Budhimaan

Home » Hindi Muhavare » कीमतें आसमान छूना अर्थ, प्रयोग (Keemat aasmaan chhoona)

कीमतें आसमान छूना अर्थ, प्रयोग (Keemat aasmaan chhoona)

परिचय: “कीमतें आसमान छूना” यह हिंदी भाषा का एक प्रचलित मुहावरा है जो अक्सर आर्थिक संदर्भों में प्रयोग किया जाता है। इस मुहावरे का शाब्दिक अर्थ होता है, जब किसी वस्तु की कीमत अत्यधिक बढ़ जाती है या असामान्य रूप से उच्च स्तर पर पहुँच जाती है।

अर्थ: “कीमतें आसमान छूना” मुहावरे का अर्थ है किसी चीज की कीमत में बहुत तेजी से वृद्धि होना। यह अक्सर मुद्रास्फीति, मांग और आपूर्ति के असंतुलन, या अन्य आर्थिक कारकों के कारण होता है।

प्रयोग: इस मुहावरे का प्रयोग आमतौर पर तब किया जाता है जब बाजार में किसी वस्तु की कीमत अचानक से बढ़ जाती है और यह आम लोगों के लिए महंगी हो जाती है। यह मुहावरा व्यापार, अर्थशास्त्र, और दैनिक जीवन के संदर्भ में उपयोगी होता है।

उदाहरण:

-> पिछले कुछ महीनों में सब्जियों की कीमतें आसमान छू रही हैं, जिससे आम आदमी का बजट बिगड़ रहा है।

-> वैश्विक मंदी के कारण पेट्रोल और डीजल की कीमतें आसमान छू रही हैं, जिससे यातायात की लागत में भारी वृद्धि हुई है।

निष्कर्ष: “कीमतें आसमान छूना” मुहावरा आर्थिक परिवर्तनों और बाजार की अनिश्चितताओं को दर्शाता है। यह न केवल बाजार की स्थिति का संकेत देता है, बल्कि आम लोगों की चिंताओं और संघर्षों को भी व्यक्त करता है। यह मुहावरा हमें यह समझाता है कि आर्थिक स्थिरता किस प्रकार समाज के हर वर्ग पर प्रभाव डालती है और इसके प्रबंधन की आवश्यकता होती है।

इस प्रकार, “कीमतें आसमान छूना” मुहावरा हमें अर्थशास्त्र के जटिल और गतिशील स्वभाव की ओर इंगित करता है, और इसका उपयोग सामान्य भाषा में विभिन्न संदर्भों में किया जाता है। यह हमारे दैनिक जीवन और समाज के आर्थिक पहलुओं को समझने में मदद करता है।

कीमतें आसमान छूना मुहावरा पर कहानी:

एक छोटे से गाँव में अनुभव नाम का एक किसान रहता था। अनुभव बहुत मेहनती और ईमानदार था। उसकी जिंदगी साधारण थी, पर वह अपने परिवार के साथ खुश था।

एक साल, मानसून की बारिश बहुत कम हुई। अनुभव की फसलें सूखने लगीं, और वह चिंतित हो उठा। उसे अपने परिवार के लिए खाने और अन्य जरूरी सामान खरीदने थे, पर सब्जियों और अनाज की कीमतें आसमान छू रही थीं।

“कैसे खर्चा चलाऊं?” अनुभव सोचता रहा। बाजार में सब कुछ महंगा हो गया था। उसके पास बहुत कम पैसे थे, और वह जानता था कि इस मुश्किल समय में उसे कुछ करना होगा।

अनुभव ने फिर एक समाधान सोचा। उसने अपने पड़ोसियों के साथ मिलकर एक साझा खेती की योजना बनाई। उन्होंने मिलकर जो भी फसलें उगा सकते थे, उगाईं।

कुछ महीनों बाद, उनकी मेहनत रंग लाई और फसलें अच्छी हुईं। इससे उन्हें अपने खाने के लिए पर्याप्त अनाज मिल गया और थोड़ा बहुत बाजार में बेचकर वे कुछ पैसे भी कमा सके।

