Budhimaan

Home » Hindi Muhavare » नहले पे दहला, अर्थ, प्रयोग(Nehle pe dehla)

नहले पे दहला, अर्थ, प्रयोग(Nehle pe dehla)

"नहले पे दहला: एक अद्भुत कहानी"

आपने कई बार सुना होगा की ‘वह तो नहले पे दहला दे दिया।’ लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस मुहावरे का असली अर्थ क्या है और यह कहां प्रयोग होता है?

अर्थ: “नहले पे दहला” एक प्रचीन हिंदी मुहावरा है जिसका अर्थ होता है अच्छे ढंग से, ठोस तरीके से जवाब देना या समाधान प्रस्तुत करना। यह मुहावरा तब भी प्रयोग होता है जब किसी को उसकी ही भाषा में, उसके ही तरीके से जवाब दिया जाए।

उदाहरण:

-> जब समाज में महिलाओं को नीचा दिखाने के लिए कुछ लोग टिप्पणी करते थे, तब अनीता ने अपनी प्रतिभा और कामयाबी से उन्हें ‘नहले पे दहला’ दिया।

-> टीम के कप्तान ने मैच में हार के बावजूद अच्छे प्रदर्शन से विपक्षी टीम को ‘नहले पे दहला’ दिया।

प्रयोग: यह मुहावरा तब प्रयोग होता है जब हम चाहते हैं कि हमारी बातें और कार्य पूरी ताक़त से, बेहद प्रभावशाली तरीके से प्रस्तुत हों। जैसे किसी के प्रतिवाद में अच्छा जवाब देना, या किसी की उम्मीदों को पार करना।

अगली बार जब आप किसी को उसकी ही भाषा में जवाब दे रहे हों या किसी चुनौती का सामना कर रहे हों, तो आप भी ‘नहले पे दहला’ दे सकते हैं। और यह सीख हमें यह मुहावरा देता है कि कभी भी परिस्थितियों का सामना डट कर किया जाए, ताकि हम अपनी ताक़त और साहस से लोगों को आश्चर्यचकित कर सकें।

नहले पे दहला मुहावरा पर कहानी:

राम नगर में एक स्कूल था जिसमें अमन और शुभ पढ़ते थे। अमन हमेशा शुभ का मजाक उड़ाता था क्योंकि शुभ पढ़ाई में अधिक अच्छा नहीं था। वह अधिक समय खेलकूद में बिताता था और उसका प्रिय खेल क्रिकेट था।

एक दिन स्कूल में एक बड़ा क्रिकेट टूर्नामेंट हुआ। शुभ और अमन दो अलग-अलग टीमों में थे। जब मैच का समय आया, तो अमन शुभ को देखकर मजाक में बोला, “तैयार हो जा, आज तुम्हारी टीम को हराने के लिए मैं पूरी तैयारी में हूँ।”

मैच शुरू हुआ, और जब शुभ की बारी आई बल्लेबाजी करने की, तो अमन उसे बोलर के रूप में सामना करने आया। पहली ही गेंद पर शुभ ने छक्का मारा। जीत के बाद, शुभ अमन के पास गया और हंसते हुए बोला, “अब समझा, किसी चीज में अच्छा नहीं होने का मतलब यह नहीं कि किसी चीज में बुरा हूँ।”

अमन को समझ में आ गया कि उसने शुभ को समझने में गलती की थी। शुभ ने अपनी ताक़त और साहस से ‘नहले पे दहला’ दिया था। उसने अमन को उसकी भाषा में, उसके ही तरीके से जवाब दिया।

इस कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि हर किसी में कुछ ना कुछ खास होता है। और जब समय आता है, वह अपनी क्षमता से लोगों को आश्चर्यचकित कर सकता है। यही है ‘नहले पे दहला’ का असली मतलब।

शायरी:

नहले पे दहला का जवाब आया जब,

ज़िंदगी की गलियों में बहका।

आँखों में उत्साह, दिल में आग लगी,

आसमान छूने की तलब बढ़ी।

जिन्हें लगा था हम पर वक्त भारी,

वही हैरान हुए जब दिया दहलाने वाला जवाब।

इश्क़ में, ज़िंदगी में, जंग में जो भी हो,

हर मौके पर खुदा से मांगता हूँ वही जज्बा।

आशा है कि आपको इस मुहावरे की समझ आ गई होगी और आप इसका सही प्रयोग कर पाएंगे।

Hindi to English Translation of नहले पे दहला – Nehle pe dehla Idiom:

You may have often heard the phrase ‘Nehle pe dehla de diya.’ But do you know the actual meaning of this idiom and where it’s used? 

Meaning: “Nehle pe dehla” is an ancient Hindi idiom which means to give a solid, befitting reply or present a solution effectively. This idiom is also used when someone is responded to in their own way, using their own language or style.

