Budhimaan

Home » Hindi Muhavare » खरबूजे को देखकर खरबूजा रंग बदलता है अर्थ, प्रयोग(Kharbuje ko dekh kar kharbuja rang badalta hai)

खरबूजे को देखकर खरबूजा रंग बदलता है अर्थ, प्रयोग(Kharbuje ko dekh kar kharbuja rang badalta hai)

परिचय: हिंदी साहित्य में मुहावरे एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। ये भाषा को अधिक प्रभावशाली और रोचक बनाते हैं। “खरबूजे को देखकर खरबूजा रंग बदलता है” मुहावरा भी इसी प्रकार का एक अनूठा उदाहरण है।

अर्थ: इस मुहावरे का सामान्य अर्थ है कि जब कोई व्यक्ति अपने आसपास के लोगों को कुछ करते हुए देखता है, तो वह भी उनकी तरह ही व्यवहार करने लगता है। यह मानवीय प्रवृत्ति का दर्शन करता है कि हम सामाजिक प्रभावों से आसानी से प्रभावित होते हैं।

प्रयोग: इस मुहावरे का उपयोग अक्सर तब किया जाता है जब किसी को यह दर्शाना होता है कि लोग अपने संगति के अनुसार अपना व्यवहार और आचरण बदल लेते हैं।

उदाहरण:

मान लीजिए, एक छात्र जो पहले पढ़ाई में कमजोर था, वह अच्छे छात्रों के साथ रहकर अपनी पढ़ाई में सुधार कर लेता है। इस स्थिति में कहा जा सकता है, “खरबूजे को देखकर खरबूजा रंग बदलता है।”

निष्कर्ष: यह मुहावरा हमें यह सिखाता है कि हमारा परिवेश और संगति हमारे व्यक्तित्व और आचरण पर गहरा प्रभाव डालती है। इसलिए, हमें चाहिए कि हम सकारात्मक और प्रेरणादायक लोगों के साथ समय बिताएं ताकि हम भी उनके गुणों को अपना सकें।

इस मुहावरे के माध्यम से हमें यह भी सीखने को मिलता है कि हमेशा अच्छाई की ओर प्रवृत्त होना चाहिए और अपने आसपास के सकारात्मक प्रभावों को अपनाना चाहिए।

Hindi Muhavare Quiz

खरबूजे को देखकर खरबूजा रंग बदलता है मुहावरा पर कहानी:

एक छोटे से गाँव में अभय नाम का एक लड़का रहता था। अभय पढ़ाई में बहुत कमजोर था और अक्सर अपने दोस्तों के साथ खेलने और मस्ती करने में ही समय बिताता था। उसके माता-पिता हमेशा उसे पढ़ाई के प्रति समर्पित होने की सलाह देते, लेकिन अभय का मन पढ़ाई में लगता ही नहीं था।

एक दिन, गाँव में एक नया परिवार आया और उनका बेटा राहुल अभय के स्कूल में ही पढ़ने आया। राहुल पढ़ाई में बहुत होशियार और मेहनती था। धीरे-धीरे अभय और राहुल दोस्त बन गए। अभय ने देखा कि राहुल हमेशा अपने पढ़ाई पर केंद्रित रहता है और उसकी मेहनत और लगन से वह प्रभावित हुआ।

राहुल की संगति में अभय ने भी पढ़ाई में रुचि लेना शुरू कर दिया। वह राहुल के साथ लाइब्रेरी जाने लगा, उसके साथ पढ़ाई करने लगा और उससे प्रेरणा लेकर अपनी पढ़ाई में मन लगाने लगा। कुछ ही महीनों में अभय की पढ़ाई में बहुत सुधार हुआ और वह भी अच्छे अंक प्राप्त करने लगा।

गाँववाले और उसके माता-पिता अभय के इस बदलाव से बहुत खुश हुए। अभय की कहानी सुनकर गाँव के लोग कहते, “वाकई, खरबूजे को देखकर खरबूजा रंग बदलता है।”

इस कहानी के माध्यम से हमें यह सीखने को मिलता है कि हमारी संगति हमारे व्यक्तित्व और आचरण को बहुत प्रभावित करती है। अच्छी संगति हमें सकारात्मक और बेहतर बनाती है।

