Budhimaan

Home » Hindi Muhavare » जब तक साँस, तब तक आस अर्थ, प्रयोग(Jab tak saans, Tab tak aas)

जब तक साँस, तब तक आस अर्थ, प्रयोग(Jab tak saans, Tab tak aas)

परिचय: हिंदी साहित्य में मुहावरों का विशेष स्थान होता है, और “जब तक साँस, तब तक आस” उन्हीं में से एक है। यह मुहावरा जीवन के प्रति आशावाद और संघर्ष के महत्व को दर्शाता है।

अर्थ: “जब तक साँस, तब तक आस” का शाब्दिक अर्थ है कि जब तक जीवन है, तब तक उम्मीद है। यह मुहावरा यह संदेश देता है कि जीवन में चाहे कितनी भी कठिनाइयाँ आएं, उम्मीद का दामन नहीं छोड़ना चाहिए।

प्रयोग: यह मुहावरा उन परिस्थितियों में प्रयोग किया जाता है, जब व्यक्ति को आशा और सकारात्मकता की जरूरत होती है। यह निराशा के क्षणों में आशा की किरण की तरह काम करता है।

उदाहरण:

-> प्रेमचंद्र की बीमारी लंबे समय से चल रही थी, लेकिन उसका मानना था कि “जब तक साँस, तब तक आस” और इसीलिए वह हर दिन सकारात्मक रहता था।

-> पूजा ने अपने व्यापार में कई बार असफलता का सामना किया, परंतु उसने कभी हार नहीं मानी और “जब तक साँस, तब तक आस” के सिद्धांत पर चलती रही।

निष्कर्ष: “जब तक साँस, तब तक आस” मुहावरा हमें यह सिखाता है कि जीवन में किसी भी परिस्थिति में हमें आशा नहीं छोड़नी चाहिए। यह मुहावरा हमें यह भी बताता है कि उम्मीद ही वह शक्ति है जो हमें कठिनाइयों का सामना करने का साहस प्रदान करती है। इसलिए, जीवन के हर मोड़ पर, उम्मीद को बनाए रखना चाहिए।

Hindi Muhavare Quiz

जब तक साँस, तब तक आस मुहावरा पर कहानी:

एक छोटे से गाँव में विनीत नाम का एक किसान रहता था। विनीत बहुत मेहनती और सकारात्मक सोच वाला व्यक्ति था। एक वर्ष, उसके क्षेत्र में भयंकर सूखा पड़ा, और उसकी सारी फसलें नष्ट हो गईं। वह बहुत परेशान हुआ, लेकिन उसने हार नहीं मानी।

विनीत के पास बहुत कम संसाधन बचे थे, और उसके समुदाय के लोगों ने उसे अन्य जगह जाकर काम करने की सलाह दी। लेकिन विनीत ने कहा, “जब तक साँस, तब तक आस। मैं अपनी ज़मीन और अपने गाँव को नहीं छोड़ूंगा।”

विनीत ने फिर से खेती शुरू की। उसने कुछ नए तरीके अपनाए और सूखे के लिए प्रतिरोधी फसलें उगाईं। उसकी मेहनत रंग लाई, और अगले साल, उसकी फसलें अच्छी हुईं। विनीत की सफलता देखकर, गाँववाले भी प्रेरित हुए और उन्होंने भी नए तरीकों को अपनाया।

विनीत की कहानी ने सभी को यह सिखाया कि जीवन में चाहे कितनी भी मुश्किलें आएं, उम्मीद नहीं छोड़नी चाहिए। उसका दृढ़ विश्वास और कठिन परिश्रम ने सभी को यह संदेश दिया कि “जब तक साँस, तब तक आस” – जीवन में जब तक हमारी साँसें चल रही हैं, तब तक हमें उम्मीद का दामन थामे रखना चाहिए।

शायरी:

