Budhimaan

Home » Hindi Muhavare » मूँछे उखाड़ना अर्थ, प्रयोग (Moonchhe ukhadna)

मूँछे उखाड़ना अर्थ, प्रयोग (Moonchhe ukhadna)

परिचय: हिंदी भाषा अपने रस, छंद, मुहावरों और लोकोक्तियों के लिए प्रसिद्ध है। “मूँछे उखाड़ना” एक ऐसा ही मुहावरा है जो भावनात्मक और सांस्कृतिक परिप्रेक्ष्य को समेटे हुए है। इसका प्रयोग अक्सर व्यंग्यात्मक रूप में किया जाता है।

अर्थ: “मूँछे उखाड़ना” मुहावरे का शाब्दिक अर्थ है किसी की मूँछे खींच कर निकाल देना, परंतु वास्तव में इसका प्रयोग किसी को नीचा दिखाने, अपमानित करने या किसी की गरिमा को ठेस पहुँचाने के संदर्भ में किया जाता है। यह अपमान या हार की स्थिति को दर्शाता है।

प्रयोग: इस मुहावरे का प्रयोग तब किया जाता है जब किसी को उसके अहंकार पर चोट करने की आवश्यकता होती है या जब किसी को शर्मिंदा करना होता है। यह विशेषकर उस समय उपयुक्त होता है जब कोई व्यक्ति अत्यधिक घमंड में डूबा हो।

उदाहरण:

-> सुरेंद्र ने चुनाव में अपने प्रतिद्वंद्वी को हराकर उसकी मूँछे उखाड़ दीं।

-> जब कंपनी ने नई तकनीक के साथ बाजार में प्रवेश किया, तो उसने अपने प्रतिस्पर्धियों की मूँछे उखाड़ दीं।

निष्कर्ष: “मूँछे उखाड़ना” मुहावरा हमें सिखाता है कि अहंकार और घमंड का अंत अक्सर अपमान और हार के रूप में होता है। यह हमें विनम्रता की ओर प्रेरित करता है और यह बताता है कि जीवन में सम्मान और सफलता पाने के लिए अहंकार को त्यागना आवश्यक है। इस मुहावरे का प्रयोग हमें यह भी बताता है कि समाज में व्यक्तियों को कैसे देखा जाता है और कैसे उनकी गरिमा और सम्मान को महत्व दिया जाता है।

मूँछे उखाड़ना मुहावरा पर कहानी:

एक समय की बात है, एक दूर देश में राजा प्रेमचंद्र सिंह राज्य करते थे। राजा बहुत ही वीर और शक्तिशाली थे, पर उनका एक दोष था – घमंड। वह हमेशा अपनी प्रशंसा सुनना चाहते थे और अपने आपको सबसे बड़ा समझते थे।

उसी राज्य में एक बुद्धिमान किसान विनीत रहता था। विनीत की बुद्धिमानी की चर्चा पूरे राज्य में थी। एक दिन, राजा ने सुना कि विनीत किसी भी समस्या का हल निकाल सकता है। राजा ने उसे अपने दरबार में बुलाने का आदेश दिया।

विनीत जब राजा के दरबार में पहुंचा, राजा ने उससे कहा, “तुमने सुना होगा कि मैं सबसे बड़ा और शक्तिशाली राजा हूँ। मैं चाहता हूँ कि तुम मेरी एक ऐसी प्रशंसा करो जिसे सुनकर सभी लोग मुझे और भी अधिक सम्मान दें।”

विनीत ने धीरे से सिर हिलाया और कहा, “महाराज, आपकी महिमा अपरंपर है। परंतु, क्या मैं आपसे एक सवाल पूछ सकता हूँ?”

