Budhimaan

Home » Hindi Muhavare » घर घाट एक करना अर्थ, प्रयोग(Ghar ghat ek karna)

घर घाट एक करना अर्थ, प्रयोग(Ghar ghat ek karna)

परिचय: “घर घाट एक करना” एक प्रचलित हिंदी मुहावरा है, जिसका प्रयोग अक्सर बोलचाल की भाषा में होता है। यह मुहावरा जीवन की उन परिस्थितियों का वर्णन करता है जहां व्यक्ति अपने निजी और व्यावसायिक जीवन को एक साथ संतुलित करता है।

अर्थ: “घर घाट एक करना” का अर्थ है निजी और व्यावसायिक जीवन को इस तरह से व्यवस्थित करना कि दोनों में संतुलन बना रहे और एक-दूसरे के ऊपर प्रभाव न पड़े। यह सामंजस्य और संतुलन की कला को दर्शाता है।

प्रयोग: इस मुहावरे का प्रयोग तब किया जाता है जब किसी व्यक्ति की दोहरी जिम्मेदारियों के बीच सफलतापूर्वक संतुलन बनाने की क्षमता को व्यक्त करना हो।

उदाहरण:

-> अपर्णा ने अपने करियर और परिवार के बीच संतुलन बनाकर घर घाट एक कर लिया है।

-> अभय अपने व्यापार और परिवारिक जिम्मेदारियों को संभालते हुए घर घाट एक करने में सफल रहे हैं।

निष्कर्ष: “घर घाट एक करना” मुहावरा हमें यह सिखाता है कि जीवन में संतुलन कितना महत्वपूर्ण है। यह मुहावरा हमें दिखाता है कि व्यक्ति किस प्रकार से अपने निजी और पेशेवर जीवन में समान रूप से सक्रिय रहकर दोनों क्षेत्रों में सफलता प्राप्त कर सकता है। यह न केवल एक व्यक्ति के लिए बल्कि समाज के लिए भी एक महत्वपूर्ण सीख है।

Hindi Muhavare Quiz

घर घाट एक करना मुहावरा पर कहानी:

एक छोटे शहर में किरन नाम की एक महिला रहती थी, जो एक स्कूल टीचर थीं और साथ ही एक परिवार की देखभाल भी करती थीं। किरन के पति एक व्यापारी थे और अक्सर व्यापार के सिलसिले में बाहर रहते थे। इस वजह से घर और स्कूल दोनों की जिम्मेदारियां किरन के कंधों पर थीं।

किरन ने अपने समय का प्रबंधन बहुत सोच समझकर किया। सुबह उठकर, वह पहले अपने बच्चों को स्कूल के लिए तैयार करती, फिर खुद स्कूल जाती। शाम को वापस आकर, वह घर के कामों में जुट जाती और बच्चों की पढ़ाई में मदद करती।

वीकेंड पर, किरन अपने पति के व्यापार के कामों में भी हाथ बटाती। उनके इस तरह के प्रबंधन से न केवल उनका परिवार खुश रहता, बल्कि उनका प्रोफेशनल करियर भी चमक रहा था।

किरन की इस क्षमता को देखकर सभी प्रभावित होते थे। उन्होंने साबित किया कि “घर घाट एक करना” का मतलब है अपने निजी और पेशेवर जीवन में संतुलन बनाकर दोनों क्षेत्रों में सफलता प्राप्त करना।

इस कहानी से हमें सीखने को मिलता है कि समय का सही प्रबंधन और संतुलन ही जीवन की सफलता का मंत्र है। किरन ने अपनी मेहनत और समर्पण से यह साबित किया।

शायरी:

घर और दुनिया के बीच का फासला मिटाया है मैंने,

जिंदगी की इस दौड़ में घर घाट एक कर दिखाया है मैंने।

सपने जो पाले थे बचपन से अपने,

उन्हें हकीकत में बदलने का कारवाँ बनाया है मैंने।

घर की दीवारों में भी सपने सजाए,

दफ्तर की फाइलों में भी उम्मीदों को बसाया है मैंने।

रिश्तों की डोर को मजबूती से थामे रखा,

करियर की राह में भी खुद को संवारा है मैंने।

जिंदगी के हर पहलू को संभाला है बखूबी,

घर और काम को एक साथ जोड़ने का हुनर आजमाया है मैंने।

 

घर घाट एक करना शायरी

आशा है कि आपको इस मुहावरे की समझ आ गई होगी और आप इसका सही प्रयोग कर पाएंगे।

Hindi to English Translation of घर घाट एक करना – Ghar ghat ek karna Idiom:

Introduction: “घर घाट एक करना” (Ghar ghat ek karna) is a prevalent Hindi idiom often used in everyday conversation. This idiom describes situations in life where a person balances their personal and professional life together.

Meaning: The meaning of “घर घाट एक करना” is to organize personal and professional life in such a way that there is a balance between the two without one affecting the other. It represents the art of harmony and balance.

Usage: This idiom is used to express the ability of a person to successfully maintain a balance between dual responsibilities.

Usage:

-> Aparna has managed to combine home and work seamlessly by balancing her career and family.

-> Abhay has been successful in combining home and work while handling his business and family responsibilities.

Conclusion: The idiom “घर घाट एक करना” teaches us the importance of balance in life. It shows how a person can achieve success in both personal and professional spheres by being equally active in each. This is not only an important lesson for an individual but also for society as a whole.

