Budhimaan

Home » Hindi Muhavare » गधे के सिर से सींग गायब हो जाना अर्थ, प्रयोग(Gadhe ke sir se seeng gayab ho jana)

गधे के सिर से सींग गायब हो जाना अर्थ, प्रयोग(Gadhe ke sir se seeng gayab ho jana)

परिचय: ‘गधे के सिर से सींग गायब हो जाना’ एक लोकप्रिय हिंदी मुहावरा है, जिसका उपयोग अक्सर उस स्थिति में किया जाता है जब कोई व्यक्ति काम या मदद के लिए वादा करने के बावजूद समय पर उपस्थित नहीं होता।

अर्थ: इस मुहावरे का अर्थ है कि जब किसी व्यक्ति की जरूरत हो और वह वहां मौजूद न हो, या जब किसी ने मदद का वादा किया हो और वह उसे पूरा न करे। यह मुहावरा अस्तित्व में न होने की स्थिति को व्यक्त करता है।

प्रयोग: इस मुहावरे का प्रयोग अक्सर उस समय किया जाता है जब किसी को किसी की सहायता की अपेक्षा होती है, लेकिन वह व्यक्ति उपस्थित नहीं होता।

उदाहरण:

-> अमन ने अपने दोस्त से कहा था कि वह परीक्षा की तैयारी में मदद करेगा, लेकिन जब समय आया तो उसके ‘गधे के सिर से सींग गायब हो गए’।

-> पूजा ने कहा था कि वह उत्सव की तैयारियों में मदद करेगी, पर जब वक्त आया तो ‘गधे के सिर से सींग गायब हो गए’।

निष्कर्ष: ‘गधे के सिर से सींग गायब हो जाना’ मुहावरा हमें यह सिखाता है कि वादे करना और उन्हें पूरा न करना अक्सर दूसरों के लिए निराशा का कारण बन सकता है। इससे हमें यह भी सीखने को मिलता है कि हमें अपने वादों के प्रति जिम्मेदार रहना चाहिए।

Hindi Muhavare Quiz

गधे के सिर से सींग गायब हो जाना मुहावरा पर कहानी:

एक छोटे से गांव में अमन नाम का एक लड़का रहता था। अमन हमेशा अपने दोस्तों से वादे किया करता था, लेकिन जब भी समय आता, वह अपने वादों को पूरा नहीं करता था।

एक दिन, उसके दोस्त प्रथम ने उससे मदद मांगी क्योंकि उसे अपनी परीक्षा की तैयारी करनी थी। अमन ने प्रथम से वादा किया कि वह उसकी मदद करेगा। प्रथम ने अमन पर भरोसा करके अपनी पूरी तैयारी उसके साथ करने की योजना बनाई।

लेकिन, जब परीक्षा का समय नजदीक आया, अमन कहीं नजर नहीं आया। प्रथम ने उसे बार-बार फोन किया, लेकिन अमन ने उसके फोन का जवाब नहीं दिया। प्रथम ने समझा कि ‘गधे के सिर से सींग गायब हो गए’। अमन का वादा और उसकी मदद, दोनों ही गायब थे।

इस घटना से प्रथम को बहुत निराशा हुई और उसने अपनी परीक्षा की तैयारी अकेले ही की। उसने तय किया कि वह फिर कभी अमन के वादों पर भरोसा नहीं करेगा।

निष्कर्ष:

इस कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि ‘गधे के सिर से सींग गायब हो जाना’ का अर्थ है कि वादा करने के बाद भी समय पर न पहुंचना या मदद न करना। यह हमें सिखाता है कि वादों को पूरा करना और समय पर मदद करना कितना महत्वपूर्ण है।

शायरी:

वादा किया था साथ निभाने का, पर जब वक्त आया,

‘गधे के सिर से सींग’ जैसे, सभी वादे गायब हो गए।

जब जरूरत पड़ी मुझे तेरी, तू कहीं नजर न आया,

खोजा तुझे हर गली, हर चौराहे, पर तू गया छुपाया।

जैसे सूरज ढलता है धीरे धीरे, वैसे तेरी यादें भी,

वक्त के साथ सब धुंधला गया, ‘गधे के सिर से सींग’ की तरह।

तेरे वादे थे जैसे बादलों की छाया,

जब जरूरत पड़ी, वो सब ‘गधे के सिर से सींग’ सा गायब हो गया।

अब तेरे वादों का कोई मोल नहीं,

‘गधे के सिर से सींग’ की तरह, सब खो गया यहीं।

 

गधे के सिर से सींग गायब हो जाना शायरी

आशा है कि आपको इस मुहावरे की समझ आ गई होगी और आप इसका सही प्रयोग कर पाएंगे।

Hindi to English Translation of गधे के सिर से सींग गायब हो जाना – Gadhe ke sir se seeng gayab ho jana Idiom:

Introduction: ‘Gadhe ke sir se seeng gayab ho jana’ is a popular Hindi idiom often used in situations where someone fails to be present or assist as promised for a task or help.

Meaning: This idiom signifies the absence of a person when needed, or when someone fails to fulfill a promise of help. It expresses a situation of non-existence or absence.

Usage: This phrase is commonly used when someone expects assistance from another person, but that person fails to show up.

Usage:

-> Aman had told his friend that he would help with exam preparation, but when the time came, his ‘horns disappeared like those of a donkey’s head’.

-> Pooja had said she would help with the festival preparations, but when the time came, her ‘horns disappeared like those of a donkey’s head’.

Conclusion: The idiom ‘Gadhe ke sir se seeng gayab ho jana’ teaches us that making promises and not fulfilling them can often lead to disappointment for others. It also imparts the lesson that we should be responsible for our promises.

Story of ‌‌Gadhe ke sir se seeng gayab ho jana Idiom in English:

In a small village, there lived a boy named Aman. Aman always made promises to his friends, but whenever the time came, he failed to fulfill them.

One day, his friend Pratham asked for his help with exam preparation. Aman promised Pratham that he would assist him. Trusting Aman, Pratham planned to prepare for the exam with his help.

However, as the exam date approached, Aman was nowhere to be found. Pratham repeatedly called him, but Aman did not respond to his calls. Pratham realized that it was like ‘the horns disappearing from a donkey’s head’ – Aman’s promise and his help were both missing.

This incident left Pratham very disappointed, and he had to prepare for his exam alone. He decided that he would never trust Aman’s promises again.

Conclusion:

This story teaches us that ‘the horns disappearing from a donkey’s head’ means failing to show up or help after making a promise. It underscores the importance of fulfilling promises and providing help when needed.

 

I hope this gives you a clear understanding of the proverb and how to use it correctly

FAQs:

क्या इस मुहावरे का कोई विशेष इतिहास है?

नहीं, इस मुहावरे का कोई विशेष इतिहास नहीं है। यह सामान्य भाषा में उपयोग होने वाला एक प्रसारण है।

इस मुहावरे का उपयोग किस परिस्थिति में किया जा सकता है?

जब किसी व्यक्ति ने कोई कार्य कुशलता से नहीं किया और पूरी तरह से असफल हो गया हो, तो इस मुहावरे का उपयोग किया जा सकता है।

क्या मुहावरा ‘गधे के सिर से सींग गायब हो जाना’ का अर्थ है?

इस मुहावरे का अर्थ होता है किसी का बहुत बड़ा गलती करना या किसी कार्य में पूरी तरह से असफल हो जाना।

क्या यह मुहावरा और कहावतों में अंतर है?

हां, इस मुहावरे और कहावतों में अंतर है। मुहावरा व्यक्ति के अद्भुत अनुभव को व्यक्त करता है, जबकि कहावत एक सामान्य सत्य को व्यक्त करती है।

क्या इस मुहावरे का विपरीत अर्थ हो सकता है?