“बिल्कुल,” राजा ने उत्सुकता से कहा।

“अगर आपके राज्य के सभी लोग आपसे भी ज्यादा बुद्धिमान, शक्तिशाली और धनवान बन जाएं, तो आपका क्या होगा?” विनीत ने पूछा।

राजा कुछ क्षण के लिए चुप हो गए। उन्होंने सोचा और फिर कहा, “तब मैं अपने लोगों में से एक हो जाऊंगा, न कि उनसे ऊपर।”

विनीत ने मुस्कुराते हुए कहा, “महाराज, आपकी महानता आपके पद में नहीं, बल्कि आपके कर्मों में है। जिस दिन आप इसे समझ जाएंगे, उस दिन आप वास्तव में महान बन जाएंगे।”

राजा प्रेमचंद्र सिंह को तब जाकर एहसास हुआ कि उनका घमंड उन्हें उनकी प्रजा से दूर कर रहा था। उस दिन के बाद, राजा ने अपने घमंड को त्याग दिया और अपनी प्रजा की सेवा में लग गए।

इस कहानी के माध्यम से, हम समझते हैं कि “मूँछे उखाड़ना” मुहावरे का अर्थ है अहंकार का परित्याग करना और अपनी वास्तविक महानता को पहचानना। राजा प्रेमचंद्र सिंह ने इसे समझकर अपने जीवन को बेहतर बनाया।

शायरी:

घमंड की महफ़िल में, जब मूँछे उखाड़ी जाती हैं,

वहाँ खुदा भी गुमसुम, सबक सिखाने आता है।

अहंकार का चोला, जब धरती पे गिरता है,

तब इंसान अपनी हैसियत, फिर से पहचानता है।

जिनके दिल में खुदा, उनकी मूँछे नहीं उखड़ती,

वो समंदर में भी डूबे, तो गहराई से गुज़रते हैं।

इस जहां में आए हो तो, फूलों सा महको,

मूँछे उखाड़ने का नहीं, दिल जीतने का हुनर सीखो।

बड़ा नाज़ुक है ये सिलसिला इंसानियत का,

मूँछे उखाड़ने वालों को, खुद की जड़ें मजबूत करनी पड़ती हैं।

जीवन की इस दौड़ में, मूँछे उखाड़ना क्या सीखा,

सीखो तो ये कि कैसे दिलों में बस जाना है।

मूँछे उखाड़ने की चाह में, क्या खोया क्या पाया है,

जब दिल से दिल मिलते हैं, तभी तो जीवन मुस्कुराया है।

 

मूँछे उखाड़ना शायरी

आशा है कि आपको इस मुहावरे की समझ आ गई होगी और आप इसका सही प्रयोग कर पाएंगे।

Hindi to English Translation of मूँछे उखाड़ना – Moonchhe ukhadna Idiom:

Introduction: The Hindi language is famous for its essence, rhymes, idioms, and proverbs. “Moonchhe ukhadna” is one such idiom that encapsulates emotional and cultural perspectives. It is often used in a sarcastic manner.

Meaning: Literally, the idiom “Moonchhe ukhadna” means to physically pull out someone’s mustache, but in actuality, it is used in contexts of belittling someone, humiliating them, or damaging someone’s dignity. It signifies a situation of insult or defeat.

Usage: This idiom is used when there’s a need to hurt someone’s ego or to embarrass someone. It is particularly apt when a person is drowned in excessive pride.

Example:

-> Surendra defeated his opponent in the elections and thus “pulled his mustache.”

-> When the company entered the market with new technology, it “pulled the mustaches” of its competitors.

Conclusion: The idiom “Moonchhe ukhadna” teaches us that arrogance and pride often end in humiliation and defeat. It motivates us towards humility and explains that letting go of ego is essential for gaining respect and success in life. The use of this idiom also enlightens us on how individuals are perceived in society and the importance given to their dignity and respect.

Story of ‌‌Moonchhe ukhadna Idiom in English:

Once upon a time, in a distant land, King Premchandra Singh ruled. The king was very brave and powerful, but he had one flaw – arrogance. He always wanted to hear praises of himself and considered himself the greatest.

In the same kingdom lived a wise farmer named Vineet. Vineet’s wisdom was talked about throughout the kingdom. One day, the king heard that Vineet could solve any problem. The king ordered him to be brought to the court.

When Vineet arrived at the king’s court, the king said to him, “You must have heard that I am the greatest and most powerful king. I want you to praise me in such a way that all people give me even more respect.”

Vineet nodded slowly and said, “Your Majesty, your glory is unparalleled. But, may I ask you a question?”

“Of course,” said the king eagerly.

“What would happen if all the people in your kingdom became more intelligent, powerful, and wealthy than you?” Vineet asked.

The king was silent for a moment. He thought and then said, “Then I would become one of my people, not above them.”