जिंदगी की राहों में, जब भी आए अंधेरा,

हमने फिर भी कहा, “जब तक साँस, तब तक आस” का सवेरा।

टूटते ख्वाबों के बीच, ये दिल नहीं हारा,

उम्मीदों की बारिश में, भीगा हर सितारा।

दुनिया कहे बेकार, हर एक जुस्तजू मेरी,

मैंने हर पल कहा, जीना इसी का नाम है गहरी।

सूखे पत्तों की तरह, गिरा जब भी जमीन पर,

“जब तक साँस, तब तक आस” की गूँजी धुन हर बार।

धूप में जलते कदमों ने, नया सफर चुना,

उम्मीद की चादर में, हर रात खुद को बुना।

जब तक इस दिल में, धड़कनों की बात बाकी है,

“जब तक साँस, तब तक आस” का ये जज्बात साकी है।

जीवन के हर मोड़ पर, ये सबक सिखाया है,

जब तक जीवन है, तब तक हर सपना पाया है।

 

जब तक साँस, तब तक आस शायरी

आशा है कि आपको इस मुहावरे की समझ आ गई होगी और आप इसका सही प्रयोग कर पाएंगे।

Hindi to English Translation of जब तक साँस, तब तक आस – Jab tak saans, Tab tak aas Idiom:

Introduction: In Hindi literature, idioms hold a special place, and “जब तक साँस, तब तक आस” is one of them. This idiom reflects optimism towards life and the importance of struggle.

Meaning: The literal meaning of “जब तक साँस, तब तक आस” is that as long as there is life, there is hope. This idiom conveys the message that no matter how many difficulties come in life, one should never let go of hope.

Usage: This idiom is used in situations where a person needs hope and positivity. It works like a ray of hope in moments of despair.

Example:

-> Premchand had been ill for a long time, but he believed in “जब तक साँस, तब तक आस” and therefore remained positive every day.

-> Pooja faced failure in her business several times, but she never gave up and continued to follow the principle of “जब तक साँस, तब तक आस.”

Conclusion: The idiom “जब तक साँस, तब तक आस” teaches us that we should never lose hope in any situation in life. It also tells us that hope is the power that gives us the courage to face difficulties. Therefore, at every turn in life, we should maintain hope.

Story of ‌‌Jab tak saans, Tab tak aas Idiom in English:

In a small village, there lived a farmer named Vineet. Vineet was a hardworking and optimistic person. One year, a severe drought hit his region, destroying all his crops. He was deeply troubled, but he did not give up.

Vineet had very few resources left, and the people of his community advised him to move elsewhere and find work. But Vineet said, “As long as there is breath, there is hope. I will not leave my land and my village.”

Vineet started farming again. He adopted some new methods and grew crops resistant to drought. His hard work paid off, and the next year, his crops were successful. Inspired by Vineet’s success, the villagers also adopted new methods.

Vineet’s story taught everyone that no matter how many difficulties arise in life, one should not lose hope. His firm belief and hard work conveyed the message that “As long as there is breath, there is hope” – as long as we are alive, we should hold on to hope.

 

I hope this gives you a clear understanding of the proverb and how to use it correctly

FAQs:

क्या इस मुहावरे का कोई विशेष ऐतिहासिक संदर्भ है?

नहीं, यह मुहावरा एक आम भाषा का हिस्सा है और इसका कोई विशेष ऐतिहासिक संदर्भ नहीं है।

इस मुहावरे का उपयोग किस स्थिति में किया जा सकता है?

इसे व्यक्ति अपने लक्ष्यों या संघर्षों के बारे में बताते हुए कर सकता है, जिससे दिखाया जा सकता है कि उसमें आत्मसमर्पण है।

जब तक साँस, तब तक आस मुहावरे का क्या अर्थ है?

इस मुहावरे का अर्थ है कि जब तक किसी को साँस की आवश्यकता है, तब तक उसे जीवन की आशा होती है।

क्या इस मुहावरे का कोई समान्य उपयोग है?