शायरी:

खरबूजे की तरह दिल भी रंग बदलता है,
साथियों के संग जीवन का ढंग बदलता है।

जो चला गया था अपनी राहों में अकेला,
उसके कदमों का भी, संगति में रुख बदलता है।

सिखाया जिंदगी ने, संगति की ताकत को,
अच्छे लोगों के साथ, हर कोई निखरता है।

दरिया की लहरों सा, बहता है वक्त यहाँ,
संगी-साथी देख, दिल भी खिलखिलाता है।

है ये कुदरत का खेल, अनोखी इसकी चाल,
खरबूजे को देख, खरबूजा भी मुस्कुराता है।

इस जहाँ में रंगों का खेल बड़ा अजीब है,
संगति का रंग चढ़े, तो हर रंग बदलता है।

 

खरबूजे को देखकर खरबूजा रंग बदलता है शायरी

आशा है कि आपको इस मुहावरे की समझ आ गई होगी और आप इसका सही प्रयोग कर पाएंगे।

Hindi to English Translation of खरबूजे को देखकर खरबूजा रंग बदलता है – Kharbuje ko dekh kar kharbuja rang badalta hai Idiom:

Introduction: In Hindi literature, idioms play a significant role. They make the language more impactful and interesting. “Kharbuje ko dekh kar kharbuja rang badalta hai” is one such unique example of an idiom.

Meaning: The general meaning of this idiom is that when a person sees others around them doing something, they start behaving in a similar way. It reflects the human tendency to be easily influenced by social surroundings.

Usage: This idiom is often used when someone wants to illustrate that people change their behavior and conduct according to the company they keep.

Example:

For instance, consider a student who was weak in studies initially but improves his academic performance by spending time with good students. In this situation, it can be said, “The melon changes its color seeing another melon.”

Conclusion: This idiom teaches us that our environment and company profoundly influence our personality and behavior. Therefore, we should spend time with positive and inspiring people so that we can adopt their good qualities.

Through this idiom, we also learn that we should always be inclined towards goodness and embrace the positive influences around us.

Story of ‌‌Kharbuje ko dekh kar kharbuja rang badalta hai Idiom in English:

In a small village, there lived a boy named Abhay. Abhay was weak in studies and often spent his time playing and having fun with his friends. His parents always advised him to be dedicated to his studies, but Abhay was never interested in studying.

One day, a new family moved into the village, and their son Rahul joined Abhay’s school. Rahul was very smart and hardworking in his studies. Gradually, Abhay and Rahul became friends. Abhay noticed that Rahul always focused on his studies and was impressed by his diligence and dedication.

In Rahul’s company, Abhay started taking an interest in studies. He began going to the library with Rahul, studying with him, and got inspired to focus on his studies. Within a few months, there was a significant improvement in Abhay’s academics, and he started scoring good marks.

The villagers and his parents were very happy with Abhay’s transformation. Hearing Abhay’s story, the people in the village would say, “Indeed, the melon changes its color seeing another melon.”

This story teaches us that our company greatly influences our personality and behavior. Good company makes us positive and better.

 

I hope this gives you a clear understanding of the proverb and how to use it correctly

FAQs:

क्या इस मुहावरे का उपयोग व्यक्ति के बदलते स्वभाव को समझाने में किया जा सकता है?

हाँ, इसे उस व्यक्ति की व्यक्तिगतिका बदलते समय को समझाने के लिए उपयोग किया जा सकता है.

यह मुहावरा किस तरह के स्थिति को व्यक्त करता है?

यह मुहावरा किसी का आचरण या व्यवहार बदलने का क्रियाशील प्रक्रिया को दर्शाता है.

“खरबूजे को देखकर खरबूजा रंग बदलता है” मुहावरा का अर्थ क्या है?

इस मुहावरे का अर्थ है कि किसी के सामने रहकर उससे प्रभावित होने के कारण व्यक्ति का व्यवहार बदल जाता है.

इस मुहावरे का उपयोग किस प्रकार की चरित्रिक परिवर्तन को बताने में किया जा सकता है?

