Budhimaan

Home » Hindi Muhavare » माथे टीका होना अर्थ, प्रयोग(Mathe teeka hona)

माथे टीका होना अर्थ, प्रयोग(Mathe teeka hona)

परिचय: “माथे टीका होना” एक प्रचलित हिंदी मुहावरा है जो अक्सर व्यक्तिगत जिम्मेदारी या दायित्व के संदर्भ में प्रयोग किया जाता है। यह मुहावरा उस स्थिति को दर्शाता है जब किसी व्यक्ति पर कोई विशेष जिम्मेदारी या दायित्व आता है।

अर्थ: “माथे टीका होना” का अर्थ है किसी व्यक्ति पर विशेष जिम्मेदारी या दायित्व का होना। यह अक्सर तब प्रयोग किया जाता है जब कोई व्यक्ति किसी कार्य या जिम्मेदारी को पूरा करने के लिए उत्तरदायी होता है।

प्रयोग: यह मुहावरा तब प्रयोग में लाया जाता है जब किसी व्यक्ति पर कोई महत्वपूर्ण जिम्मेदारी या दायित्व होता है और उसे उस कार्य को सफलतापूर्वक पूरा करने का उत्तरदायित्व होता है।

उदाहरण:

-> जब कंपनी ने विकास को नए प्रोजेक्ट का प्रबंधन सौंपा, तो उसके सहकर्मी ने कहा, “अब तो तुम्हारे माथे टीका हो गया है।”

-> एक छात्र जब अपने स्कूल का कप्तान बना, तो उसके शिक्षक ने कहा, “अब इस स्कूल की प्रतिष्ठा तुम्हारे माथे टीका है।”

निष्कर्ष: “माथे टीका होना” मुहावरा हमें यह सिखाता है कि जब हम पर कोई महत्वपूर्ण जिम्मेदारी आती है, तो उसे पूरी लगन और समर्पण के साथ निभाना चाहिए। यह हमें दायित्व निभाने की महत्ता और उससे जुड़ी जिम्मेदारी की गंभीरता को समझने का संदेश देता है।

Hindi Muhavare Quiz

माथे टीका होना मुहावरा पर कहानी:

एक बार की बात है, एक छोटे से गाँव में अभय नामक एक युवक रहता था। अभय बहुत ही मेहनती और परिश्रमी था। गाँव में एक दिन ऐसा आया जब सभी गाँववालों ने फैसला किया कि वे एक सामुदायिक भवन बनाएंगे। इस भवन का उपयोग गाँव के सभी सामाजिक कार्यों के लिए किया जाएगा।

गाँववालों ने इस जिम्मेदारी के लिए अभय का चयन किया। अभय को इस बात की खुशी थी, लेकिन साथ ही उसे इस बड़ी जिम्मेदारी का एहसास भी हुआ। अब उसके माथे टीका हो गया था। अभय ने इस कार्य को पूरी निष्ठा और समर्पण से आगे बढ़ाया। उसने योजना बनाई, धनराशि इकट्ठा की, और निर्माण कार्य का निरीक्षण किया।

धीरे-धीरे, भवन का निर्माण पूरा हुआ और गाँववालों ने अभय की प्रशंसा की। अभय की मेहनत और लगन ने गाँव को एक सुंदर सामुदायिक भवन दिया। इस तरह अभय ने अपने माथे का टीका सफलतापूर्वक निभाया।

इस कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि जब हम पर कोई बड़ी जिम्मेदारी आती है, तो हमें उसे पूरी ईमानदारी और समर्पण से निभाना चाहिए। “माथे टीका होना” का यही अर्थ है कि हम जो जिम्मेदारी लेते हैं, उसे पूरा करना हमारा कर्तव्य है।

शायरी:

जिम्मेदारी की राह में, हर कदम चुनौती भरी,

माथे का टीका संभाले, चला हर जगह अज़ीज़ अपनी।

दुनिया की बातों से अलग, खुद का रास्ता बनाया,

माथे टीका होने पर भी, कदमों को ना डगमगाया।

वक्त की मार सही, फिर भी मुस्कुराए खड़े,

माथे की चमक से बता दिया, सपने हमेशा सच होते।

जिम्मेदारी के पथ पर, चलता गया वो अकेला,

माथे का टीका बन गया, उसकी कहानी का मेला।

 

माथे टीका होना शायरी

आशा है कि आपको इस मुहावरे की समझ आ गई होगी और आप इसका सही प्रयोग कर पाएंगे।

Hindi to English Translation of माथे टीका होना – Mathe teeka hona Idiom:

Introduction: “माथे टीका होना” (Mathe teeka hona) is a popular Hindi idiom often used in the context of personal responsibility or obligation. This idiom illustrates a situation where an individual assumes a special responsibility or duty.

Meaning: The literal meaning of “माथे टीका होना” is to have a mark of responsibility or obligation on one’s forehead. It is commonly used when an individual is accountable for completing a task or responsibility.

Usage: This idiom is employed when an individual bears a significant responsibility or obligation and is accountable for successfully accomplishing the task.

Usage:

-> When Vikas was assigned the management of a new project by his company, his colleague said, “Now, the responsibility is like a mark on your forehead (माथे टीका होना).”

-> When a student became the captain of his school, his teacher said, “Now, the prestige of this school is a responsibility on your forehead (माथे टीका होना).”

Conclusion: The idiom “माथे टीका होना” teaches us that when we are entrusted with an important responsibility, it should be carried out with full dedication and commitment. It conveys the significance of fulfilling obligations and the seriousness associated with the responsibilities entrusted to us.