हां, इसका समान्य उपयोग है जब कोई अपने लक्ष्यों के प्रति पूर्ण समर्पण दिखाता है और हार नहीं मानता।

क्या इस मुहावरे का उपयोग केवल शारीरिक स्वास्थ्य से ही सीमित है?

नहीं, इसका उपयोग शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य, साथ ही जीवन के विभिन्न पहलुओं में भी किया जा सकता है।

हिंदी मुहावरों की पूरी लिस्ट एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

टिप्पणी करे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Budhimaan Team

Budhimaan Team

हर एक लेख बुधिमान की अनुभवी और समर्पित टीम द्वारा सोख समझकर और विस्तार से लिखा और समीक्षित किया जाता है। हमारी टीम में शिक्षा के क्षेत्र में विशेषज्ञ और अनुभवी शिक्षक शामिल हैं, जिन्होंने विद्यार्थियों को शिक्षा देने में वर्षों का समय बिताया है। हम सुनिश्चित करते हैं कि आपको हमेशा सटीक, विश्वसनीय और उपयोगी जानकारी मिले।

संबंधित पोस्ट

"खाइए मनभाता पहनिए जगभाता मुहावरे का चित्रण", "गाँव की शादी में समाज के अनुरूप वेशभूषा में युवक", "सादगीपसंद खाने और समाजिक वस्त्रों में संतुलन", "Budhimaan.com पर जीवन शैली और संस्कृति"
Hindi Muhavare

खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता अर्थ, प्रयोग (Khaiye manbhata, Pahniye jagbhata)

परिचय: “खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता” यह एक प्रचलित हिंदी मुहावरा है जो जीवन में एक संतुलित दृष्टिकोण अपनाने की सलाह देता है। यह मुहावरा हमें

Read More »
"करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत मुहावरे का चित्रण", "सकारात्मक कार्यों में ऊर्जा निवेश करते व्यक्ति की छवि", "Budhimaan.com पर सकारात्मक योगदान की प्रेरणा", "विवादों की बजाय कर्म पर ध्यान केंद्रित करता किसान"
Hindi Muhavare

करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत अर्थ, प्रयोग (Karni na kartoot, Ladne ko majboot)

परिचय: “करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत” एक हिंदी मुहावरा है जो उन व्यक्तियों के व्यवहार को उजागर करता है जो वास्तव में तो कुछ

Read More »
"ईंट की लेनी पत्थर की देनी कहानी चित्र", "मुहावरे का विवेचन आलेख छवि", "छोटी गलती बड़ा प्रतिशोध इलस्ट्रेशन", "Budhimaan.com पर जीवन की सीख ग्राफिक्स"
Hindi Muhavare

ईंट की लेनी पत्थर की देनी अर्थ, प्रयोग (Eent ki leni patthar ki deni)

परिचय: “ईंट की लेनी पत्थर की देनी” यह मुहावरा हिन्दी भाषा में बहुत प्रचलित है, जिसका प्रयोग अक्सर किसी के द्वारा की गई छोटी कार्रवाई

Read More »
"उत्तम खेती मध्यम बान इमेज", "स्वावलंबन का महत्व चित्र", "भारतीय मुहावरे विश्लेषण ग्राफिक", "Budhimaan.com पर आत्मनिर्भरता लेख इमेज"
Hindi Muhavare

उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान अर्थ, प्रयोग (Uttam kheti madhaym baan, Nikrasht chakri bheekh nidan)

परिचय: “उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान” एक प्राचीन हिंदी मुहावरा है जो विभिन्न पेशों की सामाजिक और आर्थिक स्थिति की तुलना करता

Read More »

आजमाएं अपना ज्ञान!​

बुद्धिमान की इंटरैक्टिव क्विज़ श्रृंखला, शैक्षिक विशेषज्ञों के सहयोग से बनाई गई, आपको भारत के इतिहास और संस्कृति के महत्वपूर्ण पहलुओं पर अपने ज्ञान को जांचने का अवसर देती है। पता लगाएं कि आप भारत की विविधता और समृद्धि को कितना समझते हैं।