Budhimaan

Home » Hindi Muhavare » धर्म बिगाड़ना अर्थ, प्रयोग (Dharm bigadna)

धर्म बिगाड़ना अर्थ, प्रयोग (Dharm bigadna)

परिचय: “धर्म बिगाड़ना” एक प्रचलित हिंदी मुहावरा है, जिसका इस्तेमाल तब किया जाता है जब कोई व्यक्ति या समूह धार्मिक या नैतिक मूल्यों से विचलित होकर गलत या अनुचित कार्य करता है। यह मुहावरा धार्मिक या नैतिक पतन को दर्शाता है।

अर्थ: “धर्म बिगाड़ना” का अर्थ है धार्मिक या नैतिक मार्ग से भटकना और गलत कार्यों में लिप्त होना। यह उन कार्यों को दर्शाता है जो धार्मिक या नैतिक दृष्टिकोण से गलत माने जाते हैं।

प्रयोग: इस मुहावरे का प्रयोग तब होता है जब कोई व्यक्ति या समूह अपने धार्मिक या नैतिक मानदंडों से विचलित होकर गलत काम करता है। यह अक्सर तब इस्तेमाल होता है जब व्यक्ति अपनी आस्था या नैतिकता को भूलकर कुछ गलत करता है।

उदाहरण:

-> अभय ने धर्म बिगाड़ते हुए चोरी की, जिससे उसके परिवार का नाम खराब हुआ।

-> समाज में बढ़ती भ्रष्टाचार की प्रवृत्ति ने लोगों का धर्म बिगाड़ दिया है।

निष्कर्ष: “धर्म बिगाड़ना” मुहावरा धार्मिक या नैतिक पथ से विचलन को दर्शाता है। यह हमें सिखाता है कि नैतिकता और धर्म का पालन करना महत्वपूर्ण है और इनके बिना समाज में अव्यवस्था और अराजकता फैल सकती है। यह मुहावरा व्यक्ति के नैतिक पतन को व्यक्त करता है और समाज में सही आचरण की महत्ता को रेखांकित करता है।

धर्म बिगाड़ना मुहावरा पर कहानी:

एक गाँव में अमन नाम का एक युवक रहता था। अमन को बचपन से ही उसके माता-पिता ने सच्चाई और ईमानदारी का पाठ पढ़ाया था। लेकिन, जैसे-जैसे अमन बड़ा हुआ, उसकी संगति गलत दोस्तों से हो गई।

उसके दोस्त अक्सर चोरी और जुआ खेलते थे। धीरे-धीरे अमन भी उनकी इन हरकतों में शामिल होने लगा। पहले तो उसने छोटी-छोटी चोरियाँ की, फिर बड़े अपराध में लिप्त हो गया। अमन ने अपने माता-पिता की सीख और अपने धर्म को भुला दिया।

एक दिन गाँव में चोरी की एक बड़ी घटना हुई। पुलिस ने जांच की और पता चला कि चोरी में अमन शामिल था। गाँव वालों और अमन के माता-पिता को इस बात का गहरा दुख हुआ। उन्होंने कहा, “अमन ने अपना धर्म बिगाड़ लिया है।”

अमन को जब अपनी गलती का एहसास हुआ, तब तक बहुत देर हो चुकी थी। उसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया और उसके आगे का जीवन जेल में बीतने लगा।

इस कहानी से हमें सिखने को मिलता है कि “धर्म बिगाड़ना” का अर्थ है अपने नैतिक मार्ग से भटक जाना और गलत कामों में लिप्त होना। यह हमें यह भी सिखाता है कि सही और गलत के बीच की पहचान बहुत महत्वपूर्ण है और जीवन में सही मार्ग का चुनाव करना चाहिए।

शायरी:

धर्म बिगड़ा जब इंसान का, खो दिया सब ईमान का,

खुद से ही बिछड़ गए, चल दिए गलत मकान का।

खोटे सिक्के की तरह, धर्म बिगाड़ने वाले,

भटकते रहे अंधेरे में, ना कोई ठिकाने वाले।

धर्म की राह से जो मुँह मोड़े, उसका क्या है भरोसा,

जीवन की इस दौड़ में, वो खुद से ही है खफा।

धर्म बिगाड़ कर जो चले, अपने ही पाँव पर कुल्हाड़ी मारे,

खुद की नैया डूबती, फिर भी न समझे बात हमारी।

जिसने धर्म बिगाड़ा अपना, वो कैसे पाएगा मंजिल,

जीवन की इस कश्मकश में, वो हमेशा रहेगा नाकामिल।

 

धर्म बिगाड़ना शायरी

आशा है कि आपको इस मुहावरे की समझ आ गई होगी और आप इसका सही प्रयोग कर पाएंगे।

Hindi to English Translation of धर्म बिगाड़ना – Dharm bigadna Idiom:

Introduction: “धर्म बिगाड़ना” is a prevalent Hindi idiom used when an individual or a group deviates from religious or moral values to engage in wrong or inappropriate actions. This idiom signifies the decay of religious or moral integrity.

Meaning: “धर्म बिगाड़ना” means to stray from the path of religious or moral righteousness and indulge in wrongful acts. It represents actions that are considered wrong from a religious or moral standpoint.