Story of ‌‌Ghar ghat ek karna Idiom in English:

In a small town, there lived a woman named Kiran, who was a school teacher and also took care of her family. Kiran’s husband was a businessman and often stayed out of town for business purposes. Therefore, the responsibilities of both home and school rested on Kiran’s shoulders.

Kiran managed her time very thoughtfully. Every morning, she would first prepare her children for school and then go to school herself. In the evening, after returning, she would engage in household chores and help her children with their studies.

On weekends, Kiran also assisted in her husband’s business affairs. Her management not only kept her family happy, but her professional career was also flourishing.

Everyone was impressed by Kiran’s ability. She proved that “combining home and work seamlessly” means achieving success in both personal and professional life by maintaining a balance. This story teaches us that proper management of time and balance is the key to success in life. Kiran demonstrated this with her hard work and dedication.

 

I hope this gives you a clear understanding of the proverb and how to use it correctly

FAQs:

क्या घर घाट एक करना का उपयोग केवल परिवारिक मामलों में होता है?

नहीं, इसका उपयोग समृद्धि, व्यापार, और सामाजिक मामलों में भी हो सकता है।

इस मुहावरे का उपयोग किस स्थिति में हो सकता है?

यह मुहावरा उस समय का संकेत कर सकता है जब किसी समस्या या विवाद का समाधान किया जा रहा है।

घर घाट एक करना मुहावरा का अर्थ क्या होता है?

घर घाट एक करना का अर्थ होता है समाप्ति या समस्या को सुलझाने का प्रयास करना।

क्या इस मुहावरे का उपयोग केवल व्यक्तिगत स्तर पर होता है?

नहीं, यह सामाजिक स्तर पर भी उपयोग किया जा सकता है, जैसे राजनीतिक या सार्वजनिक मुद्दे।

क्या इस मुहावरे का कोई विपरीत अर्थ होता है?

नहीं, घर घाट एक करना मुहावरा सामान्यत: समस्याएं सुलझाने के लिए होता है।

हिंदी मुहावरों की पूरी लिस्ट एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

टिप्पणी करे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Budhimaan Team

Budhimaan Team

हर एक लेख बुधिमान की अनुभवी और समर्पित टीम द्वारा सोख समझकर और विस्तार से लिखा और समीक्षित किया जाता है। हमारी टीम में शिक्षा के क्षेत्र में विशेषज्ञ और अनुभवी शिक्षक शामिल हैं, जिन्होंने विद्यार्थियों को शिक्षा देने में वर्षों का समय बिताया है। हम सुनिश्चित करते हैं कि आपको हमेशा सटीक, विश्वसनीय और उपयोगी जानकारी मिले।

संबंधित पोस्ट

"खाइए मनभाता पहनिए जगभाता मुहावरे का चित्रण", "गाँव की शादी में समाज के अनुरूप वेशभूषा में युवक", "सादगीपसंद खाने और समाजिक वस्त्रों में संतुलन", "Budhimaan.com पर जीवन शैली और संस्कृति"
Hindi Muhavare

खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता अर्थ, प्रयोग (Khaiye manbhata, Pahniye jagbhata)

परिचय: “खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता” यह एक प्रचलित हिंदी मुहावरा है जो जीवन में एक संतुलित दृष्टिकोण अपनाने की सलाह देता है। यह मुहावरा हमें

Read More »
"करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत मुहावरे का चित्रण", "सकारात्मक कार्यों में ऊर्जा निवेश करते व्यक्ति की छवि", "Budhimaan.com पर सकारात्मक योगदान की प्रेरणा", "विवादों की बजाय कर्म पर ध्यान केंद्रित करता किसान"
Hindi Muhavare

करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत अर्थ, प्रयोग (Karni na kartoot, Ladne ko majboot)

परिचय: “करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत” एक हिंदी मुहावरा है जो उन व्यक्तियों के व्यवहार को उजागर करता है जो वास्तव में तो कुछ

Read More »
"ईंट की लेनी पत्थर की देनी कहानी चित्र", "मुहावरे का विवेचन आलेख छवि", "छोटी गलती बड़ा प्रतिशोध इलस्ट्रेशन", "Budhimaan.com पर जीवन की सीख ग्राफिक्स"
Hindi Muhavare

ईंट की लेनी पत्थर की देनी अर्थ, प्रयोग (Eent ki leni patthar ki deni)

परिचय: “ईंट की लेनी पत्थर की देनी” यह मुहावरा हिन्दी भाषा में बहुत प्रचलित है, जिसका प्रयोग अक्सर किसी के द्वारा की गई छोटी कार्रवाई

Read More »
"उत्तम खेती मध्यम बान इमेज", "स्वावलंबन का महत्व चित्र", "भारतीय मुहावरे विश्लेषण ग्राफिक", "Budhimaan.com पर आत्मनिर्भरता लेख इमेज"
Hindi Muhavare

उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान अर्थ, प्रयोग (Uttam kheti madhaym baan, Nikrasht chakri bheekh nidan)

परिचय: “उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान” एक प्राचीन हिंदी मुहावरा है जो विभिन्न पेशों की सामाजिक और आर्थिक स्थिति की तुलना करता

Read More »

आजमाएं अपना ज्ञान!​

बुद्धिमान की इंटरैक्टिव क्विज़ श्रृंखला, शैक्षिक विशेषज्ञों के सहयोग से बनाई गई, आपको भारत के इतिहास और संस्कृति के महत्वपूर्ण पहलुओं पर अपने ज्ञान को जांचने का अवसर देती है। पता लगाएं कि आप भारत की विविधता और समृद्धि को कितना समझते हैं।