Budhimaan

Home » Hindi Muhavare » दर-दर मारा मारा फिरना अर्थ, प्रयोग(Dar-dar mara mara phirna)

दर-दर मारा मारा फिरना अर्थ, प्रयोग(Dar-dar mara mara phirna)

परिचय: “दर-दर मारा मारा फिरना” का अर्थ होता है बहुत अधिक परेशानी में होना और विभिन्न स्थानों पर जाकर सहायता या समाधान की तलाश करना। यह मुहावरा उस स्थिति को व्यक्त करता है जहाँ व्यक्ति को जीवन में बार-बार असफलता और निराशा का सामना करना पड़ता है।

अर्थ: इस मुहावरे का उपयोग तब होता है जब कोई व्यक्ति अत्यधिक परेशान हो और वह जगह-जगह जाकर अपनी समस्या का हल ढूंढने की कोशिश करता है, परन्तु हर जगह से उसे निराशा ही हाथ लगती है।

प्रयोग: यह मुहावरा आमतौर पर उस समय प्रयोग में लाया जाता है जब किसी को रोजगार, चिकित्सा, शिक्षा या किसी अन्य व्यक्तिगत समस्या के लिए अनेक स्थानों पर जाना पड़ता है, लेकिन उसे हर जगह से निराशा ही मिलती है।

उदाहरण:

-> नौकरी की तलाश में विशाल “दर-दर मारा मारा फिर रहा था।”

-> बीमारी के इलाज के लिए अभय “दर-दर मारा मारा फिर रहा था।”

निष्कर्ष: “दर-दर मारा मारा फिरना” मुहावरा हमें यह सिखाता है कि जीवन में कभी-कभी व्यक्ति को अनेक प्रकार की कठिनाइयों और चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। यह मुहावरा जीवन के संघर्ष की गहराई को दर्शाता है और यह बताता है कि इन संघर्षों के बीच भी आशा और संकल्प की जरूरत होती है।

Hindi Muhavare Quiz

दर-दर मारा मारा फिरना मुहावरा पर कहानी:

अनुभव एक मेहनती और उम्मीद से भरा युवक था, जो एक छोटे गांव से बड़े शहर की ओर अपनी किस्मत आजमाने आया था। उसके पास बड़े सपने थे, लेकिन संसाधन कम थे। उसने सोचा था कि शहर में जाकर उसे अच्छी नौकरी मिल जाएगी, लेकिन हकीकत कुछ और ही थी।

अनुभव ने हर एक कंपनी में अपना बायोडाटा दिया, हर इंटरव्यू में भाग लिया, लेकिन हर जगह से उसे निराशा ही हाथ लगी। वह “दर-दर मारा मारा फिरता” रहा, पर कहीं भी उसकी किस्मत का दरवाजा नहीं खुला।

इसी बीच, उसकी जेब भी खाली होने लगी थी और वह आर्थिक रूप से भी संकट में आ गया था। पर अनुभव ने हार नहीं मानी। वह रोज उठता, अपनी मेहनत जारी रखता और हर नए दिन को एक नया अवसर मानकर चलता।

आखिरकार, उसकी मेहनत रंग लाई। एक छोटी सी कंपनी ने उसे नौकरी का अवसर दिया। अनुभव ने इस अवसर को पूरी ताकत से पकड़ा और अपनी प्रतिभा और कड़ी मेहनत से उस कंपनी में अपना स्थान बनाया।

इस कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि “दर-दर मारा मारा फिरना” भी जीवन की एक यात्रा है। यह हमें दिखाता है कि कठिनाइयों और असफलताओं के बीच भी आशा और संकल्प के साथ मेहनत करने से हम अपने लक्ष्यों को प्राप्त कर सकते हैं।

शायरी:

