Budhimaan

Home » Hindi Muhavare » पेट का काला होना अर्थ, प्रयोग(Pet ka kala hona)

पेट का काला होना अर्थ, प्रयोग(Pet ka kala hona)

परिचय: ‘पेट का काला होना’ यह हिंदी मुहावरा व्यक्ति के अंदर छिपे काले इरादों या छल-कपट को दर्शाता है। यह उस स्थिति को व्यक्त करता है जहां व्यक्ति के इरादे सही न होकर गलत और धोखाधड़ी से भरे होते हैं।

अर्थ: मुहावरे ‘पेट का काला होना’ का अर्थ है कि किसी व्यक्ति के अंदर छिपे धोखे, छल या गलत इरादे होना। यह उस व्यक्ति के बाहरी सज्जनता के विपरीत उसके अंदर की नकारात्मकता को दर्शाता है।

प्रयोग: इस मुहावरे का उपयोग अक्सर उस समय किया जाता है जब किसी के धोखाधड़ी या गलत इरादे सामने आते हैं।

उदाहरण:

-> जब विनीत ने अपने व्यापारिक साझेदार के साथ धोखाधड़ी की, तब समझ में आया कि उसका पेट काला है।

-> सुधीर का हमेशा सहायता करने का ढोंग था, लेकिन जब उसने अपनी सहेली का भरोसा तोड़ा, तो सबको पता चला कि उसका पेट काला है।

निष्कर्ष: ‘पेट का काला होना’ मुहावरा हमें यह सिखाता है कि बाहरी रूप या बोलचाल से किसी की असलियत का पता नहीं चलता। यह हमें सावधानीपूर्वक व्यक्ति की असली प्रवृत्ति को समझने की ओर प्रेरित करता है और यह दर्शाता है कि अंततः सच्चाई की जीत होती है।

Hindi Muhavare Quiz

पेट का काला होना मुहावरा पर कहानी:

एक छोटे से गांव में सुरेंद्र नाम का एक व्यापारी रहता था। वह बहुत ही मिलनसार और सहायक स्वभाव का था। गांव वाले उसकी दयालुता की बहुत प्रशंसा करते थे। लेकिन सुरेंद्र के मन में छिपी असलियत किसी को नहीं पता थी।

एक दिन, गांव में बड़ा उत्सव था, और सभी गांव वाले अपनी-अपनी उपज बाजार में बेचने आए थे। सुरेंद्र ने सभी किसानों से कहा कि वह उनकी फसलें बाजार में अच्छे दामों पर बेच देगा। किसानों ने सुरेंद्र पर भरोसा करते हुए अपनी फसलें उसे सौंप दीं।

लेकिन सुरेंद्र के मन में कुछ और ही था। उसने फसलों को बाजार में ऊंचे दामों पर बेच दिया, लेकिन किसानों को उनकी फसल की कम कीमत बताकर कम पैसे दिए। उसने सोचा कि किसी को पता नहीं चलेगा और वह खुद को बचा लेगा।

परंतु, एक दिन एक किसान ने बाजार में जाकर फसलों की असली कीमत पता कर ली। जब इसका पता गांववालों को चला, तो वे सभी सुरेंद्र से नाराज हो गए। उन्होंने कहा, “सुरेंद्र का पेट काला है, उसने हम सबके साथ धोखाधड़ी की है।”

इस घटना से गांववालों को समझ में आया कि बाहरी रूप और मिठी बातों से किसी की असलियत का पता नहीं चलता। सुरेंद्र का बाहरी सज्जनता का आवरण उसके अंदर की कुटिलता को नहीं छिपा सका।

निष्कर्ष:

इस कहानी से हमें यह सीख मिलती है कि व्यक्ति के बाहरी व्यवहार से उसके आंतरिक चरित्र का आकलन करना कठिन होता है। ‘पेट का काला होना’ मुहावरा हमें यह बताता है कि असली इरादे अक्सर छिपे होते हैं और सत्य का अंततः प्रकाश में आना निश्चित है।

शायरी:

