Budhimaan

दम घुटना अर्थ, प्रयोग(Dam ghutna)

परिचय: “दम घुटना” मुहावरे का शाब्दिक अर्थ है सांस लेने में कठिनाई होना। यह आमतौर पर उन परिस्थितियों में प्रयोग किया जाता है जहां व्यक्ति अत्यधिक दबाव, तनाव या असहज स्थिति में महसूस करता है।

अर्थ: मुहावरे का अधिक व्यापक अर्थ वह स्थिति है जहाँ व्यक्ति किसी अनुभव या परिस्थिति के कारण बहुत अधिक दबाव या तनाव महसूस करता है। इसमें मानसिक, भावनात्मक या शारीरिक दबाव शामिल हो सकता है।

प्रयोग: इस मुहावरे का उपयोग अक्सर उन परिस्थितियों में किया जाता है जहां व्यक्ति अपने आप को किसी बंद या दबावपूर्ण स्थान में पाता है, जैसे कि मानसिक तनाव, भीड़भाड़, या अनुचित सामाजिक दबाव की स्थितियों में।

उदाहरण:

-> जब काव्या उस छोटे से कमरे में अकेली थी तो उसे लगा कि उसका दम घुट रहा है।

-> अनेक आवश्यकताओं और जिम्मेदारियों के बीच, विनीत महसूस करता है कि उसका दम घुट रहा है।

निष्कर्ष: “दम घुटना” मुहावरा भावनात्मक और मानसिक दबाव की गहराई को दर्शाता है। यह न केवल शारीरिक संकट का प्रतीक है, बल्कि यह भी बताता है कि कैसे विभिन्न परिस्थितियां एक व्यक्ति की मानसिक और भावनात्मक स्थिति को प्रभावित कर सकती हैं। इस मुहावरे का प्रयोग व्यक्तिगत अनुभवों की गहराई और जटिलता को व्यक्त करने के लिए होता है।

Hindi Muhavare Quiz

दम घुटना मुहावरा पर कहानी:

एक छोटे से शहर में अनुभव नाम का एक युवक रहता था। अनुभव एक साधारण परिवार से था और उसके सपने बड़े थे। वह दिन-रात मेहनत करता, अपने परिवार की बेहतर जिंदगी के लिए। उसकी जिंदगी की राहें हमेशा चुनौतीपूर्ण रहीं।

एक दिन, अनुभव को एक बड़ी कंपनी में नौकरी का अवसर मिला। यह उसके लिए एक सुनहरा मौका था, लेकिन इसके साथ ही आई थी कई जिम्मेदारियां। उसे शहर से दूर एक छोटे कमरे में रहना पड़ा, जहां न तो खिड़कियाँ थीं और न ही पर्याप्त हवा आती थी। उसकी जिंदगी अचानक से सिमट कर उस कमरे में आ गई थी।

काम का दबाव, अकेलापन, और सीमित स्थान में रहने के कारण, अनुभव अक्सर महसूस करता कि उसका दम घुट रहा है। उसके सपने और उसकी आकांक्षाएं जैसे उस कमरे की चार दीवारों में कैद हो गई थीं।

एक दिन, अनुभव ने फैसला किया कि वह इस तरह से नहीं रह सकता। उसने अपनी नौकरी छोड़ दी और एक ऐसी जगह की तलाश की जहाँ उसे खुली हवा और आज़ादी महसूस हो। उसने एक ऐसी नौकरी ढूंढी जहाँ वह खुश और संतुष्ट महसूस कर सके।

अनुभव की यह कहानी हमें बताती है कि कभी-कभी जिंदगी में हमें उन चीजों को छोड़ना पड़ता है जो हमें दम घुटने का अनुभव कराती हैं। “दम घुटना” का मुहावरा इसी तरह के अनुभवों को व्यक्त करता है, जहाँ व्यक्ति अपने आप को बंदिशों और दबाव में महसूस करता है। आज़ादी और खुशी की खोज में अक्सर हमें बड़े निर्णय लेने पड़ते हैं।

शायरी:

