Budhimaan

Home » Hindi Muhavare » लाख टके की बात अर्थ, प्रयोग (Lakh take ki baat)

लाख टके की बात अर्थ, प्रयोग (Lakh take ki baat)

परिचय: हिंदी भाषा अपने रंगीन मुहावरों और लोकोक्तियों के लिए प्रसिद्ध है, जो जीवन के विभिन्न पहलुओं को सरल और सटीक तरीके से व्यक्त करते हैं। “लाख टके की बात” भी एक ऐसा ही मुहावरा है, जो किसी महत्वपूर्ण या मूल्यवान सलाह या विचार को दर्शाता है।

अर्थ: “लाख टके की बात” का अर्थ है कोई ऐसी बात जो बहुत ही महत्वपूर्ण, कीमती या उपयोगी हो। यह उस सलाह या विचार को दर्शाता है जिसका मूल्य अत्यधिक हो और जो व्यक्ति के जीवन में सकारात्मक परिवर्तन ला सके।

प्रयोग: इस मुहावरे का उपयोग तब किया जाता है जब किसी को बहुत ही उत्कृष्ट और मूल्यवान सलाह या सुझाव दिया जाता है। इसे अक्सर प्रशंसा या स्वीकृति के संदर्भ में उपयोग किया जाता है।

उदाहरण:

-> अमन ने जब अपनी नई व्यावसायिक योजना के बारे में अपने मित्र से सलाह मांगी, तो उसने जो विचार दिया, वह सच में “लाख टके की बात” थी। उस सलाह ने अमन के व्यवसाय को नई दिशा दी।

निष्कर्ष: “लाख टके की बात” मुहावरा हमें यह सिखाता है कि जीवन में सही समय पर मिली सही सलाह का मूल्य अमूल्य होता है। यह हमें प्रेरित करता है कि हमें हमेशा उन विचारों और सुझावों की सराहना करनी चाहिए जो हमें बेहतर दिशा में ले जा सकें।

लाख टके की बात मुहावरा पर कहानी:

एक समय की बात है, एक छोटे से गाँव में विशाल नाम का एक युवक रहता था। विशाल एक मेहनती और प्रतिभाशाली युवक था, लेकिन जीवन के कुछ फैसलों में वह हमेशा असमंजस में रहता था। वह अपनी प्रतिभा का सही इस्तेमाल करने के लिए सही मार्गदर्शन की तलाश में था।

एक दिन, विशाल ने अपने गाँव के सबसे बुजुर्ग और ज्ञानी व्यक्ति, बाबा सुरेंद्र से मिलने का निश्चय किया। बाबा सुरेंद्र अपने ज्ञान और अनुभव के लिए पूरे गाँव में प्रसिद्ध थे। विशाल ने बाबा के सामने अपनी समस्या रखी और उनसे मार्गदर्शन की याचना की।

बाबा सुरेंद्र ने विशाल की बातों को ध्यान से सुना और कहा, “बेटा, जीवन में सही दिशा चुनने के लिए तुम्हें अपने दिल की आवाज सुननी होगी। अपनी रुचियों और प्रतिभा को पहचानो, और फिर उस दिशा में कठिन परिश्रम करो। यही ‘लाख टके की बात’ है।”

विशाल को बाबा की यह सलाह बहुत ही मूल्यवान लगी। उसने बाबा की सलाह को दिल से अपनाया और अपनी रुचि के क्षेत्र में काम करना शुरू किया। समय के साथ, विशाल ने अपने क्षेत्र में बहुत नाम कमाया और एक सफल व्यक्ति बना।

विशाल की कहानी हमें सिखाती है कि जीवन में सही मार्गदर्शन और सलाह ‘लाख टके की बात’ होती है, जो हमें सही दिशा में ले जा सकती है और हमारे सपनों को साकार करने में हमारी मदद कर सकती है।

शायरी:

जिंदगी की राहों में, जब कदम लड़खड़ाएं,

लाख टके की बात तब, दिल को बहलाए।

हर एक सपना जो, आँखों में पलता है,

उस बात की कीमत पे, हर कोई जीता है।

दुनिया की इस भीड़ में, खुद को पहचानना,

लाख टके की बात है, खुद से यह कहना।

मुश्किलों के बादल जब, घिर के आएंगे,

वही बात याद रख, मंजिल को पाएंगे।

जो सीख गया यह बात, वो दुनिया में महका,

लाख टके की बात को, जिसने दिल से चहका।

सपनों की उड़ान में, जब तू खुद को पाए,

लाख टके की यह बात, सफलता को लाए।

हर दिल में छुपी यह बात, निखारे जिंदगी,

लाख टके की बात से, बने हर सपना सजीवी।

 

लाख टके की बात शायरी

आशा है कि आपको इस मुहावरे की समझ आ गई होगी और आप इसका सही प्रयोग कर पाएंगे।

Hindi to English Translation of लाख टके की बात – Lakh take ki baat Idiom:

Introduction: The Hindi language is renowned for its colorful idioms and proverbs, which succinctly and effectively express various aspects of life. “लाख टके की बात” (Laakh take ki baat) is one such idiom that signifies an important or valuable piece of advice or thought.

Meaning: The phrase “लाख टके की बात” translates to “a piece of advice or thought worth a hundred thousand” in English. It refers to advice or an idea that is extremely important, valuable, or useful. It denotes a piece of advice or thought that is highly valuable and can bring about a positive change in a person’s life.