अनुभव ने सीखा कि संकट की घड़ी में भी समाधान मिल सकता है। उसे यह भी समझ आया कि “कीमतें आसमान छूना” का अर्थ केवल महंगाई नहीं, बल्कि उन चुनौतियों से भी है जिनसे हम रोजाना जूझते हैं। उसकी मेहनत और सामुदायिक भावना ने उसे और उसके पड़ोसियों को एक कठिन समय से निकलने में मदद की।

गाँव में सभी ने इस बात को समझा कि जब परिस्थितियाँ कठिन होती हैं, तो मिलजुल कर काम करने से बड़ी से बड़ी समस्या का हल निकल सकता है। अनुभव और उसके साथियों ने यह दिखाया कि सामूहिक प्रयास से “कीमतें आसमान छूने” जैसी स्थितियों का सामना किया जा सकता है और उन्हें परास्त किया जा सकता है।

इस तरह, अनुभव और उसके गाँव वालों ने न केवल अपनी समस्या का हल निकाला, बल्कि उन्होंने यह भी सिखाया कि कैसे एकजुट होकर किसी भी चुनौती का सामना किया जा सकता है। उनकी कहानी हमें यह सिखाती है कि सामूहिक सहयोग और समझदारी से किसी भी समस्या का समाधान संभव है।

शायरी:

बाजार की राहों में चलते-चलते, यह महसूस हुआ,

कीमतें आसमान छूती हैं, जब जेबें खाली हुआ।

हर चीज में लगती है आज बोली अनमोल,

गरीबी में भी खुशी ढूंढते, यही है जिंदगी का रोल।

जिंदगी के बाजार में, हर खुशी बिकती है,

महंगाई की इस दौड़ में, हर मुस्कान टिकती है।

अमीरी की चाह में, कभी-कभी गरीबी याद आती है,

कीमतें जब आसमान छूतीं, हर उम्मीद फिर बाद आती है।

इस दौर में ख्वाबों का क्या है, सब महंगाई में उलझे,

जो चाहते हैं आसमां छूना, उनके ख्वाब भी सिमटे।

 

कीमतें आसमान छूना शायरी

आशा है कि आपको इस मुहावरे की समझ आ गई होगी और आप इसका सही प्रयोग कर पाएंगे।

Hindi to English Translation of कीमतें आसमान छूना – Keemat aasmaan chhoona Idiom:

Introduction: “कीमतें आसमान छूना” (Prices Touching the Sky) is a popular Hindi idiom often used in economic contexts. The literal meaning of this idiom is when the price of an item increases excessively or reaches an abnormally high level.

Meaning: The idiom “कीमतें आसमान छूना” means a rapid increase in the price of something. This often occurs due to inflation, imbalances in demand and supply, or other economic factors.

Usage: This idiom is commonly used when the price of a product in the market suddenly increases and becomes expensive for the common people. It is useful in the context of business, economics, and everyday life.

Example:

-> In recent months, the prices of vegetables are touching the sky, which is upsetting the budget of the common man.

-> Due to the global recession, the prices of petrol and diesel are skyrocketing, leading to a significant increase in transportation costs.

Conclusion: The idiom “कीमतें आसमान छूना” reflects economic changes and uncertainties in the market. It not only indicates the state of the market but also expresses the concerns and struggles of ordinary people. This idiom helps us understand that economic stability affects every segment of society and needs to be managed.

Thus, the idiom “कीमतें आसमान छूना” points us towards the complex and dynamic nature of economics, and its usage is widespread in common language in various contexts. It aids in understanding the economic aspects of our daily life and society.

Story of ‌‌Keemat aasmaan chhoona Idiom in English:

In a small village lived a farmer named Anubhav. Anubhav was hardworking and honest. His life was simple, but he was happy with his family.

One year, the monsoon rains were scanty. Anubhav’s crops started to dry up, and he became worried. He needed to buy food and other essentials for his family, but the prices of vegetables and grains were skyrocketing.

“How will I manage the expenses?” Anubhav thought. Everything in the market had become expensive. He had very little money, and he knew that he had to do something during these tough times.

Anubhav then thought of a solution. He collaborated with his neighbors to create a joint farming plan. Together, they grew whatever crops they could.

A few months later, their hard work paid off, and the crops turned out well. This provided them with enough grain for their food and even some to sell in the market to earn a bit of money.

