Budhimaan

Home » Hindi Muhavare » मरता क्या न करता अर्थ, प्रयोग(Marta kya na karta)

मरता क्या न करता अर्थ, प्रयोग(Marta kya na karta)

परिचय: “मरता क्या न करता” यह हिंदी भाषा में एक लोकप्रिय मुहावरा है, जिसका प्रयोग अक्सर उन स्थितियों में किया जाता है जब व्यक्ति अपनी मजबूरी या असहाय स्थिति में आकर कुछ ऐसा कर बैठता है, जो वह सामान्य परिस्थितियों में नहीं करता।

अर्थ: इस मुहावरे का अर्थ है कि जब कोई व्यक्ति बहुत ज्यादा मजबूर या असहाय महसूस करता है, तो वह ऐसे काम कर जाता है जो आमतौर पर वह नहीं करता।

प्रयोग: इस मुहावरे का इस्तेमाल तब किया जाता है जब व्यक्ति अत्यंत विपरीत परिस्थितियों में फंस कर कुछ ऐसा करता है जो उसकी आम आदतों या सिद्धांतों से अलग होता है।

उदाहरण:

-> जब विकास ने अपनी नौकरी खो दी और उसे अपने परिवार का पेट पालना था, तो उसने बाजार में सब्जी बेचना शुरू कर दिया। उसके दोस्तों ने कहा, “मरता क्या न करता।”

-> अनीता ने कभी सोचा नहीं था कि वह घर से काम करेगी, लेकिन महामारी के दौरान उसे ऐसा करना पड़ा। उसने कहा, “मरता क्या न करता।”

निष्कर्ष: “मरता क्या न करता” मुहावरा हमें बताता है कि जीवन में कभी-कभी हम ऐसी परिस्थितियों में फंस जाते हैं, जहां हमें अपने सिद्धांतों या आदतों से हटकर काम करना पड़ता है। यह मुहावरा हमें यह सिखाता है कि कठिन परिस्थितियों में लचीलापन और अनुकूलन की क्षमता महत्वपूर्ण होती है।

Hindi Muhavare Quiz

मरता क्या न करता पर कहानी:

एक छोटे से गाँव में सुरेंद्र नाम का एक किसान रहता था। सुरेंद्र अपने उसूलों के पक्के और बहुत ही ईमानदार व्यक्ति थे। वह हमेशा अपनी मेहनत और लगन से खेती करते और अपने परिवार का पालन-पोषण करते।

एक वर्ष, अचानक गाँव में भयानक सूखा पड़ गया। सुरेंद्र की फसलें सूख गईं और उनके पास अपने परिवार का पेट भरने के लिए कुछ नहीं बचा। सुरेंद्र ने कई जगहों पर मदद मांगी, लेकिन कहीं से भी सहायता नहीं मिली।

अंत में, सुरेंद्र के सामने कोई चारा न देखकर उन्हें अपने उसूलों से हटना पड़ा। उन्होंने गाँव के बाहरी इलाके में जमीन का एक टुकड़ा बेच दिया, जिसे वह कभी बेचना नहीं चाहते थे। इससे उन्हें कुछ पैसे मिले जिससे वह अपने परिवार की जरूरतों को पूरा कर सके।

गाँववाले जब यह देखकर हैरान थे, तो सुरेंद्र ने कहा, “मरता क्या न करता।” उनका मतलब था कि मजबूरी में इंसान को कई बार अपने उसूलों और विचारों से हटकर कदम उठाने पड़ते हैं।

इस कहानी से हमें यह सीख मिलती है कि जीवन में कठिन परिस्थितियों का सामना करते समय, कभी-कभी हमें अपने सिद्धांतों और आदर्शों से विचलित होना पड़ सकता है। “मरता क्या न करता” मुहावरा इसी भावना को दर्शाता है।

शायरी:

मजबूरी में इंसान, कभी-कभी अजीब करता है,

“मरता क्या न करता”, जीवन ये सबक सिखाता है।

जब दुनिया साथ छोड़े, और राह हो अंधेरी,

तब इंसान अपने उसूलों की भी बलि चढ़ाता है।

ज़िंदगी की इस डगर में, जब तूफान आता है,

“मरता क्या न करता”, हर कोई यही गाता है।

उसूलों पर चलने वाला, जब मजबूर हो जाता,

तब हर कदम उसका, नयी कहानी कह जाता।

हालात के इस खेल में, जब इंसान हारा होता,

“मरता क्या न करता”, हर जुबां पर ये नारा होता।

 

मरता क्या न करता शायरी

आशा है कि आपको इस मुहावरे की समझ आ गई होगी और आप इसका सही प्रयोग कर पाएंगे।

Hindi to English Translation of मरता क्या न करता – Marta kya na karta Idiom:

Introduction: “मरता क्या न करता” (What wouldn’t one do in a desperate situation?) is a popular Hindi idiom often used in situations where a person, due to their helplessness or dire circumstances, ends up doing something they wouldn’t do under normal conditions.

Meaning: The idiom means that when a person feels extremely helpless or desperate, they end up doing things that they normally wouldn’t do.

Usage: This idiom is used when a person, trapped in extremely adverse circumstances, does something that is contrary to their usual habits or principles.

Usage:

-> When Vikas lost his job and had to feed his family, he started selling vegetables in the market. His friends said, “What wouldn’t one do in a desperate situation?”

-> Anita never thought she would work from home, but she had to during the pandemic. She said, “What wouldn’t one do in a desperate situation?”

Conclusion: The idiom “मरता क्या न करता” tells us that sometimes in life, we find ourselves in situations where we have to act against our principles or habits. This idiom teaches us that flexibility and adaptability are important in difficult circumstances.

Story of ‌‌Marta kya na karta Idiom in English:

In a small village, there lived a farmer named Surendra. Surendra was a man of principles and very honest. He always worked hard in his fields and took care of his family with his earnings.

One year, a terrible drought hit the village. Surendra’s crops dried up, and he was left with nothing to feed his family. He sought help from various places, but assistance came from nowhere.

Finally, seeing no other option, Surendra had to deviate from his principles. He sold a piece of land on the outskirts of the village, which he never wanted to sell. This sale gave him some money to meet his family’s needs.

When the villagers saw this and expressed their surprise, Surendra said, “What wouldn’t one do in a desperate situation?” He meant that sometimes, in dire circumstances, a person has to take steps that go against their principles and beliefs.

This story teaches us that in facing life’s tough situations, sometimes we may have to diverge from our ideals and principles. The idiom “मरता क्या न करता” (What wouldn’t one do in a desperate situation?) reflects this sentiment.

 

I hope this gives you a clear understanding of the proverb and how to use it correctly

FAQs:

क्या यह मुहावरा केवल जोखिमपूर्ण परिस्थितियों के लिए है?

नहीं, यह मुहावरा किसी भी कठिनाई, चुनौती या संघर्ष की स्थिति के लिए उपयुक्त है, चाहे वह जोखिमपूर्ण हो या न हो।

इस मुहावरे का उपयोग कहाँ होता है?

इस मुहावरे का उपयोग जीवन की मुश्किल स्थितियों में स्वीकार करने या किसी कठिनाई से निपटने के लिए होता है।

मरता क्या न करता का मतलब क्या है?

“मरता क्या न करता” एक मुहावरा है जिसका अर्थ है कोई भी कठिनाई या परेशानी में व्यक्ति कुछ भी करके अपनी जान बचाने के लिए प्रयासरत होता है।

क्या यह मुहावरा सकारात्मक या नकारात्मक भावनाओं के साथ जुड़ा हो सकता है?

हाँ, इस मुहावरे का उपयोग सकारात्मक भावनाओं को बढ़ावा देने के लिए भी किया जा सकता है।

क्या इसका उपयोग केवल व्यक्तिगत स्तर पर होता है?

