Budhimaan

Home » Hindi Muhavare » छुपा रुस्तम अर्थ, प्रयोग(Chhupa Rustam)

छुपा रुस्तम अर्थ, प्रयोग(Chhupa Rustam)

परिचय: “छुपा रुस्तम” एक प्रसिद्ध हिंदी मुहावरा है जिसका प्रयोग अक्सर उस व्यक्ति के लिए किया जाता है जो अपनी असली प्रतिभा या क्षमता को छिपाकर रखता है। इस मुहावरे में ‘रुस्तम’ शब्द का इस्तेमाल एक मजबूत और प्रतिभाशाली व्यक्ति के लिए होता है।

अर्थ: इस मुहावरे का अर्थ है वह व्यक्ति जो अपनी वास्तविक क्षमता या योग्यता को छिपाए रखता है और सही समय पर उसे प्रकट करता है। यह उस व्यक्ति को दर्शाता है जो साधारण दिखता है, लेकिन असाधारण क्षमताएँ रखता है।

प्रयोग: इस मुहावरे का प्रयोग अक्सर तब किया जाता है जब कोई व्यक्ति अपनी अनदेखी प्रतिभा या योग्यता का प्रदर्शन करता है। उदाहरण के लिए, जब कोई छात्र अचानक उच्च अंक प्राप्त करता है या जब कोई कर्मचारी अप्रत्याशित रूप से एक महत्वपूर्ण परियोजना को सफलतापूर्वक पूरा करता है।

उदाहरण:

-> “सभी सोच रहे थे कि अमन एक साधारण खिलाड़ी है, लेकिन फाइनल मैच में उसने अपना छुपा रुस्तम होना साबित कर दिया।”

-> “जब तक सुमन ने अपने व्यापारिक विचार प्रस्तुत नहीं किए, तब तक किसी को भी पता नहीं था कि वह एक छुपा रुस्तम है।”

निष्कर्ष: “छुपा रुस्तम” मुहावरा हमें यह सिखाता है कि प्रतिभा हमेशा सतह पर नहीं दिखती। कई बार, सबसे प्रतिभाशाली व्यक्ति वह होता है जो अपनी क्षमताओं को छिपाए रखता है और सही समय पर उन्हें प्रकट करता है। यह मुहावरा हमें यह भी याद दिलाता है कि हमें किसी को भी उसकी बाहरी उपस्थिति से नहीं आंकना चाहिए।

Hindi Muhavare Quiz
Hindi Muhavare Quiz

छुपा रुस्तम मुहावरा पर कहानी:

एक छोटे से गाँव में नियांत नाम का एक लड़का रहता था। नियांत साधारण दिखने वाला, शांत स्वभाव का था। वह हमेशा पीछे की बेंच पर बैठता और कम बोलता। गाँव के लोग उसे एक सामान्य बच्चा समझते थे।

एक दिन गाँव में एक बड़ा त्यौहार आयोजित हुआ। उस त्यौहार में एक प्रतियोगिता रखी गई थी जिसमें विभिन्न कलाओं का प्रदर्शन होना था। सभी ने सोचा कि नियांत इस प्रतियोगिता में भाग नहीं लेगा, लेकिन नियांत ने सबको चौंकाते हुए नामांकन कर लिया।

प्रतियोगिता के दिन, नियांत मंच पर आया। उसके हाथ में एक वायलिन था। जैसे ही उसने वायलिन बजाना शुरू किया, पूरा सभागार स्तब्ध रह गया। उसकी धुन इतनी मधुर और आकर्षक थी कि सभी उसके संगीत में खो गए। उस दिन नियांत ने न केवल प्रतियोगिता जीती, बल्कि सबके दिल भी जीत लिए।

उस दिन के बाद, गाँववालों ने नियांत को “छुपा रुस्तम” कहना शुरू कर दिया। उन्होंने सीखा कि अक्सर वो लोग जो शांत और साधारण दिखते हैं, उनमें असाधारण प्रतिभाएँ छिपी होती हैं। नियांत ने अपनी प्रतिभा के जरिए न केवल अपनी छवि बदली, बल्कि यह भी सिखाया कि कभी भी किसी की क्षमता का आंकलन केवल उनके बाहरी रूप से नहीं किया जा सकता।

