Budhimaan

Home » Hindi Muhavare » दूध की लाज रखना अर्थ, प्रयोग (Doodh ki laaj rakhna)

दूध की लाज रखना अर्थ, प्रयोग (Doodh ki laaj rakhna)

परिचय: “दूध की लाज रखना” भारतीय संस्कृति में एक प्रसिद्ध मुहावरा है, जिसका संबंध कृतज्ञता और आभार की भावना से है। यह मुहावरा आमतौर पर तब प्रयोग किया जाता है जब किसी व्यक्ति को उसके द्वारा प्राप्त किए गए उपकार या सहायता का सम्मान करना होता है।

अर्थ: “दूध की लाज रखना” का अर्थ है उन लोगों के प्रति कृतज्ञता दिखाना जिन्होंने किसी व्यक्ति की मदद की हो। यह मुहावरा इस बात को दर्शाता है कि व्यक्ति को चाहिए कि वह अपने उपकारियों का आदर और सम्मान करे।

प्रयोग: यह मुहावरा तब प्रयोग में आता है जब किसी को उसके प्रति किए गए उपकार के लिए आभार व्यक्त करना होता है या जब किसी को अपने हितैषियों का सम्मान करना होता है।

उदाहरण:

मान लीजिए, एक युवक जिसे उसके शिक्षक ने पढ़ाई में बहुत मदद की हो, और वह बाद में एक सफल व्यक्ति बन जाता है। इस स्थिति में वह युवक अपने शिक्षक के प्रति “दूध की लाज रखता है” अर्थात् उनका आभार व्यक्त करता है।

निष्कर्ष: “दूध की लाज रखना” मुहावरा हमें यह सिखाता है कि जिन लोगों ने हमारी मदद की है, उनका सम्मान और आभार व्यक्त करना आवश्यक है। यह मुहावरा हमें नैतिकता और कृतज्ञता की भावना का महत्व समझाता है। यह याद दिलाता है कि हमें उन लोगों के प्रति कभी भी अहंकारी या अकृतज्ञ नहीं होना चाहिए जिन्होंने हमारे जीवन में योगदान दिया है।

इस प्रकार, “दूध की लाज रखना” का मुहावरा हमें यह सिखाता है कि जीवन में जब भी हमें सहायता और समर्थन प्राप्त होता है, हमें उसके प्रति आभारी रहना चाहिए और उनका सम्मान करना चाहिए। यह हमारे चरित्र की मजबूती और हमारे सामाजिक संबंधों की गहराई को दर्शाता है।

दूध की लाज रखना मुहावरा पर कहानी:

एक छोटे से गाँव में अमन नाम का एक गरीब लड़का रहता था। अमन की बचपन से ही पढ़ाई में गहरी रुचि थी, लेकिन उसके परिवार की आर्थिक स्थिति उसे आगे पढ़ने की अनुमति नहीं दे रही थी।

गाँव के स्कूल के एक शिक्षक, शर्मा जी, ने अमन की प्रतिभा को पहचाना और उसे विशेष ध्यान देने लगे। उन्होंने न सिर्फ अमन को मुफ्त में पढ़ाया, बल्कि उसकी पढ़ाई के लिए किताबें और सामग्री भी उपलब्ध कराई।

धीरे-धीरे समय बीता, और अमन ने अपनी कड़ी मेहनत और शर्मा जी के मार्गदर्शन से अच्छे अंकों के साथ परीक्षा पास की। उसे एक प्रतिष्ठित कॉलेज में छात्रवृत्ति मिल गई और उसने आगे की पढ़ाई जारी रखी।

जब अमन ने अपनी पढ़ाई पूरी की और एक सफल व्यक्ति बन गया, तो उसने अपने गाँव वापस जाकर शर्मा जी का धन्यवाद किया। अमन ने कहा, “शर्मा जी, आपने मेरे जीवन में जो उपकार किया है, मैं उसकी ‘दूध की

लाज’ रखूंगा। आपकी वजह से ही मैं आज इस मुकाम पर पहुंचा हूँ।” शर्मा जी ने मुस्कुराकर अमन को आशीर्वाद दिया।