Examples: 

-> When some people in society made remarks to belittle women, Anita countered them with her talent and achievements, giving a ‘befitting reply.’ 

-> Despite losing the match, the team’s captain gave a ‘befitting reply’ to the opposing team with a great performance.

Usage: This idiom is used when we want our words and actions to be presented with full strength, in a highly impactful manner. Like giving a good response to criticism, or exceeding someone’s expectations. So, the next time you’re responding to someone in their own language or facing a challenge, you too can give a ‘befitting reply.’ And this idiom teaches us to always face situations head-on so that we can astonish people with our strength and courage.

Story of Nehle pe dehla Idiom in English:

In the town of Ram Nagar, there was a school where Aman and Shubh studied. Aman always teased Shubh because Shubh wasn’t as good at studies. He spent more time playing, and his favorite sport was cricket.

One day, a big cricket tournament took place in the school. Shubh and Aman were in different teams. When the match time came, Aman jokingly said to Shubh, “Get ready, I am fully prepared to defeat your team today.”

The match began, and when it was Shubh’s turn to bat, Aman came forward as a bowler. On the very first ball, Shubh hit a six. After winning the match, Shubh went to Aman with a smile and said, “Now you understand, not being good at something doesn’t mean I’m bad at everything.”

Aman realized that he had misunderstood Shubh. Shubh had given a ‘befitting reply’ with his talent and courage. He responded to Aman in his own language and style.

This story teaches us that everyone has something special within them. And when the time comes, they can astonish people with their abilities. That’s the true meaning of ‘Nehle pe dehla’—to give a strong and effective response when needed.

I hope this gives you a clear understanding of the proverb and how to use it correctly

हिंदी मुहावरों की पूरी लिस्ट एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

टिप्पणी करे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Budhimaan Team

Budhimaan Team

हर एक लेख बुधिमान की अनुभवी और समर्पित टीम द्वारा सोख समझकर और विस्तार से लिखा और समीक्षित किया जाता है। हमारी टीम में शिक्षा के क्षेत्र में विशेषज्ञ और अनुभवी शिक्षक शामिल हैं, जिन्होंने विद्यार्थियों को शिक्षा देने में वर्षों का समय बिताया है। हम सुनिश्चित करते हैं कि आपको हमेशा सटीक, विश्वसनीय और उपयोगी जानकारी मिले।

संबंधित पोस्ट

"आप मियां मांगते दरवाजे खड़ा दरवेश कहावत पर आधारित चित्र", "आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ते कदम का प्रतीकात्मक चित्रण", "हिंदी कहावतों का संग्रह - बुद्धिमान.कॉम", "व्यक्तिगत विकास की प्रेरणादायी छवि"
Kahavaten

आप मियां मांगते दरवाजे खड़ा दरवेश, अर्थ, प्रयोग(Aap miyan mangte darwaje khada darvesh)

परिचय: “आप मियां मांगते दरवाजे खड़ा दरवेश” एक प्रसिद्ध हिंदी कहावत है जो व्यक्ति की आर्थिक और सामाजिक स्थिति पर प्रकाश डालती है। यह कहावत

Read More »
"आम खाने से काम मुहावरे का चित्रण", "व्यावहारिकता पर जोर देती कहावत का चित्र", "हिंदी मुहावरों का संकलन - बुद्धिमान.कॉम", "परिणामों पर फोकस करता बागवानी का चित्र"
Kahavaten

आम खाने से काम, पेड़ गिनने से क्या काम?, अर्थ, प्रयोग(Aam khane se kaam, Ped ginne se kya kaam?)

परिचय: “आम खाने से काम, पेड़ गिनने से क्या काम?” यह हिंदी की एक प्रसिद्ध कहावत है, जो व्यावहारिकता और परिणामों पर फोकस करने की

Read More »
"आठों पहर चौंसठ घड़ी कहावत विश्लेषण", "भारतीय किसान मेहनत का प्रतीक", "अनुज की प्रेरणादायक कहानी","सफलता की ओर अग्रसर युवक"
Kahavaten

आठों पहर चौंसठ घड़ी, अर्थ, प्रयोग(Aathon pahar chausath ghadi)

“आठों पहर चौंसठ घड़ी” एक प्रसिद्ध हिंदी कहावत है, जिसका अर्थ है “हर समय, निरंतर”. इस कहावत का उपयोग अक्सर उस स्थिति में किया जाता

Read More »

आजमाएं अपना ज्ञान!​

बुद्धिमान की इंटरैक्टिव क्विज़ श्रृंखला, शैक्षिक विशेषज्ञों के सहयोग से बनाई गई, आपको भारत के इतिहास और संस्कृति के महत्वपूर्ण पहलुओं पर अपने ज्ञान को जांचने का अवसर देती है। पता लगाएं कि आप भारत की विविधता और समृद्धि को कितना समझते हैं।