यह मुहावरा व्यक्ति के विचारों, भावनाओं, और आदतों में होने वाले परिवर्तन को चरित्रित करने के लिए उपयोगी है.

क्या इस मुहावरे को सार्वजनिक और व्यापक रूप से समझा जा सकता है?

हाँ, इसे विभिन्न स्तरों पर व्यक्ति के परिवर्तन को समझने के लिए सार्वजनिक और व्यापक रूप से समझा जा सकता है.

हिंदी मुहावरों की पूरी लिस्ट एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

टिप्पणी करे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Budhimaan Team

Budhimaan Team

हर एक लेख बुधिमान की अनुभवी और समर्पित टीम द्वारा सोख समझकर और विस्तार से लिखा और समीक्षित किया जाता है। हमारी टीम में शिक्षा के क्षेत्र में विशेषज्ञ और अनुभवी शिक्षक शामिल हैं, जिन्होंने विद्यार्थियों को शिक्षा देने में वर्षों का समय बिताया है। हम सुनिश्चित करते हैं कि आपको हमेशा सटीक, विश्वसनीय और उपयोगी जानकारी मिले।

संबंधित पोस्ट

"खाइए मनभाता पहनिए जगभाता मुहावरे का चित्रण", "गाँव की शादी में समाज के अनुरूप वेशभूषा में युवक", "सादगीपसंद खाने और समाजिक वस्त्रों में संतुलन", "Budhimaan.com पर जीवन शैली और संस्कृति"
Hindi Muhavare

खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता अर्थ, प्रयोग (Khaiye manbhata, Pahniye jagbhata)

परिचय: “खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता” यह एक प्रचलित हिंदी मुहावरा है जो जीवन में एक संतुलित दृष्टिकोण अपनाने की सलाह देता है। यह मुहावरा हमें

Read More »
"करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत मुहावरे का चित्रण", "सकारात्मक कार्यों में ऊर्जा निवेश करते व्यक्ति की छवि", "Budhimaan.com पर सकारात्मक योगदान की प्रेरणा", "विवादों की बजाय कर्म पर ध्यान केंद्रित करता किसान"
Hindi Muhavare

करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत अर्थ, प्रयोग (Karni na kartoot, Ladne ko majboot)

परिचय: “करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत” एक हिंदी मुहावरा है जो उन व्यक्तियों के व्यवहार को उजागर करता है जो वास्तव में तो कुछ

Read More »
"ईंट की लेनी पत्थर की देनी कहानी चित्र", "मुहावरे का विवेचन आलेख छवि", "छोटी गलती बड़ा प्रतिशोध इलस्ट्रेशन", "Budhimaan.com पर जीवन की सीख ग्राफिक्स"
Hindi Muhavare

ईंट की लेनी पत्थर की देनी अर्थ, प्रयोग (Eent ki leni patthar ki deni)

परिचय: “ईंट की लेनी पत्थर की देनी” यह मुहावरा हिन्दी भाषा में बहुत प्रचलित है, जिसका प्रयोग अक्सर किसी के द्वारा की गई छोटी कार्रवाई

Read More »
"उत्तम खेती मध्यम बान इमेज", "स्वावलंबन का महत्व चित्र", "भारतीय मुहावरे विश्लेषण ग्राफिक", "Budhimaan.com पर आत्मनिर्भरता लेख इमेज"
Hindi Muhavare

उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान अर्थ, प्रयोग (Uttam kheti madhaym baan, Nikrasht chakri bheekh nidan)

परिचय: “उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान” एक प्राचीन हिंदी मुहावरा है जो विभिन्न पेशों की सामाजिक और आर्थिक स्थिति की तुलना करता

Read More »

आजमाएं अपना ज्ञान!​

बुद्धिमान की इंटरैक्टिव क्विज़ श्रृंखला, शैक्षिक विशेषज्ञों के सहयोग से बनाई गई, आपको भारत के इतिहास और संस्कृति के महत्वपूर्ण पहलुओं पर अपने ज्ञान को जांचने का अवसर देती है। पता लगाएं कि आप भारत की विविधता और समृद्धि को कितना समझते हैं।