Usage: This idiom is employed when a person or a group diverges from their religious or moral standards to commit wrongful deeds. It is often used when someone forgets their faith or morality and does something wrong.

Example:

-> Abhay tainted his moral character by stealing, which brought disgrace to his family.

-> The rising trend of corruption in society has led to the moral decay of many individuals.

Conclusion: The idiom “धर्म बिगाड़ना” illustrates deviation from the path of religious or moral righteousness. It teaches us the importance of adhering to morality and religious values, as their absence can lead to disorder and chaos in society. This idiom expresses the downfall of an individual’s moral character and highlights the importance of proper conduct in society.

Story of ‌‌Dharm bigadna Idiom in English:

In a village lived a young man named Aman. Since childhood, his parents had taught him the lessons of truth and honesty. However, as Aman grew up, he began to keep the company of wrong friends.

His friends often engaged in theft and gambling. Gradually, Aman also started participating in these activities. Initially, he committed small thefts, but soon he became involved in major crimes. Aman forgot the teachings of his parents and strayed from his moral path.

One day, a major theft occurred in the village. The police investigated and discovered that Aman was involved. The villagers and Aman’s parents were deeply saddened. They said, “Aman has strayed from his moral path.”

By the time Aman realized his mistake, it was too late. He was arrested by the police and spent the rest of his life in jail.

This story teaches us that “धर्म बिगाड़ना” means to deviate from one’s moral path and get involved in wrongful deeds. It also teaches us the importance of distinguishing between right and wrong and choosing the right path in life.

 

I hope this gives you a clear understanding of the proverb and how to use it correctly

हिंदी मुहावरों की पूरी लिस्ट एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

टिप्पणी करे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Budhimaan Team

Budhimaan Team

हर एक लेख बुधिमान की अनुभवी और समर्पित टीम द्वारा सोख समझकर और विस्तार से लिखा और समीक्षित किया जाता है। हमारी टीम में शिक्षा के क्षेत्र में विशेषज्ञ और अनुभवी शिक्षक शामिल हैं, जिन्होंने विद्यार्थियों को शिक्षा देने में वर्षों का समय बिताया है। हम सुनिश्चित करते हैं कि आपको हमेशा सटीक, विश्वसनीय और उपयोगी जानकारी मिले।

संबंधित पोस्ट

"खाइए मनभाता पहनिए जगभाता मुहावरे का चित्रण", "गाँव की शादी में समाज के अनुरूप वेशभूषा में युवक", "सादगीपसंद खाने और समाजिक वस्त्रों में संतुलन", "Budhimaan.com पर जीवन शैली और संस्कृति"
Hindi Muhavare

खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता अर्थ, प्रयोग (Khaiye manbhata, Pahniye jagbhata)

परिचय: “खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता” यह एक प्रचलित हिंदी मुहावरा है जो जीवन में एक संतुलित दृष्टिकोण अपनाने की सलाह देता है। यह मुहावरा हमें

Read More »
"करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत मुहावरे का चित्रण", "सकारात्मक कार्यों में ऊर्जा निवेश करते व्यक्ति की छवि", "Budhimaan.com पर सकारात्मक योगदान की प्रेरणा", "विवादों की बजाय कर्म पर ध्यान केंद्रित करता किसान"
Hindi Muhavare

करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत अर्थ, प्रयोग (Karni na kartoot, Ladne ko majboot)

परिचय: “करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत” एक हिंदी मुहावरा है जो उन व्यक्तियों के व्यवहार को उजागर करता है जो वास्तव में तो कुछ

Read More »
"ईंट की लेनी पत्थर की देनी कहानी चित्र", "मुहावरे का विवेचन आलेख छवि", "छोटी गलती बड़ा प्रतिशोध इलस्ट्रेशन", "Budhimaan.com पर जीवन की सीख ग्राफिक्स"
Hindi Muhavare

ईंट की लेनी पत्थर की देनी अर्थ, प्रयोग (Eent ki leni patthar ki deni)

परिचय: “ईंट की लेनी पत्थर की देनी” यह मुहावरा हिन्दी भाषा में बहुत प्रचलित है, जिसका प्रयोग अक्सर किसी के द्वारा की गई छोटी कार्रवाई

Read More »
"उत्तम खेती मध्यम बान इमेज", "स्वावलंबन का महत्व चित्र", "भारतीय मुहावरे विश्लेषण ग्राफिक", "Budhimaan.com पर आत्मनिर्भरता लेख इमेज"
Hindi Muhavare

उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान अर्थ, प्रयोग (Uttam kheti madhaym baan, Nikrasht chakri bheekh nidan)

परिचय: “उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान” एक प्राचीन हिंदी मुहावरा है जो विभिन्न पेशों की सामाजिक और आर्थिक स्थिति की तुलना करता

Read More »

आजमाएं अपना ज्ञान!​

बुद्धिमान की इंटरैक्टिव क्विज़ श्रृंखला, शैक्षिक विशेषज्ञों के सहयोग से बनाई गई, आपको भारत के इतिहास और संस्कृति के महत्वपूर्ण पहलुओं पर अपने ज्ञान को जांचने का अवसर देती है। पता लगाएं कि आप भारत की विविधता और समृद्धि को कितना समझते हैं।