दर-दर की ठोकरें खा कर, मैंने जीना सीख लिया,

हर ठोकर ने एक नया सबक, मेरे दिल में बसा लिया।

जिंदगी के इस सफर में, मारा मारा फिरता रहा,

खुद की तलाश में हर दर पर, बस ठोकरें ही खाता रहा।

हर ठोकर से उठ कर, मैंने फिर से चलना सीखा,

दर-दर की इन ठोकरों ने, जिंदगी का मतलब सिखा।

जिंदगी की इन राहों में, दर-दर मारा मारा फिरा,

हर दर पर नया सबक मिला, जिंदगी का असली खजाना मिला।

दर-दर की ये ठोकरें, इन्होंने मुझे बनाया,

जो ना मिलता किसी किताब में, वो सबक सिखाया।

 

दर-दर मारा मारा फिरना शायरी

आशा है कि आपको इस मुहावरे की समझ आ गई होगी और आप इसका सही प्रयोग कर पाएंगे।

Hindi to English Translation of दर-दर मारा मारा फिरना – Dar-dar mara mara phirna Idiom:

Introduction: “दर-दर मारा मारा फिरना” translates to being in great trouble and seeking help or solutions in various places. This idiom represents the situation where a person continuously faces failure and disappointment in life.

Meaning: The idiom is used when a person is extremely troubled and tries to find solutions to their problems by going from place to place, but ends up facing disappointment everywhere.

Usage: This idiom is typically used when someone has to visit multiple places for employment, medical treatment, education, or any other personal issue, but only finds disappointment at each place.

Example:

-> Vishal was “wandering from place to place in search of a job.”

-> Suman was “going from place to place in search of a cure for her illness.”

Conclusion: The idiom “दर-दर मारा मारा फिरना” teaches us that sometimes in life, a person has to face various kinds of difficulties and challenges. This idiom illustrates the depth of life’s struggles and indicates that even amidst these struggles, there is a need for hope and determination.

Story of ‌‌Dar-dar mara mara phirna Idiom in English:

Anubhav was a hardworking and hopeful young man who came from a small village to try his luck in a big city. He had big dreams, but limited resources. He thought that he would find a good job in the city, but reality turned out to be quite different.

Anubhav submitted his resume to every company and attended every interview, but he faced disappointment everywhere. He kept “wandering from place to place,” but his luck never seemed to turn.

Meanwhile, his savings started to dwindle, and he found himself in a financial crisis. However, Anubhav did not give up. He got up every day, continued his hard work, and saw every new day as a new opportunity.

Finally, his efforts paid off. A small company offered him a job. Anubhav seized this opportunity with all his might and made his place in the company with his talent and hard work.

This story teaches us that “wandering from place to place” is also a journey of life. It shows us that even amidst difficulties and failures, we can achieve our goals with hope and determination.

 

I hope this gives you a clear understanding of the proverb and how to use it correctly

FAQs:

क्या इस मुहावरे का कोई वास्तविक उदाहरण है?

हां, जैसे कोई व्यक्ति बिना किसी निर्दिष्ट उद्देश्य के या स्थिरता के साथ रास्ते पर भटक रहा हो, तो उसे ‘दर-दर मारा मारा फिरना’ कहा जा सकता है।

इस मुहावरे का उपयोग किस प्रकार किया जाता है?

यह मुहावरा अक्सर किसी के अनिश्चित या नियमित चक्कर में घूमने को व्यक्त करने के लिए प्रयोग किया जाता है।

क्या है मुहावरा ‘दर-दर मारा मारा फिरना’ का अर्थ?

यह मुहावरा अस्थिरता या व्यर्थ भ्रम को दर्शाता है, जैसे कोई व्यक्ति या वस्तु बिना किसी निश्चित उद्देश्य के या स्थिरता के साथ यात्रा करता है।

इस मुहावरे का इतिहास क्या है?

यह मुहावरा प्राचीन समय से ही उपयोग में आया है और साहित्य में उसका उल्लेख मिलता है।

क्या यह मुहावरा किसी व्यक्ति की स्थिति या भावनाओं को व्यक्त करने में मदद करता है?