Usage: This idiom is used when someone is given exceptionally good and valuable advice or suggestion. It is often used in contexts of appreciation or agreement.

Example:

-> When Aman sought advice from his friend about his new business plan, the suggestion he received was truly “लाख टके की बात.” That advice gave a new direction to Aman’s business.

Conclusion: The idiom “लाख टके की बात” teaches us the value of receiving the right advice at the right time in life. It motivates us to appreciate the ideas and suggestions that can guide us in a better direction.

Story of ‌‌Lakh take ki baat Idiom in English:

Once upon a time, in a small village, there lived a young man named Vishal. Vishal was hardworking and talented, but he was always uncertain about some decisions in life. He was looking for the right guidance to utilize his talent properly.

One day, Vishal decided to meet the oldest and wisest person in the village, Baba Surendra. Baba Surendra was renowned throughout the village for his knowledge and experience. Vishal presented his problem to Baba and asked for guidance.

Baba Surendra listened carefully to Vishal’s words and said, “Son, to choose the right direction in life, you must listen to your heart. Recognize your interests and talents, and then work hard in that direction. This is the ‘piece of advice worth a hundred thousand.'”

Vishal found Baba’s advice very valuable. He wholeheartedly embraced Baba’s suggestion and started working in his field of interest. Over time, Vishal earned a great name in his field and became a successful individual.

Vishal’s story teaches us that the right guidance and advice in life are worth a hundred thousand, which can lead us in the right direction and help us realize our dreams.

 

I hope this gives you a clear understanding of the proverb and how to use it correctly

हिंदी मुहावरों की पूरी लिस्ट एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

टिप्पणी करे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Budhimaan Team

Budhimaan Team

हर एक लेख बुधिमान की अनुभवी और समर्पित टीम द्वारा सोख समझकर और विस्तार से लिखा और समीक्षित किया जाता है। हमारी टीम में शिक्षा के क्षेत्र में विशेषज्ञ और अनुभवी शिक्षक शामिल हैं, जिन्होंने विद्यार्थियों को शिक्षा देने में वर्षों का समय बिताया है। हम सुनिश्चित करते हैं कि आपको हमेशा सटीक, विश्वसनीय और उपयोगी जानकारी मिले।

संबंधित पोस्ट

"खाइए मनभाता पहनिए जगभाता मुहावरे का चित्रण", "गाँव की शादी में समाज के अनुरूप वेशभूषा में युवक", "सादगीपसंद खाने और समाजिक वस्त्रों में संतुलन", "Budhimaan.com पर जीवन शैली और संस्कृति"
Hindi Muhavare

खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता अर्थ, प्रयोग (Khaiye manbhata, Pahniye jagbhata)

परिचय: “खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता” यह एक प्रचलित हिंदी मुहावरा है जो जीवन में एक संतुलित दृष्टिकोण अपनाने की सलाह देता है। यह मुहावरा हमें

Read More »
"करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत मुहावरे का चित्रण", "सकारात्मक कार्यों में ऊर्जा निवेश करते व्यक्ति की छवि", "Budhimaan.com पर सकारात्मक योगदान की प्रेरणा", "विवादों की बजाय कर्म पर ध्यान केंद्रित करता किसान"
Hindi Muhavare

करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत अर्थ, प्रयोग (Karni na kartoot, Ladne ko majboot)

परिचय: “करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत” एक हिंदी मुहावरा है जो उन व्यक्तियों के व्यवहार को उजागर करता है जो वास्तव में तो कुछ

Read More »
"ईंट की लेनी पत्थर की देनी कहानी चित्र", "मुहावरे का विवेचन आलेख छवि", "छोटी गलती बड़ा प्रतिशोध इलस्ट्रेशन", "Budhimaan.com पर जीवन की सीख ग्राफिक्स"
Hindi Muhavare

ईंट की लेनी पत्थर की देनी अर्थ, प्रयोग (Eent ki leni patthar ki deni)

परिचय: “ईंट की लेनी पत्थर की देनी” यह मुहावरा हिन्दी भाषा में बहुत प्रचलित है, जिसका प्रयोग अक्सर किसी के द्वारा की गई छोटी कार्रवाई

Read More »
"उत्तम खेती मध्यम बान इमेज", "स्वावलंबन का महत्व चित्र", "भारतीय मुहावरे विश्लेषण ग्राफिक", "Budhimaan.com पर आत्मनिर्भरता लेख इमेज"
Hindi Muhavare

उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान अर्थ, प्रयोग (Uttam kheti madhaym baan, Nikrasht chakri bheekh nidan)

परिचय: “उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान” एक प्राचीन हिंदी मुहावरा है जो विभिन्न पेशों की सामाजिक और आर्थिक स्थिति की तुलना करता

Read More »

आजमाएं अपना ज्ञान!​

बुद्धिमान की इंटरैक्टिव क्विज़ श्रृंखला, शैक्षिक विशेषज्ञों के सहयोग से बनाई गई, आपको भारत के इतिहास और संस्कृति के महत्वपूर्ण पहलुओं पर अपने ज्ञान को जांचने का अवसर देती है। पता लगाएं कि आप भारत की विविधता और समृद्धि को कितना समझते हैं।