Vineet smiled and said, “Your Majesty, your greatness lies not in your position but in your deeds. The day you understand this, you will truly become great.”

King Premchandra Singh then realized that his arrogance was distancing him from his subjects. From that day forward, the king abandoned his arrogance and devoted himself to serving his people.

Through this story, we understand that the meaning of the idiom “pulling one’s mustache” is to abandon arrogance and recognize one’s true greatness. King Premchandra Singh improved his life by understanding this.

 

I hope this gives you a clear understanding of the proverb and how to use it correctly

हिंदी मुहावरों की पूरी लिस्ट एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

टिप्पणी करे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Budhimaan Team

Budhimaan Team

हर एक लेख बुधिमान की अनुभवी और समर्पित टीम द्वारा सोख समझकर और विस्तार से लिखा और समीक्षित किया जाता है। हमारी टीम में शिक्षा के क्षेत्र में विशेषज्ञ और अनुभवी शिक्षक शामिल हैं, जिन्होंने विद्यार्थियों को शिक्षा देने में वर्षों का समय बिताया है। हम सुनिश्चित करते हैं कि आपको हमेशा सटीक, विश्वसनीय और उपयोगी जानकारी मिले।

संबंधित पोस्ट

"खाइए मनभाता पहनिए जगभाता मुहावरे का चित्रण", "गाँव की शादी में समाज के अनुरूप वेशभूषा में युवक", "सादगीपसंद खाने और समाजिक वस्त्रों में संतुलन", "Budhimaan.com पर जीवन शैली और संस्कृति"
Hindi Muhavare

खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता अर्थ, प्रयोग (Khaiye manbhata, Pahniye jagbhata)

परिचय: “खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता” यह एक प्रचलित हिंदी मुहावरा है जो जीवन में एक संतुलित दृष्टिकोण अपनाने की सलाह देता है। यह मुहावरा हमें

Read More »
"करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत मुहावरे का चित्रण", "सकारात्मक कार्यों में ऊर्जा निवेश करते व्यक्ति की छवि", "Budhimaan.com पर सकारात्मक योगदान की प्रेरणा", "विवादों की बजाय कर्म पर ध्यान केंद्रित करता किसान"
Hindi Muhavare

करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत अर्थ, प्रयोग (Karni na kartoot, Ladne ko majboot)

परिचय: “करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत” एक हिंदी मुहावरा है जो उन व्यक्तियों के व्यवहार को उजागर करता है जो वास्तव में तो कुछ

Read More »
"ईंट की लेनी पत्थर की देनी कहानी चित्र", "मुहावरे का विवेचन आलेख छवि", "छोटी गलती बड़ा प्रतिशोध इलस्ट्रेशन", "Budhimaan.com पर जीवन की सीख ग्राफिक्स"
Hindi Muhavare

ईंट की लेनी पत्थर की देनी अर्थ, प्रयोग (Eent ki leni patthar ki deni)

परिचय: “ईंट की लेनी पत्थर की देनी” यह मुहावरा हिन्दी भाषा में बहुत प्रचलित है, जिसका प्रयोग अक्सर किसी के द्वारा की गई छोटी कार्रवाई

Read More »
"उत्तम खेती मध्यम बान इमेज", "स्वावलंबन का महत्व चित्र", "भारतीय मुहावरे विश्लेषण ग्राफिक", "Budhimaan.com पर आत्मनिर्भरता लेख इमेज"
Hindi Muhavare

उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान अर्थ, प्रयोग (Uttam kheti madhaym baan, Nikrasht chakri bheekh nidan)

परिचय: “उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान” एक प्राचीन हिंदी मुहावरा है जो विभिन्न पेशों की सामाजिक और आर्थिक स्थिति की तुलना करता

Read More »

आजमाएं अपना ज्ञान!​

बुद्धिमान की इंटरैक्टिव क्विज़ श्रृंखला, शैक्षिक विशेषज्ञों के सहयोग से बनाई गई, आपको भारत के इतिहास और संस्कृति के महत्वपूर्ण पहलुओं पर अपने ज्ञान को जांचने का अवसर देती है। पता लगाएं कि आप भारत की विविधता और समृद्धि को कितना समझते हैं।