बाजार की इस भीड़ में, सबके चेहरे हैं खुले,

फिर भी कुछ दिल हैं बंद, जिनके इरादे नहीं सुलझे।

पेट में काले इरादे, चेहरे पर फरेब की लकीर,

दिखते फूल सा सज्जन, पर अंदर से जहरीला तीर।

हर बदलते चेहरे में, एक नया राज छिपा है,

‘पेट का काला’ होना यहाँ, हर शख्स का फितरती तरीका है।

चलते हैं सब मुसाफिर यहाँ, अपनी-अपनी राहों पर,

कोई समझता नहीं, किसका दिल है साफ, किसका काला बाज़ार।

जो दिखता है बाहर से, वो अंदर से नहीं होता,

‘पेट का काला’ रहस्य, अक्सर देर से ही खुलता।

रास्ते पर चलते-चलते, यही सोचता हर शायर,

दुनिया के इस मेले में, हर रंग है बाजीगर।

 

पेट का काला होना शायरी

आशा है कि आपको इस मुहावरे की समझ आ गई होगी और आप इसका सही प्रयोग कर पाएंगे।

Hindi to English Translation of पेट का काला होना – Pet ka kala hona Idiom:

Introduction: The Hindi idiom ‘पेट का काला होना’ (Pet ka kala hona) represents hidden malicious intentions or deceit in a person. It expresses a situation where a person’s intentions are not righteous but filled with wrongdoing and deception.

Meaning: The phrase ‘पेट का काला होना’ means having hidden deceit, treachery, or ill intentions. It highlights the negative traits inside a person, contrasting their outward appearance of decency.

Usage: This idiom is often used when someone’s deceit or wrongful intentions are exposed.

Usage:

-> When Vineet cheated his business partner, it became clear that he had ‘a black belly’.

-> Sudhir always pretended to be helpful, but when he betrayed his friend’s trust, everyone realized that he had ‘a black belly’.

Conclusion: The idiom ‘पेट का काला होना’ teaches us that a person’s true nature cannot be discerned from their outward appearance or speech. It urges us to carefully understand a person’s true character and shows that ultimately, the truth prevails.

Story of ‌‌Pet ka kala hona Idiom in English:

In a small village, there lived a merchant named Surendra. He was very sociable and helpful by nature. The villagers greatly admired his kindness. However, nobody knew the reality hidden in Surendra’s heart.

One day, there was a big festival in the village, and all the villagers came to sell their produce in the market. Surendra told all the farmers that he would sell their crops in the market at good prices. Trusting him, the farmers handed over their crops to Surendra.

But Surendra had other intentions in mind. He sold the crops in the market at high prices, but told the farmers that their crops had fetched a lower price and gave them less money. He thought no one would find out and he would save himself.

However, one day a farmer found out the real price of the crops in the market. When the villagers learned about this, they all became angry with Surendra. They said, “Surendra has a black belly, he has cheated all of us.”

This incident made the villagers realize that a person’s true nature cannot be understood from their outward appearance and sweet words. Surendra’s outward guise of decency could not hide his inner cunningness.

Conclusion:

This story teaches us that it is difficult to assess a person’s inner character based on their external behavior. The idiom ‘having a black belly’ tells us that true intentions are often hidden and that the truth eventually comes to light.

 

I hope this gives you a clear understanding of the proverb and how to use it correctly

FAQs:

क्या इस मुहावरे का कोई ऐतिहासिक संदर्भ है?

इस मुहावरे का कोई विशेष ऐतिहासिक संदर्भ नहीं है, यह एक आम भाषा में प्रयुक्त मुहावरा है।

क्या इस मुहावरे का उपयोग रोज़मर्रा की ज़िन्दगी में हो सकता है?

हां, इसे रोज़मर्रा की ज़िन्दगी में भी उपयोग किया जा सकता है, जब किसी को भूख नहीं लग रही हो या उसको कुछ खाने का मौका नहीं मिल रहा हो।

क्या है मुहावरा “पेट का काला होना” का अर्थ?

“पेट का काला होना” मुहावरा है जिसका अर्थ होता है किसी को भूख नहीं लगना या भूख से बहुत देर तक गुजरना।

क्या इस मुहावरे का कोई सांदर्भिक संदर्भ है?