Story of ‌‌Mathe teeka hona Idiom in English:

Once upon a time, there was a young man named Abhay living in a small village. Abhay was very hardworking and diligent. A day came when all the villagers decided to build a community hall, which would be used for all the social functions of the village.

The villagers chose Abhay for this responsibility. Abhay was happy, but he also realized the magnitude of this significant responsibility. Now, the responsibility was like a mark on his forehead (माथे टीका होना). Abhay approached this task with full dedication and commitment. He made plans, raised funds, and supervised the construction work.

Gradually, the construction of the hall was completed, and the villagers praised Abhay. His hard work and dedication had given the village a beautiful community hall. Thus, Abhay successfully fulfilled the responsibility that was like a mark on his forehead.

This story teaches us that when we are entrusted with a significant responsibility, we should fulfill it with honesty and dedication. The essence of “माथे टीका होना” is that fulfilling our duties is paramount when we take on responsibilities.

 

I hope this gives you a clear understanding of the proverb and how to use it correctly

FAQs:

यह मुहावरा किस भावना को व्यक्त करता है?

यह मुहावरा स्पष्टता और सीधे विचार को दर्शाने का कार्य करता है।

इस मुहावरे का प्रयोग किस परिस्थिति में हो सकता है?

यदि कोई व्यक्ति किसी बात को बिना कहे ही समझ जाए, तो हम “माथे टीका होना” का प्रयोग कर सकते हैं।

माथे टीका होना का अर्थ क्या है?

माथे टीका होना” का अर्थ होता है किसी को समझ में आ जाना या किसी बात का साफ़ सा हो जाना।

इस मुहावरे का सामान्य उपयोग क्या है?

इस मुहावरे का सामान्य उपयोग बातचीत में स्पष्टता बनाए रखने के लिए होता है।

क्या इस मुहावरे का उपयोग व्यापक रूप से होता है?

हाँ, यह मुहावरा व्यापक रूप से उपयोग होता है और विभिन्न स्थितियों में लोग इसका उपयोग कर सकते हैं।

हिंदी मुहावरों की पूरी लिस्ट एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

टिप्पणी करे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Budhimaan Team

Budhimaan Team

हर एक लेख बुधिमान की अनुभवी और समर्पित टीम द्वारा सोख समझकर और विस्तार से लिखा और समीक्षित किया जाता है। हमारी टीम में शिक्षा के क्षेत्र में विशेषज्ञ और अनुभवी शिक्षक शामिल हैं, जिन्होंने विद्यार्थियों को शिक्षा देने में वर्षों का समय बिताया है। हम सुनिश्चित करते हैं कि आपको हमेशा सटीक, विश्वसनीय और उपयोगी जानकारी मिले।

संबंधित पोस्ट

"खाइए मनभाता पहनिए जगभाता मुहावरे का चित्रण", "गाँव की शादी में समाज के अनुरूप वेशभूषा में युवक", "सादगीपसंद खाने और समाजिक वस्त्रों में संतुलन", "Budhimaan.com पर जीवन शैली और संस्कृति"
Hindi Muhavare

खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता अर्थ, प्रयोग (Khaiye manbhata, Pahniye jagbhata)

परिचय: “खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता” यह एक प्रचलित हिंदी मुहावरा है जो जीवन में एक संतुलित दृष्टिकोण अपनाने की सलाह देता है। यह मुहावरा हमें

Read More »
"करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत मुहावरे का चित्रण", "सकारात्मक कार्यों में ऊर्जा निवेश करते व्यक्ति की छवि", "Budhimaan.com पर सकारात्मक योगदान की प्रेरणा", "विवादों की बजाय कर्म पर ध्यान केंद्रित करता किसान"
Hindi Muhavare

करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत अर्थ, प्रयोग (Karni na kartoot, Ladne ko majboot)

परिचय: “करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत” एक हिंदी मुहावरा है जो उन व्यक्तियों के व्यवहार को उजागर करता है जो वास्तव में तो कुछ

Read More »
"ईंट की लेनी पत्थर की देनी कहानी चित्र", "मुहावरे का विवेचन आलेख छवि", "छोटी गलती बड़ा प्रतिशोध इलस्ट्रेशन", "Budhimaan.com पर जीवन की सीख ग्राफिक्स"
Hindi Muhavare

ईंट की लेनी पत्थर की देनी अर्थ, प्रयोग (Eent ki leni patthar ki deni)

परिचय: “ईंट की लेनी पत्थर की देनी” यह मुहावरा हिन्दी भाषा में बहुत प्रचलित है, जिसका प्रयोग अक्सर किसी के द्वारा की गई छोटी कार्रवाई

Read More »
"उत्तम खेती मध्यम बान इमेज", "स्वावलंबन का महत्व चित्र", "भारतीय मुहावरे विश्लेषण ग्राफिक", "Budhimaan.com पर आत्मनिर्भरता लेख इमेज"
Hindi Muhavare

उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान अर्थ, प्रयोग (Uttam kheti madhaym baan, Nikrasht chakri bheekh nidan)

परिचय: “उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान” एक प्राचीन हिंदी मुहावरा है जो विभिन्न पेशों की सामाजिक और आर्थिक स्थिति की तुलना करता

Read More »

आजमाएं अपना ज्ञान!​

बुद्धिमान की इंटरैक्टिव क्विज़ श्रृंखला, शैक्षिक विशेषज्ञों के सहयोग से बनाई गई, आपको भारत के इतिहास और संस्कृति के महत्वपूर्ण पहलुओं पर अपने ज्ञान को जांचने का अवसर देती है। पता लगाएं कि आप भारत की विविधता और समृद्धि को कितना समझते हैं।