शायरी:

छुपा रुस्तम वो, जिसके अंदर बहारें छिपी,

हर कदम पर वो नए आसमान छू लेता है।

जो दिखता है सादा, पर अंदर से वो अजीम,

हर बाज़ी में वो बिन बोले, बाजी मार लेता है।

उसकी चुप्पी में भी, गूंजती हैं इन्क़लाब की गूँज,

वो जो अपनी मुस्कान में, पूरी कायनात समेट लेता है।

उसके कदमों की आहट, बयां करती है कहानी उसकी,

जो दुनिया से अलग, अपने रास्ते खुद बना लेता है।

हर बंदिश में भी वो, खुद को आज़ाद पाता है,

जैसे हर मुश्किल में वो, नया रास्ता निकाल लेता है।

छुपा रुस्तम वो, जो खामोशी में भी करता है बयान,

उसकी एक अदा में, पूरा जहान बदल लेता है।

 

छुपा रुस्तम शायरी

आशा है कि आपको इस मुहावरे की समझ आ गई होगी और आप इसका सही प्रयोग कर पाएंगे।

Hindi to English Translation of छुपा रुस्तम – Chhupa Idiom:

Introduction: “छुपा रुस्तम” (Chhupa Rustam) is a popular Hindi idiom often used for someone who conceals their true talent or ability. In this idiom, ‘Rustam’ is used to denote a strong and talented person.

Meaning: The idiom means a person who hides their real capabilities or qualifications and reveals them at the right time. It represents someone who appears ordinary but possesses extraordinary abilities.

Usage: This idiom is commonly used when a person displays their unnoticed talent or skill. For example, when a student suddenly scores high marks or when an employee unexpectedly completes a significant project successfully.

Example:

-> “Everyone thought Aman was an average player, but in the final match, he proved to be a ‘Chhupa Rustam’ (a hidden talent).”

-> “Until Suman presented her business ideas, no one knew she was a ‘Chhupa Rustam’ (a hidden gem).”

Conclusion: The idiom “छुपा रुस्तम” (Chhupa Rustam) teaches us that talent doesn’t always show on the surface. Often, the most talented person is the one who keeps their abilities hidden and reveals them at the right moment. This idiom also reminds us not to judge anyone solely by their outward appearance.

Story of ‌‌Chhupa Rustam Idiom in English:

In a small village, there lived a boy named Niyant. Niyant was ordinary-looking and of a quiet demeanor. He always sat at the back of the class and spoke little. The villagers considered him to be a normal child.

One day, a big festival was organized in the village. There was a competition planned during the festival, showcasing various arts. Everyone thought Niyant would not participate in the competition, but to everyone’s surprise, he enrolled.

On the day of the competition, Niyant appeared on stage with a violin in his hand. As soon as he started playing, the entire audience was stunned. His tune was so melodious and captivating that everyone got lost in his music. That day, Niyant not only won the competition but also won everyone’s hearts.

After that day, the villagers started calling Niyant “छुपा रुस्तम” (Chhupa Rustam). They learned that often those who appear calm and ordinary have extraordinary talents hidden within them. Niyant, through his talent, not only changed his image but also taught that one should never judge someone’s capabilities based solely on their outward appearance.

 

I hope this gives you a clear understanding of the proverb and how to use it correctly

FAQs:

क्या इस मुहावरे का कोई ऐतिहासिक मूल है?

नहीं, इस मुहावरे का कोई ऐतिहासिक मूल नहीं है, यह भाषा कला और अभिव्यक्ति के लिए उपयोग होने वाला एक सामान्य मुहावरा है।

इस मुहावरे का प्रयोग किस स्थिति में होता है?

“छुपा रुस्तम” का प्रयोग विशेषकर उन स्थितियों में होता है जब कोई किसी के वास्तविक या असली रूप को छुपा कर रखता है और उसकी पहचान करना कठिन होता है।

क्या है मुहावरा “छुपा रुस्तम” का अर्थ?

“छुपा रुस्तम” का अर्थ होता है कोई व्यक्ति या चीज जो आपसे छिपी हुई हो, जिसका असलीता आपको पहचानना मुश्किल होता है।

क्या “छुपा रुस्तम” का कोई संबंध धार्मिक अथवा ऐतिहासिक ग्रंथों से है?

