुराना घाघ होना शायरी

आशा है कि आपको इस मुहावरे की समझ आ गई होगी और आप इसका सही प्रयोग कर पाएंगे।

Hindi to English Translation of पुराना घाघ होना – Purana ghagh hona Idiom:

Introduction: Hindi idioms often convey deep meanings and reflect important aspects of life. “पुराना घाघ होना” is one such popular idiom, which highlights a person’s experience and cunning.

Meaning: “पुराना घाघ होना” means being very experienced and cunning. This idiom is used for individuals who have seen many ups and downs in life and possess the ability to make the right decisions in various situations.

Usage: This idiom is commonly used in situations where a person’s cunning or experience needs to be highlighted.

Example:

-> “In politics, that person is an old fox; understanding him is not easy.”

-> “In legal matters, the lawyer is an old hand; it’s difficult to deceive him.”

Conclusion: The idiom “पुराना घाघ होना” indicates that life experiences and cunning make a person wise and skilled. It teaches us that going through and learning from various situations helps a person achieve success and respect in life.

Story of ‌‌Purana ghagh hona Idiom in English:

In a small village lived an elderly man named Surendra. He had seen many ups and downs in his life and always found solutions to problems with his intelligence and cunning. The villagers called him ‘the old fox’ for his wisdom.

Once, the village faced a significant problem. A cunning moneylender trapped the villagers in the web of high interest. Distressed, the villagers sought Surendra’s help.

Surendra devised a plan against the moneylender. He united the villagers against him and provided legal advice. With Surendra’s cunning, not only were the villagers freed from the moneylender’s clutches, but the moneylender was also punished for his injustice.

After this incident, Surendra’s reputation grew even more. The villagers realized that it was Surendra’s experience and shrewdness that saved them from the crisis.

This story teaches us that experience and cunning are helpful in solving life’s significant problems. “पुराना घाघ होना” means learning from one’s experiences and acting wisely in every situation.

 

I hope this gives you a clear understanding of the proverb and how to use it correctly

हिंदी मुहावरों की पूरी लिस्ट एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

टिप्पणी करे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Budhimaan Team

Budhimaan Team

हर एक लेख बुधिमान की अनुभवी और समर्पित टीम द्वारा सोख समझकर और विस्तार से लिखा और समीक्षित किया जाता है। हमारी टीम में शिक्षा के क्षेत्र में विशेषज्ञ और अनुभवी शिक्षक शामिल हैं, जिन्होंने विद्यार्थियों को शिक्षा देने में वर्षों का समय बिताया है। हम सुनिश्चित करते हैं कि आपको हमेशा सटीक, विश्वसनीय और उपयोगी जानकारी मिले।

संबंधित पोस्ट

"खाइए मनभाता पहनिए जगभाता मुहावरे का चित्रण", "गाँव की शादी में समाज के अनुरूप वेशभूषा में युवक", "सादगीपसंद खाने और समाजिक वस्त्रों में संतुलन", "Budhimaan.com पर जीवन शैली और संस्कृति"
Hindi Muhavare

खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता अर्थ, प्रयोग (Khaiye manbhata, Pahniye jagbhata)

परिचय: “खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता” यह एक प्रचलित हिंदी मुहावरा है जो जीवन में एक संतुलित दृष्टिकोण अपनाने की सलाह देता है। यह मुहावरा हमें

Read More »
"करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत मुहावरे का चित्रण", "सकारात्मक कार्यों में ऊर्जा निवेश करते व्यक्ति की छवि", "Budhimaan.com पर सकारात्मक योगदान की प्रेरणा", "विवादों की बजाय कर्म पर ध्यान केंद्रित करता किसान"
Hindi Muhavare

करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत अर्थ, प्रयोग (Karni na kartoot, Ladne ko majboot)

परिचय: “करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत” एक हिंदी मुहावरा है जो उन व्यक्तियों के व्यवहार को उजागर करता है जो वास्तव में तो कुछ

Read More »
"ईंट की लेनी पत्थर की देनी कहानी चित्र", "मुहावरे का विवेचन आलेख छवि", "छोटी गलती बड़ा प्रतिशोध इलस्ट्रेशन", "Budhimaan.com पर जीवन की सीख ग्राफिक्स"
Hindi Muhavare

ईंट की लेनी पत्थर की देनी अर्थ, प्रयोग (Eent ki leni patthar ki deni)

परिचय: “ईंट की लेनी पत्थर की देनी” यह मुहावरा हिन्दी भाषा में बहुत प्रचलित है, जिसका प्रयोग अक्सर किसी के द्वारा की गई छोटी कार्रवाई

Read More »
"उत्तम खेती मध्यम बान इमेज", "स्वावलंबन का महत्व चित्र", "भारतीय मुहावरे विश्लेषण ग्राफिक", "Budhimaan.com पर आत्मनिर्भरता लेख इमेज"
Hindi Muhavare

उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान अर्थ, प्रयोग (Uttam kheti madhaym baan, Nikrasht chakri bheekh nidan)

परिचय: “उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान” एक प्राचीन हिंदी मुहावरा है जो विभिन्न पेशों की सामाजिक और आर्थिक स्थिति की तुलना करता

Read More »

आजमाएं अपना ज्ञान!​

बुद्धिमान की इंटरैक्टिव क्विज़ श्रृंखला, शैक्षिक विशेषज्ञों के सहयोग से बनाई गई, आपको भारत के इतिहास और संस्कृति के महत्वपूर्ण पहलुओं पर अपने ज्ञान को जांचने का अवसर देती है। पता लगाएं कि आप भारत की विविधता और समृद्धि को कितना समझते हैं।