अमन ने गाँव में एक छोटा पुस्तकालय खोलने का फैसला किया, जहाँ गरीब बच्चे भी पढ़ सकें। उसने शर्मा जी के नाम पर इस पुस्तकालय का नामकरण किया।

इस कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि “दूध की लाज रखना” का अर्थ है उन लोगों का सम्मान और आभार व्यक्त करना, जिन्होंने हमारे जीवन में योगदान दिया हो। अमन की तरह, हमें भी अपने जीवन में उन लोगों की सराहना करनी चाहिए जिन्होंने हमारी मदद की हो और उनके प्रति कृतज्ञता दिखानी चाहिए। इससे हम न सिर्फ एक बेहतर इंसान बनते हैं बल्कि समाज में सकारात्मकता और आभार की भावना को भी बढ़ावा देते हैं।

शायरी:

जिसने दिया है प्यार, उसकी लाज रखेंगे हम,

दूध की लाज की तरह, वफा के राज रखेंगे हम।

जिन हाथों ने दिया है सहारा, उन्हें याद रखेंगे,

उनकी बदौलत ही तो, जिंदगी के मायने समझे।

जिन्होंने जीवन में रोशनी दी, उनका एहसान न भूलेंगे,

दूध की लाज रखेंगे हम, उनकी मेहरबानी को न भूलेंगे।

गुरु की शिक्षा, माँ का प्यार, इनकी कीमत क्या जाने कोई,

जिन्होंने दिया सहारा, उनकी दुहाई हम गाएंगे रोई।

कृतज्ञता के ये पल, जीवन की किताबों में सजाएंगे,

दूध की लाज रखकर, उनके नाम की शमा जलाएंगे।

 

दूध की लाज रखना शायरी

आशा है कि आपको इस मुहावरे की समझ आ गई होगी और आप इसका सही प्रयोग कर पाएंगे।

Hindi to English Translation of दूध की लाज रखना – Doodh ki laaj rakhna Idiom:

Introduction: “दूध की लाज रखना” (Maintaining the honor of the milk) is a famous Hindi idiom in Indian culture, related to the feelings of gratitude and appreciation. This idiom is commonly used when a person needs to honor the favor or assistance received from someone.

Meaning: The literal meaning of “दूध की लाज रखना” is to show gratitude towards those who have helped a person. This idiom reflects the idea that one should respect and honor their benefactors.

Usage: This idiom is used when someone needs to express gratitude for the help received or when someone needs to honor their well-wishers.

Example:

For instance, consider a young man who has been greatly helped by his teacher in his studies and later becomes a successful person. In this situation, the young man “maintains the honor of the milk” towards his teacher, meaning he expresses his gratitude.

Conclusion: The idiom “दूध की लाज रखना” teaches us the necessity of respecting and expressing gratitude towards those who have helped us. It enlightens us on the importance of morality and the feeling of gratitude. It reminds us never to be arrogant or ungrateful towards those who have contributed to our lives.

Thus, the idiom “दूध की लाज रखना” instructs us to be thankful for the support and assistance we receive in life and to respect those who help us. It signifies the strength of our character and the depth of our social relationships.

Story of ‌‌Doodh ki laaj rakhna Idiom in English:

In a small village lived a poor boy named Aman. Aman had a deep interest in studies from his childhood, but his family’s financial condition didn’t allow him to pursue further education.

A teacher in the village school, Sharma Ji, recognized Aman’s talent and started giving him special attention. He not only taught Aman for free but also provided books and materials for his studies.

As time passed, Aman, with his hard work and Sharma Ji’s guidance, passed his exams with good grades. He received a scholarship to a prestigious college and continued his higher education.

When Aman completed his studies and became a successful person, he returned to his village to thank Sharma Ji. Aman said, “Sharma Ji, I will maintain the honor of the milk for the favor you have done in my life. It is because of you that I have reached this position today.” Sharma Ji smiled and blessed Aman.

Aman decided to open a small library in the village where poor children could study. He named this library after Sharma Ji.