जी हां, इसका विपरीत अर्थ हो सकता है किसी कार्य में पूरी तरह से सफलता हासिल करना।

हिंदी मुहावरों की पूरी लिस्ट एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

टिप्पणी करे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Budhimaan Team

Budhimaan Team

हर एक लेख बुधिमान की अनुभवी और समर्पित टीम द्वारा सोख समझकर और विस्तार से लिखा और समीक्षित किया जाता है। हमारी टीम में शिक्षा के क्षेत्र में विशेषज्ञ और अनुभवी शिक्षक शामिल हैं, जिन्होंने विद्यार्थियों को शिक्षा देने में वर्षों का समय बिताया है। हम सुनिश्चित करते हैं कि आपको हमेशा सटीक, विश्वसनीय और उपयोगी जानकारी मिले।

संबंधित पोस्ट

"खाइए मनभाता पहनिए जगभाता मुहावरे का चित्रण", "गाँव की शादी में समाज के अनुरूप वेशभूषा में युवक", "सादगीपसंद खाने और समाजिक वस्त्रों में संतुलन", "Budhimaan.com पर जीवन शैली और संस्कृति"
Hindi Muhavare

खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता अर्थ, प्रयोग (Khaiye manbhata, Pahniye jagbhata)

परिचय: “खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता” यह एक प्रचलित हिंदी मुहावरा है जो जीवन में एक संतुलित दृष्टिकोण अपनाने की सलाह देता है। यह मुहावरा हमें

Read More »
"करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत मुहावरे का चित्रण", "सकारात्मक कार्यों में ऊर्जा निवेश करते व्यक्ति की छवि", "Budhimaan.com पर सकारात्मक योगदान की प्रेरणा", "विवादों की बजाय कर्म पर ध्यान केंद्रित करता किसान"
Hindi Muhavare

करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत अर्थ, प्रयोग (Karni na kartoot, Ladne ko majboot)

परिचय: “करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत” एक हिंदी मुहावरा है जो उन व्यक्तियों के व्यवहार को उजागर करता है जो वास्तव में तो कुछ

Read More »
"ईंट की लेनी पत्थर की देनी कहानी चित्र", "मुहावरे का विवेचन आलेख छवि", "छोटी गलती बड़ा प्रतिशोध इलस्ट्रेशन", "Budhimaan.com पर जीवन की सीख ग्राफिक्स"
Hindi Muhavare

ईंट की लेनी पत्थर की देनी अर्थ, प्रयोग (Eent ki leni patthar ki deni)

परिचय: “ईंट की लेनी पत्थर की देनी” यह मुहावरा हिन्दी भाषा में बहुत प्रचलित है, जिसका प्रयोग अक्सर किसी के द्वारा की गई छोटी कार्रवाई

Read More »
"उत्तम खेती मध्यम बान इमेज", "स्वावलंबन का महत्व चित्र", "भारतीय मुहावरे विश्लेषण ग्राफिक", "Budhimaan.com पर आत्मनिर्भरता लेख इमेज"
Hindi Muhavare

उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान अर्थ, प्रयोग (Uttam kheti madhaym baan, Nikrasht chakri bheekh nidan)

परिचय: “उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान” एक प्राचीन हिंदी मुहावरा है जो विभिन्न पेशों की सामाजिक और आर्थिक स्थिति की तुलना करता

Read More »

आजमाएं अपना ज्ञान!​

बुद्धिमान की इंटरैक्टिव क्विज़ श्रृंखला, शैक्षिक विशेषज्ञों के सहयोग से बनाई गई, आपको भारत के इतिहास और संस्कृति के महत्वपूर्ण पहलुओं पर अपने ज्ञान को जांचने का अवसर देती है। पता लगाएं कि आप भारत की विविधता और समृद्धि को कितना समझते हैं।