इस शहर की भीड़ में, जब भी मैं खुद को खोता हूँ,

हर शोर में खामोशी सी, मेरा दम घुटता है।

सपनों के आसमान को, जब भी मैं छूने की कोशिश करता हूँ,

उन ऊंचाइयों में कहीं, मेरा दम घुटता है।

हर राह की मुश्किल में, जब भी खुद को तन्हा पाता हूँ,

उस वीराने में भी, मेरा दम घुटता है।

ये जिंदगी के सफर में, जब भी मैं खुद से सवाल करता हूँ,

हर अनुत्तरित प्रश्न में, मेरा दम घुटता है।

लेकिन फिर भी, उम्मीदों की रोशनी में,

हर घुटन भरे पल में, एक नई राह ढूँढता हूँ,

क्योंकि हर मुश्किल में, जब भी मेरा दम घुटता है,

वहीं से जिंदगी का एक नया अध्याय शुरू होता है।

 

दम घुटना शायरी

आशा है कि आपको इस मुहावरे की समझ आ गई होगी और आप इसका सही प्रयोग कर पाएंगे।

Hindi to English Translation of दम घुटना – Dam ghutna Idiom:

Introduction: The literal meaning of the idiom “दम घुटना” is experiencing difficulty in breathing. It is commonly used in situations where a person feels extreme pressure, stress, or discomfort.

Meaning: The broader meaning of the idiom is a state where a person feels immense pressure or stress due to an experience or situation. This may include mental, emotional, or physical pressure.

Usage: This idiom is often used in situations where a person finds themselves in a confined or pressure-filled space, such as mental stress, crowded places, or situations of inappropriate social pressure.

Example:

-> When Kavya was alone in that small room, she felt as if she was suffocating.

-> Amidst numerous necessities and responsibilities, Vineet feels like he is suffocating.

Conclusion: The idiom “दम घुटना” illustrates the depth of emotional and mental pressure. It not only symbolizes physical distress but also explains how various situations can affect a person’s mental and emotional state. This idiom is used to express the depth and complexity of personal experiences.

Story of ‌‌Dam ghutna Idiom in English:

In a small town, there lived a young man named Anubhav. Anubhav came from a humble family and had big dreams. He worked day and night for a better life for his family, facing challenges at every turn in his life.

One day, Anubhav got an opportunity to work in a big company. It was a golden chance for him, but it came with many responsibilities. He had to live in a small room far from the city, with no windows and insufficient air. Suddenly, his life seemed to be confined to that room.

Due to the pressure of work, loneliness, and living in a restricted space, Anubhav often felt suffocated. His dreams and aspirations seemed imprisoned within the four walls of that room.

One day, Anubhav decided he couldn’t live like this anymore. He quit his job and sought a place where he could feel the open air and freedom. He found a job where he could be happy and content.

Anubhav’s story tells us that sometimes in life, we need to let go of things that suffocate us. The idiom “दम घुटना” (feeling suffocated) expresses such experiences where a person feels constrained and pressured. Often, the quest for freedom and happiness requires us to make significant decisions.

 

I hope this gives you a clear understanding of the proverb and how to use it correctly

FAQs:

“दम घुटना” मुहावरा का प्रयोग किस परिस्थिति में होता है?

यह मुहावरा विशेष रूप से जब किसी व्यक्ति को अत्यधिक भय या डर का सामना करना पड़ता है, तब उपयोग किया जाता है।

क्या “दम घुटना” का अर्थ हमेशा अशुभ होता है?

नहीं, “दम घुटना” का अर्थ अशुभ नहीं होता, बल्कि यह किसी अत्यंत भयभीत अथवा आतंकित होने का भाव व्यक्त करता है।

क्या होता है “दम घुटना” मुहावरा?

“दम घुटना” मुहावरा एक भयभीत या डरा हुआ होने का अभिव्यक्ति करता है। यह किसी संकट या मुश्किल स्थिति में आने का भय या डर को दर्शाता है।

क्या “दम घुटना” का उपयोग केवल हिंदी में होता है?