This story teaches us that “maintaining the honor of the milk” means to respect and express gratitude to those who have contributed to our lives. Like Aman, we should also appreciate those who have helped us in our lives and show our gratitude towards them. This not only makes us better individuals but also promotes positivity and a sense of gratitude in society.

 

I hope this gives you a clear understanding of the proverb and how to use it correctly

हिंदी मुहावरों की पूरी लिस्ट एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

टिप्पणी करे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Budhimaan Team

Budhimaan Team

हर एक लेख बुधिमान की अनुभवी और समर्पित टीम द्वारा सोख समझकर और विस्तार से लिखा और समीक्षित किया जाता है। हमारी टीम में शिक्षा के क्षेत्र में विशेषज्ञ और अनुभवी शिक्षक शामिल हैं, जिन्होंने विद्यार्थियों को शिक्षा देने में वर्षों का समय बिताया है। हम सुनिश्चित करते हैं कि आपको हमेशा सटीक, विश्वसनीय और उपयोगी जानकारी मिले।

संबंधित पोस्ट

"खाइए मनभाता पहनिए जगभाता मुहावरे का चित्रण", "गाँव की शादी में समाज के अनुरूप वेशभूषा में युवक", "सादगीपसंद खाने और समाजिक वस्त्रों में संतुलन", "Budhimaan.com पर जीवन शैली और संस्कृति"
Hindi Muhavare

खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता अर्थ, प्रयोग (Khaiye manbhata, Pahniye jagbhata)

परिचय: “खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता” यह एक प्रचलित हिंदी मुहावरा है जो जीवन में एक संतुलित दृष्टिकोण अपनाने की सलाह देता है। यह मुहावरा हमें

Read More »
"करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत मुहावरे का चित्रण", "सकारात्मक कार्यों में ऊर्जा निवेश करते व्यक्ति की छवि", "Budhimaan.com पर सकारात्मक योगदान की प्रेरणा", "विवादों की बजाय कर्म पर ध्यान केंद्रित करता किसान"
Hindi Muhavare

करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत अर्थ, प्रयोग (Karni na kartoot, Ladne ko majboot)

परिचय: “करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत” एक हिंदी मुहावरा है जो उन व्यक्तियों के व्यवहार को उजागर करता है जो वास्तव में तो कुछ

Read More »
"ईंट की लेनी पत्थर की देनी कहानी चित्र", "मुहावरे का विवेचन आलेख छवि", "छोटी गलती बड़ा प्रतिशोध इलस्ट्रेशन", "Budhimaan.com पर जीवन की सीख ग्राफिक्स"
Hindi Muhavare

ईंट की लेनी पत्थर की देनी अर्थ, प्रयोग (Eent ki leni patthar ki deni)

परिचय: “ईंट की लेनी पत्थर की देनी” यह मुहावरा हिन्दी भाषा में बहुत प्रचलित है, जिसका प्रयोग अक्सर किसी के द्वारा की गई छोटी कार्रवाई

Read More »
"उत्तम खेती मध्यम बान इमेज", "स्वावलंबन का महत्व चित्र", "भारतीय मुहावरे विश्लेषण ग्राफिक", "Budhimaan.com पर आत्मनिर्भरता लेख इमेज"
Hindi Muhavare

उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान अर्थ, प्रयोग (Uttam kheti madhaym baan, Nikrasht chakri bheekh nidan)

परिचय: “उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान” एक प्राचीन हिंदी मुहावरा है जो विभिन्न पेशों की सामाजिक और आर्थिक स्थिति की तुलना करता

Read More »

आजमाएं अपना ज्ञान!​

बुद्धिमान की इंटरैक्टिव क्विज़ श्रृंखला, शैक्षिक विशेषज्ञों के सहयोग से बनाई गई, आपको भारत के इतिहास और संस्कृति के महत्वपूर्ण पहलुओं पर अपने ज्ञान को जांचने का अवसर देती है। पता लगाएं कि आप भारत की विविधता और समृद्धि को कितना समझते हैं।