नहीं, यह मुहावरा किसी धार्मिक अथवा ऐतिहासिक ग्रंथों से संबंधित नहीं है। यह भाषा कला में उपयोग होने वाला एक सामान्य अभिव्यक्ति है।

क्या “छुपा रुस्तम” का उपयोग साहित्य में होता है?

हाँ, यह मुहावरा साहित्य में अक्सर प्रयुक्त होता है ताकि विभिन्न प्रतिभागियों की असली पहचान में कठिनाई पैदा की जा सके।

हिंदी मुहावरों की पूरी लिस्ट एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

टिप्पणी करे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Budhimaan Team

Budhimaan Team

हर एक लेख बुधिमान की अनुभवी और समर्पित टीम द्वारा सोख समझकर और विस्तार से लिखा और समीक्षित किया जाता है। हमारी टीम में शिक्षा के क्षेत्र में विशेषज्ञ और अनुभवी शिक्षक शामिल हैं, जिन्होंने विद्यार्थियों को शिक्षा देने में वर्षों का समय बिताया है। हम सुनिश्चित करते हैं कि आपको हमेशा सटीक, विश्वसनीय और उपयोगी जानकारी मिले।

संबंधित पोस्ट

"खाइए मनभाता पहनिए जगभाता मुहावरे का चित्रण", "गाँव की शादी में समाज के अनुरूप वेशभूषा में युवक", "सादगीपसंद खाने और समाजिक वस्त्रों में संतुलन", "Budhimaan.com पर जीवन शैली और संस्कृति"
Hindi Muhavare

खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता अर्थ, प्रयोग (Khaiye manbhata, Pahniye jagbhata)

परिचय: “खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता” यह एक प्रचलित हिंदी मुहावरा है जो जीवन में एक संतुलित दृष्टिकोण अपनाने की सलाह देता है। यह मुहावरा हमें

Read More »
"करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत मुहावरे का चित्रण", "सकारात्मक कार्यों में ऊर्जा निवेश करते व्यक्ति की छवि", "Budhimaan.com पर सकारात्मक योगदान की प्रेरणा", "विवादों की बजाय कर्म पर ध्यान केंद्रित करता किसान"
Hindi Muhavare

करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत अर्थ, प्रयोग (Karni na kartoot, Ladne ko majboot)

परिचय: “करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत” एक हिंदी मुहावरा है जो उन व्यक्तियों के व्यवहार को उजागर करता है जो वास्तव में तो कुछ

Read More »
"ईंट की लेनी पत्थर की देनी कहानी चित्र", "मुहावरे का विवेचन आलेख छवि", "छोटी गलती बड़ा प्रतिशोध इलस्ट्रेशन", "Budhimaan.com पर जीवन की सीख ग्राफिक्स"
Hindi Muhavare

ईंट की लेनी पत्थर की देनी अर्थ, प्रयोग (Eent ki leni patthar ki deni)

परिचय: “ईंट की लेनी पत्थर की देनी” यह मुहावरा हिन्दी भाषा में बहुत प्रचलित है, जिसका प्रयोग अक्सर किसी के द्वारा की गई छोटी कार्रवाई

Read More »
"उत्तम खेती मध्यम बान इमेज", "स्वावलंबन का महत्व चित्र", "भारतीय मुहावरे विश्लेषण ग्राफिक", "Budhimaan.com पर आत्मनिर्भरता लेख इमेज"
Hindi Muhavare

उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान अर्थ, प्रयोग (Uttam kheti madhaym baan, Nikrasht chakri bheekh nidan)

परिचय: “उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान” एक प्राचीन हिंदी मुहावरा है जो विभिन्न पेशों की सामाजिक और आर्थिक स्थिति की तुलना करता

Read More »

आजमाएं अपना ज्ञान!​

बुद्धिमान की इंटरैक्टिव क्विज़ श्रृंखला, शैक्षिक विशेषज्ञों के सहयोग से बनाई गई, आपको भारत के इतिहास और संस्कृति के महत्वपूर्ण पहलुओं पर अपने ज्ञान को जांचने का अवसर देती है। पता लगाएं कि आप भारत की विविधता और समृद्धि को कितना समझते हैं।