हां, यह मुहावरा विविध स्थितियों में फँसे हुए व्यक्ति की अस्थिरता या अनिश्चितता को व्यक्त करने में मदद कर सकता है।

हिंदी मुहावरों की पूरी लिस्ट एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

टिप्पणी करे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Budhimaan Team

Budhimaan Team

हर एक लेख बुधिमान की अनुभवी और समर्पित टीम द्वारा सोख समझकर और विस्तार से लिखा और समीक्षित किया जाता है। हमारी टीम में शिक्षा के क्षेत्र में विशेषज्ञ और अनुभवी शिक्षक शामिल हैं, जिन्होंने विद्यार्थियों को शिक्षा देने में वर्षों का समय बिताया है। हम सुनिश्चित करते हैं कि आपको हमेशा सटीक, विश्वसनीय और उपयोगी जानकारी मिले।

संबंधित पोस्ट

"खाइए मनभाता पहनिए जगभाता मुहावरे का चित्रण", "गाँव की शादी में समाज के अनुरूप वेशभूषा में युवक", "सादगीपसंद खाने और समाजिक वस्त्रों में संतुलन", "Budhimaan.com पर जीवन शैली और संस्कृति"
Hindi Muhavare

खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता अर्थ, प्रयोग (Khaiye manbhata, Pahniye jagbhata)

परिचय: “खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता” यह एक प्रचलित हिंदी मुहावरा है जो जीवन में एक संतुलित दृष्टिकोण अपनाने की सलाह देता है। यह मुहावरा हमें

Read More »
"करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत मुहावरे का चित्रण", "सकारात्मक कार्यों में ऊर्जा निवेश करते व्यक्ति की छवि", "Budhimaan.com पर सकारात्मक योगदान की प्रेरणा", "विवादों की बजाय कर्म पर ध्यान केंद्रित करता किसान"
Hindi Muhavare

करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत अर्थ, प्रयोग (Karni na kartoot, Ladne ko majboot)

परिचय: “करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत” एक हिंदी मुहावरा है जो उन व्यक्तियों के व्यवहार को उजागर करता है जो वास्तव में तो कुछ

Read More »
"ईंट की लेनी पत्थर की देनी कहानी चित्र", "मुहावरे का विवेचन आलेख छवि", "छोटी गलती बड़ा प्रतिशोध इलस्ट्रेशन", "Budhimaan.com पर जीवन की सीख ग्राफिक्स"
Hindi Muhavare

ईंट की लेनी पत्थर की देनी अर्थ, प्रयोग (Eent ki leni patthar ki deni)

परिचय: “ईंट की लेनी पत्थर की देनी” यह मुहावरा हिन्दी भाषा में बहुत प्रचलित है, जिसका प्रयोग अक्सर किसी के द्वारा की गई छोटी कार्रवाई

Read More »
"उत्तम खेती मध्यम बान इमेज", "स्वावलंबन का महत्व चित्र", "भारतीय मुहावरे विश्लेषण ग्राफिक", "Budhimaan.com पर आत्मनिर्भरता लेख इमेज"
Hindi Muhavare

उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान अर्थ, प्रयोग (Uttam kheti madhaym baan, Nikrasht chakri bheekh nidan)

परिचय: “उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान” एक प्राचीन हिंदी मुहावरा है जो विभिन्न पेशों की सामाजिक और आर्थिक स्थिति की तुलना करता

Read More »

आजमाएं अपना ज्ञान!​

बुद्धिमान की इंटरैक्टिव क्विज़ श्रृंखला, शैक्षिक विशेषज्ञों के सहयोग से बनाई गई, आपको भारत के इतिहास और संस्कृति के महत्वपूर्ण पहलुओं पर अपने ज्ञान को जांचने का अवसर देती है। पता लगाएं कि आप भारत की विविधता और समृद्धि को कितना समझते हैं।