Budhimaan

Home » Hindi Muhavare » खाक में मिलना, अर्थ, प्रयोग(Khak Mein Milana)

खाक में मिलना, अर्थ, प्रयोग(Khak Mein Milana)

"खाक में मिलना मुहावरे का चित्रण - Budhimaan.com", "हिंदी मुहावरा खाक में मिलना का प्रतीकात्मक चित्र - Budhimaan.com", "जीवन में खाक में मिलना मुहावरे का प्रयोग - Budhimaan.com", "भाषा और साहित्य में खाक में मिलना का महत्व - Budhimaan.com"

अर्थ: “खाक में मिलना” एक प्रचलित हिंदी मुहावरा है, जिसका शाब्दिक अर्थ होता है – किसी चीज या व्यक्ति का पूरी तरह से नष्ट हो जाना या अस्तित्वहीन हो जाना। इसका प्रयोग अक्सर तब होता है जब कोई चीज या प्रयास पूरी तरह से विफल हो जाता है या किसी का पूरी तरह से पराजय होता है।

प्रयोग: इस मुहावरे का प्रयोग विभिन्न संदर्भों में किया जा सकता है। उदाहरण के लिए, एक युद्ध में पराजित सेना के संदर्भ में कहा जा सकता है, “उस युद्ध में विजयी सेना के सामने पराजित सेना पूरी तरह खाक में मिल गई।” इसी तरह, यह व्यापारिक असफलता या किसी व्यक्तिगत योजना के विफल होने पर भी प्रयोग किया जाता है।

महत्व: यह मुहावरा हमारे जीवन के उन पहलुओं को दर्शाता है जहां पूर्ण विफलता या हार का अनुभव होता है। इसका प्रयोग हमें यह बताता है कि कभी-कभी प्रयासों का परिणाम बिल्कुल भी नहीं मिलता या सिरे से नष्ट हो जाता है।

उदाहरण:

-> बाजार में नए उत्पाद की असफलता पर – “उनका नया उत्पाद बाजार में पूरी तरह खाक में मिल गया।”

-> किसी खिलाड़ी के करियर की समाप्ति पर – “चोट के कारण उस खिलाड़ी का खेल करियर खाक में मिल गया।”

निष्कर्ष: “खाक में मिलना” मुहावरा हमें सिखाता है कि जीवन में पराजय और विफलताएं अनिवार्य हैं, लेकिन ये हमें नई शुरुआत की ओर अग्रसर करती हैं। इसलिए, हार को स्वीकार करना और उससे सीख लेना हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है।

खाक में मिलना मुहावरा पर कहानी:

एक बार का जिक्र है, एक छोटे से गांव में दो सख्त मित्र रहा करते थे – अरुण और विजय। अरुण एक कुशल कारीगर था, जबकि विजय एक किसान था। एक दिन, उन्होंने तय किया कि वे गांव के बाहर एक बड़ा बाजार स्थापित करेंगे, जहां अरुण अपनी कलाकृतियाँ और विजय अपनी फसलें बेच सकें।

उन्होंने अपनी पूरी बचत और मेहनत इस परियोजना में लगा दी। लेकिन दुर्भाग्यवश, उनका यह प्रयास विफल रहा। बाजार में ग्राहक नहीं आए, और उनका निवेश डूब गया। इस विफलता से उनके सपने और आशाएं “खाक में मिल गईं”।

अरुण और विजय ने इससे बहुत कुछ सीखा। उन्होंने महसूस किया कि जीवन में नाकामियां अनिवार्य हैं और इनसे उबरना जरूरी है। उन्होंने फिर से अपने-अपने काम में मेहनत शुरू की। समय के साथ, उन्होंने अपनी विफलताओं से सीख ली और अपने काम में सुधार किया।

अंत में, अरुण और विजय दोनों ने अपने-अपने क्षेत्र में सफलता प्राप्त की। इस कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि “खाक में मिलने” के बाद भी, जीवन में आगे बढ़ना और सफलता की ओर कदम बढ़ाना महत्वपूर्ण है।

शायरी:

ख्वाबों की दुनिया में, जब कभी धूप छाँव होती है,

हर ख्वाब कभी-कभी तो “खाक में मिल” जाती है।

उम्मीदों के दरिया में, जब तूफान आता है,

हर कश्ती अपने सफर में कहीं खाक में मिल जाती है।

जिंदगी के बाजार में, हर एक आरज़ू का मोल होता है,

कभी जीत मिलती है, कभी हर आशा खाक में मिल जाती है।

इस फानी दुनिया में, जहां हर चीज आनी-जानी है,

वहां हर शोहरत, हर दौलत, एक दिन खाक में मिल जाती है।

फिर भी, ये दिल कहता है, चलते रहो, निराश न होना,

क्योंकि हर खाक में मिली हुई चीज, कहीं न कहीं फूल बन खिल जाती है।

 

खाक में मिलना शायरी

आशा है कि आपको इस मुहावरे की समझ आ गई होगी और आप इसका सही प्रयोग कर पाएंगे।


Hindi to English Translation of खाक में मिलना – Khak Mein Milana Idiom:

Meaning: “Khak Mein Milana” is a common Hindi idiom, which literally means the complete destruction or obliteration of something or someone. It is often used when something or an effort completely fails or when someone is utterly defeated.