हां, इसे किसी अवस्था में जब कोई बहुत देर तक भूखा रहता है, तो इस मुहावरे का उपयोग किया जा सकता है।

क्या इस मुहावरे का कोई विशेष उपयोग है?

जी हां, इस मुहावरे का उपयोग भूख की अवस्था को व्यक्त करने के लिए और भूखे होने की स्थिति को व्यक्त करने के लिए किया जा सकता है।

हिंदी मुहावरों की पूरी लिस्ट एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

टिप्पणी करे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Budhimaan Team

Budhimaan Team

हर एक लेख बुधिमान की अनुभवी और समर्पित टीम द्वारा सोख समझकर और विस्तार से लिखा और समीक्षित किया जाता है। हमारी टीम में शिक्षा के क्षेत्र में विशेषज्ञ और अनुभवी शिक्षक शामिल हैं, जिन्होंने विद्यार्थियों को शिक्षा देने में वर्षों का समय बिताया है। हम सुनिश्चित करते हैं कि आपको हमेशा सटीक, विश्वसनीय और उपयोगी जानकारी मिले।

संबंधित पोस्ट

"खाइए मनभाता पहनिए जगभाता मुहावरे का चित्रण", "गाँव की शादी में समाज के अनुरूप वेशभूषा में युवक", "सादगीपसंद खाने और समाजिक वस्त्रों में संतुलन", "Budhimaan.com पर जीवन शैली और संस्कृति"
Hindi Muhavare

खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता अर्थ, प्रयोग (Khaiye manbhata, Pahniye jagbhata)

परिचय: “खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता” यह एक प्रचलित हिंदी मुहावरा है जो जीवन में एक संतुलित दृष्टिकोण अपनाने की सलाह देता है। यह मुहावरा हमें

Read More »
"करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत मुहावरे का चित्रण", "सकारात्मक कार्यों में ऊर्जा निवेश करते व्यक्ति की छवि", "Budhimaan.com पर सकारात्मक योगदान की प्रेरणा", "विवादों की बजाय कर्म पर ध्यान केंद्रित करता किसान"
Hindi Muhavare

करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत अर्थ, प्रयोग (Karni na kartoot, Ladne ko majboot)

परिचय: “करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत” एक हिंदी मुहावरा है जो उन व्यक्तियों के व्यवहार को उजागर करता है जो वास्तव में तो कुछ

Read More »
"ईंट की लेनी पत्थर की देनी कहानी चित्र", "मुहावरे का विवेचन आलेख छवि", "छोटी गलती बड़ा प्रतिशोध इलस्ट्रेशन", "Budhimaan.com पर जीवन की सीख ग्राफिक्स"
Hindi Muhavare

ईंट की लेनी पत्थर की देनी अर्थ, प्रयोग (Eent ki leni patthar ki deni)

परिचय: “ईंट की लेनी पत्थर की देनी” यह मुहावरा हिन्दी भाषा में बहुत प्रचलित है, जिसका प्रयोग अक्सर किसी के द्वारा की गई छोटी कार्रवाई

Read More »
"उत्तम खेती मध्यम बान इमेज", "स्वावलंबन का महत्व चित्र", "भारतीय मुहावरे विश्लेषण ग्राफिक", "Budhimaan.com पर आत्मनिर्भरता लेख इमेज"
Hindi Muhavare

उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान अर्थ, प्रयोग (Uttam kheti madhaym baan, Nikrasht chakri bheekh nidan)

परिचय: “उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान” एक प्राचीन हिंदी मुहावरा है जो विभिन्न पेशों की सामाजिक और आर्थिक स्थिति की तुलना करता

Read More »

आजमाएं अपना ज्ञान!​

बुद्धिमान की इंटरैक्टिव क्विज़ श्रृंखला, शैक्षिक विशेषज्ञों के सहयोग से बनाई गई, आपको भारत के इतिहास और संस्कृति के महत्वपूर्ण पहलुओं पर अपने ज्ञान को जांचने का अवसर देती है। पता लगाएं कि आप भारत की विविधता और समृद्धि को कितना समझते हैं।