Anubhav learned that solutions could be found even in times of crisis. He also understood that the phrase “कीमतें आसमान छूना” (prices touching the sky) means not just inflation but also the challenges we face daily. His diligence and community spirit helped him and his neighbors through a difficult time.

Everyone in the village realized that when circumstances are tough, working together can solve even the biggest problems. Anubhav and his companions showed that collective effort could confront and overcome situations like “prices touching the sky.”

Thus, Anubhav and his fellow villagers not only solved their problem but also taught how to face any challenge unitedly. Their story teaches us that collective cooperation and wisdom can solve any problem.

 

I hope this gives you a clear understanding of the proverb and how to use it correctly

हिंदी मुहावरों की पूरी लिस्ट एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

टिप्पणी करे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Budhimaan Team

Budhimaan Team

हर एक लेख बुधिमान की अनुभवी और समर्पित टीम द्वारा सोख समझकर और विस्तार से लिखा और समीक्षित किया जाता है। हमारी टीम में शिक्षा के क्षेत्र में विशेषज्ञ और अनुभवी शिक्षक शामिल हैं, जिन्होंने विद्यार्थियों को शिक्षा देने में वर्षों का समय बिताया है। हम सुनिश्चित करते हैं कि आपको हमेशा सटीक, विश्वसनीय और उपयोगी जानकारी मिले।

संबंधित पोस्ट

"खाइए मनभाता पहनिए जगभाता मुहावरे का चित्रण", "गाँव की शादी में समाज के अनुरूप वेशभूषा में युवक", "सादगीपसंद खाने और समाजिक वस्त्रों में संतुलन", "Budhimaan.com पर जीवन शैली और संस्कृति"
Hindi Muhavare

खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता अर्थ, प्रयोग (Khaiye manbhata, Pahniye jagbhata)

परिचय: “खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता” यह एक प्रचलित हिंदी मुहावरा है जो जीवन में एक संतुलित दृष्टिकोण अपनाने की सलाह देता है। यह मुहावरा हमें

Read More »
"करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत मुहावरे का चित्रण", "सकारात्मक कार्यों में ऊर्जा निवेश करते व्यक्ति की छवि", "Budhimaan.com पर सकारात्मक योगदान की प्रेरणा", "विवादों की बजाय कर्म पर ध्यान केंद्रित करता किसान"
Hindi Muhavare

करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत अर्थ, प्रयोग (Karni na kartoot, Ladne ko majboot)

परिचय: “करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत” एक हिंदी मुहावरा है जो उन व्यक्तियों के व्यवहार को उजागर करता है जो वास्तव में तो कुछ

Read More »
"ईंट की लेनी पत्थर की देनी कहानी चित्र", "मुहावरे का विवेचन आलेख छवि", "छोटी गलती बड़ा प्रतिशोध इलस्ट्रेशन", "Budhimaan.com पर जीवन की सीख ग्राफिक्स"
Hindi Muhavare

ईंट की लेनी पत्थर की देनी अर्थ, प्रयोग (Eent ki leni patthar ki deni)

परिचय: “ईंट की लेनी पत्थर की देनी” यह मुहावरा हिन्दी भाषा में बहुत प्रचलित है, जिसका प्रयोग अक्सर किसी के द्वारा की गई छोटी कार्रवाई

Read More »
"उत्तम खेती मध्यम बान इमेज", "स्वावलंबन का महत्व चित्र", "भारतीय मुहावरे विश्लेषण ग्राफिक", "Budhimaan.com पर आत्मनिर्भरता लेख इमेज"
Hindi Muhavare

उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान अर्थ, प्रयोग (Uttam kheti madhaym baan, Nikrasht chakri bheekh nidan)

परिचय: “उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान” एक प्राचीन हिंदी मुहावरा है जो विभिन्न पेशों की सामाजिक और आर्थिक स्थिति की तुलना करता

Read More »

आजमाएं अपना ज्ञान!​

बुद्धिमान की इंटरैक्टिव क्विज़ श्रृंखला, शैक्षिक विशेषज्ञों के सहयोग से बनाई गई, आपको भारत के इतिहास और संस्कृति के महत्वपूर्ण पहलुओं पर अपने ज्ञान को जांचने का अवसर देती है। पता लगाएं कि आप भारत की विविधता और समृद्धि को कितना समझते हैं।