नहीं, “दम घुटना” जैसे मुहावरे अन्य भाषाओं में भी होते हैं, जैसे अंग्रेजी में “knees shaking”।

क्या “दम घुटना” का संबंध किसी शारीरिक स्थिति से होता है?

नहीं, “दम घुटना” का संबंध शारीरिक स्थिति से नहीं होता है, बल्कि यह मानसिक भय के अभिव्यक्ति के लिए प्रयोग किया जाता है।

हिंदी मुहावरों की पूरी लिस्ट एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

टिप्पणी करे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Budhimaan Team

Budhimaan Team

हर एक लेख बुधिमान की अनुभवी और समर्पित टीम द्वारा सोख समझकर और विस्तार से लिखा और समीक्षित किया जाता है। हमारी टीम में शिक्षा के क्षेत्र में विशेषज्ञ और अनुभवी शिक्षक शामिल हैं, जिन्होंने विद्यार्थियों को शिक्षा देने में वर्षों का समय बिताया है। हम सुनिश्चित करते हैं कि आपको हमेशा सटीक, विश्वसनीय और उपयोगी जानकारी मिले।

संबंधित पोस्ट

"खाइए मनभाता पहनिए जगभाता मुहावरे का चित्रण", "गाँव की शादी में समाज के अनुरूप वेशभूषा में युवक", "सादगीपसंद खाने और समाजिक वस्त्रों में संतुलन", "Budhimaan.com पर जीवन शैली और संस्कृति"
Hindi Muhavare

खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता अर्थ, प्रयोग (Khaiye manbhata, Pahniye jagbhata)

परिचय: “खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता” यह एक प्रचलित हिंदी मुहावरा है जो जीवन में एक संतुलित दृष्टिकोण अपनाने की सलाह देता है। यह मुहावरा हमें

Read More »
"करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत मुहावरे का चित्रण", "सकारात्मक कार्यों में ऊर्जा निवेश करते व्यक्ति की छवि", "Budhimaan.com पर सकारात्मक योगदान की प्रेरणा", "विवादों की बजाय कर्म पर ध्यान केंद्रित करता किसान"
Hindi Muhavare

करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत अर्थ, प्रयोग (Karni na kartoot, Ladne ko majboot)

परिचय: “करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत” एक हिंदी मुहावरा है जो उन व्यक्तियों के व्यवहार को उजागर करता है जो वास्तव में तो कुछ

Read More »
"ईंट की लेनी पत्थर की देनी कहानी चित्र", "मुहावरे का विवेचन आलेख छवि", "छोटी गलती बड़ा प्रतिशोध इलस्ट्रेशन", "Budhimaan.com पर जीवन की सीख ग्राफिक्स"
Hindi Muhavare

ईंट की लेनी पत्थर की देनी अर्थ, प्रयोग (Eent ki leni patthar ki deni)

परिचय: “ईंट की लेनी पत्थर की देनी” यह मुहावरा हिन्दी भाषा में बहुत प्रचलित है, जिसका प्रयोग अक्सर किसी के द्वारा की गई छोटी कार्रवाई

Read More »
"उत्तम खेती मध्यम बान इमेज", "स्वावलंबन का महत्व चित्र", "भारतीय मुहावरे विश्लेषण ग्राफिक", "Budhimaan.com पर आत्मनिर्भरता लेख इमेज"
Hindi Muhavare

उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान अर्थ, प्रयोग (Uttam kheti madhaym baan, Nikrasht chakri bheekh nidan)

परिचय: “उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान” एक प्राचीन हिंदी मुहावरा है जो विभिन्न पेशों की सामाजिक और आर्थिक स्थिति की तुलना करता

Read More »

आजमाएं अपना ज्ञान!​

बुद्धिमान की इंटरैक्टिव क्विज़ श्रृंखला, शैक्षिक विशेषज्ञों के सहयोग से बनाई गई, आपको भारत के इतिहास और संस्कृति के महत्वपूर्ण पहलुओं पर अपने ज्ञान को जांचने का अवसर देती है। पता लगाएं कि आप भारत की विविधता और समृद्धि को कितना समझते हैं।