Usage: This idiom can be used in various contexts. For example, in the context of a defeated army in a war, it can be said, “In that war, the defeated army was completely annihilated before the victorious army.” Similarly, it is also used to describe business failures or the failure of personal plans.

Importance: This idiom illustrates those aspects of our lives where we experience total failure or defeat. It tells us that sometimes the results of our efforts are completely nullified or destroyed.

Examples:

-> On the failure of a new product in the market – “Their new product was completely obliterated in the market.”

-> On the end of an athlete’s career – “Due to injury, the athlete’s sports career was totally ruined.”

Conclusion: The idiom “Khak Mein Milana” teaches us that defeats and failures are inevitable in life, but they lead us towards new beginnings. Therefore, accepting defeat and learning from it is an important part of our lives.

Story of ‌Khak Mein Milana Idiom in English:

Once upon a time, in a small village, there were two close friends – Arun and Vijay. Arun was a skilled artisan, while Vijay was a farmer. One day, they decided to establish a large market outside their village, where Arun could sell his crafts and Vijay his crops.

They invested all their savings and efforts into this project. Unfortunately, their effort failed. Customers did not come to the market, and their investment was lost. Their dreams and hopes were completely “ruined.”

Arun and Vijay learned a lot from this failure. They realized that failures are inevitable in life and that it is essential to overcome them. They started working hard again in their respective fields. Over time, they learned from their failures and improved their work.

Eventually, both Arun and Vijay achieved success in their fields. This story teaches us that even after being “ruined,” moving forward in life and stepping towards success is important.

 

I hope this gives you a clear understanding of the proverb and how to use it correctly

हिंदी मुहावरों की पूरी लिस्ट एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

टिप्पणी करे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Budhimaan Team

Budhimaan Team

हर एक लेख बुधिमान की अनुभवी और समर्पित टीम द्वारा सोख समझकर और विस्तार से लिखा और समीक्षित किया जाता है। हमारी टीम में शिक्षा के क्षेत्र में विशेषज्ञ और अनुभवी शिक्षक शामिल हैं, जिन्होंने विद्यार्थियों को शिक्षा देने में वर्षों का समय बिताया है। हम सुनिश्चित करते हैं कि आपको हमेशा सटीक, विश्वसनीय और उपयोगी जानकारी मिले।

संबंधित पोस्ट

"आप मियां मांगते दरवाजे खड़ा दरवेश कहावत पर आधारित चित्र", "आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ते कदम का प्रतीकात्मक चित्रण", "हिंदी कहावतों का संग्रह - बुद्धिमान.कॉम", "व्यक्तिगत विकास की प्रेरणादायी छवि"
Kahavaten

आप मियां मांगते दरवाजे खड़ा दरवेश, अर्थ, प्रयोग(Aap miyan mangte darwaje khada darvesh)

परिचय: “आप मियां मांगते दरवाजे खड़ा दरवेश” एक प्रसिद्ध हिंदी कहावत है जो व्यक्ति की आर्थिक और सामाजिक स्थिति पर प्रकाश डालती है। यह कहावत

Read More »
"आम खाने से काम मुहावरे का चित्रण", "व्यावहारिकता पर जोर देती कहावत का चित्र", "हिंदी मुहावरों का संकलन - बुद्धिमान.कॉम", "परिणामों पर फोकस करता बागवानी का चित्र"
Kahavaten

आम खाने से काम, पेड़ गिनने से क्या काम?, अर्थ, प्रयोग(Aam khane se kaam, Ped ginne se kya kaam?)

परिचय: “आम खाने से काम, पेड़ गिनने से क्या काम?” यह हिंदी की एक प्रसिद्ध कहावत है, जो व्यावहारिकता और परिणामों पर फोकस करने की

Read More »
"आठों पहर चौंसठ घड़ी कहावत विश्लेषण", "भारतीय किसान मेहनत का प्रतीक", "अनुज की प्रेरणादायक कहानी","सफलता की ओर अग्रसर युवक"
Kahavaten

आठों पहर चौंसठ घड़ी, अर्थ, प्रयोग(Aathon pahar chausath ghadi)

“आठों पहर चौंसठ घड़ी” एक प्रसिद्ध हिंदी कहावत है, जिसका अर्थ है “हर समय, निरंतर”. इस कहावत का उपयोग अक्सर उस स्थिति में किया जाता

Read More »

आजमाएं अपना ज्ञान!​

बुद्धिमान की इंटरैक्टिव क्विज़ श्रृंखला, शैक्षिक विशेषज्ञों के सहयोग से बनाई गई, आपको भारत के इतिहास और संस्कृति के महत्वपूर्ण पहलुओं पर अपने ज्ञान को जांचने का अवसर देती है। पता लगाएं कि आप भारत की विविधता और समृद्धि को कितना समझते हैं।