नहीं, यह मुहावरा सामाजिक, आर्थिक या राजनीतिक संदर्भों में भी प्रयुक्त हो सकता है।

हिंदी मुहावरों की पूरी लिस्ट एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

टिप्पणी करे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Budhimaan Team

Budhimaan Team

हर एक लेख बुधिमान की अनुभवी और समर्पित टीम द्वारा सोख समझकर और विस्तार से लिखा और समीक्षित किया जाता है। हमारी टीम में शिक्षा के क्षेत्र में विशेषज्ञ और अनुभवी शिक्षक शामिल हैं, जिन्होंने विद्यार्थियों को शिक्षा देने में वर्षों का समय बिताया है। हम सुनिश्चित करते हैं कि आपको हमेशा सटीक, विश्वसनीय और उपयोगी जानकारी मिले।

संबंधित पोस्ट

"खाइए मनभाता पहनिए जगभाता मुहावरे का चित्रण", "गाँव की शादी में समाज के अनुरूप वेशभूषा में युवक", "सादगीपसंद खाने और समाजिक वस्त्रों में संतुलन", "Budhimaan.com पर जीवन शैली और संस्कृति"
Hindi Muhavare

खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता अर्थ, प्रयोग (Khaiye manbhata, Pahniye jagbhata)

परिचय: “खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता” यह एक प्रचलित हिंदी मुहावरा है जो जीवन में एक संतुलित दृष्टिकोण अपनाने की सलाह देता है। यह मुहावरा हमें

Read More »
"करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत मुहावरे का चित्रण", "सकारात्मक कार्यों में ऊर्जा निवेश करते व्यक्ति की छवि", "Budhimaan.com पर सकारात्मक योगदान की प्रेरणा", "विवादों की बजाय कर्म पर ध्यान केंद्रित करता किसान"
Hindi Muhavare

करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत अर्थ, प्रयोग (Karni na kartoot, Ladne ko majboot)

परिचय: “करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत” एक हिंदी मुहावरा है जो उन व्यक्तियों के व्यवहार को उजागर करता है जो वास्तव में तो कुछ

Read More »
"ईंट की लेनी पत्थर की देनी कहानी चित्र", "मुहावरे का विवेचन आलेख छवि", "छोटी गलती बड़ा प्रतिशोध इलस्ट्रेशन", "Budhimaan.com पर जीवन की सीख ग्राफिक्स"
Hindi Muhavare

ईंट की लेनी पत्थर की देनी अर्थ, प्रयोग (Eent ki leni patthar ki deni)

परिचय: “ईंट की लेनी पत्थर की देनी” यह मुहावरा हिन्दी भाषा में बहुत प्रचलित है, जिसका प्रयोग अक्सर किसी के द्वारा की गई छोटी कार्रवाई

Read More »
"उत्तम खेती मध्यम बान इमेज", "स्वावलंबन का महत्व चित्र", "भारतीय मुहावरे विश्लेषण ग्राफिक", "Budhimaan.com पर आत्मनिर्भरता लेख इमेज"
Hindi Muhavare

उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान अर्थ, प्रयोग (Uttam kheti madhaym baan, Nikrasht chakri bheekh nidan)

परिचय: “उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान” एक प्राचीन हिंदी मुहावरा है जो विभिन्न पेशों की सामाजिक और आर्थिक स्थिति की तुलना करता

Read More »

आजमाएं अपना ज्ञान!​

बुद्धिमान की इंटरैक्टिव क्विज़ श्रृंखला, शैक्षिक विशेषज्ञों के सहयोग से बनाई गई, आपको भारत के इतिहास और संस्कृति के महत्वपूर्ण पहलुओं पर अपने ज्ञान को जांचने का अवसर देती है। पता लगाएं कि आप भारत की विविधता और समृद्धि को कितना समझते हैं।