Budhimaan

Home » Hindi Muhavare » बागडोर हाथ में होना अर्थ, प्रयोग (Bagdor haath mein hona)

बागडोर हाथ में होना अर्थ, प्रयोग (Bagdor haath mein hona)

“बागडोर हाथ में होना” एक लोकप्रिय हिंदी मुहावरा है, जिसका प्रयोग हमारे दैनिक जीवन और व्यावसायिक परिस्थितियों में अक्सर होता है। इस मुहावरे के माध्यम से हम नियंत्रण और प्राधिकरण के महत्व को समझ सकते हैं।

परिचय: “बागडोर हाथ में होना” मुहावरा उस स्थिति का वर्णन करता है जब किसी व्यक्ति के पास पूर्ण नियंत्रण या अधिकार होता है। यह मुहावरा नेतृत्व, स्वामित्व, या किसी परिस्थिति पर प्रभुत्व रखने की बात करता है।

अर्थ: इस मुहावरे का अर्थ है कि किसी व्यक्ति के पास पूर्ण नियंत्रण या अधिकार होना। यह उस स्थिति को दर्शाता है जहाँ व्यक्ति स्वयं निर्णय लेता है और उसके फैसले परिस्थितियों पर बड़ा प्रभाव डालते हैं।

प्रयोग: इस मुहावरे का प्रयोग किसी भी ऐसे संदर्भ में किया जा सकता है जहाँ किसी व्यक्ति को पूर्ण अधिकार और नियंत्रण प्राप्त हो। यह व्यवसाय, राजनीति, पारिवारिक मामलों, या किसी संगठन के संचालन से संबंधित हो सकता है।

उदाहरण:

-> जब कंपनी के CEO ने अपने पद का कार्यभार संभाला, तो उन्होंने सुनिश्चित किया कि बागडोर पूरी तरह से उनके हाथ में हो।

-> घर में बड़े भाई ने जब परिवार की जिम्मेदारियाँ संभालीं, तो उन्होंने यह दिखाया कि बागडोर हाथ में होने का मतलब क्या होता है।

निष्कर्ष: “बागडोर हाथ में होना” मुहावरे का महत्व यह है कि यह हमें नेतृत्व और अधिकार की जिम्मेदारियों के बारे में बताता है। यह हमें सिखाता है कि जब हमारे पास नियंत्रण होता है, तो हमें उसका उपयोग जिम्मेदारीपूर्वक और सोच-समझकर करना चाहिए।

बागडोर हाथ में होना मुहावरा पर कहानी:

एक बार का जिक्र है, एक छोटे से गाँव में ‘उज्ज्वलपुर’ में एक खेती का बड़ा व्यापार था। व्यापार का मालिक, श्री प्रेमचंद्र, एक बहुत ही समझदार और अनुभवी व्यक्ति थे। लेकिन उम्र बढ़ने के साथ, उन्होंने सोचा कि अब व्यापार की बागडोर किसी युवा हाथों में देने का समय आ गया है।

उनके दो बेटे थे, अभय और अनुभव। अभय, जो बड़ा था, व्यापार में नए विचार लाने का इच्छुक था, जबकि अनुभव अधिक पारंपरिक तरीके से काम करना पसंद करता था। श्री प्रेमचंद्र ने फैसला किया कि वह अभय को व्यापार की बागडोर सौंपेंगे।

अभय ने जब व्यापार की बागडोर संभाली, तो उसने कई आधुनिक तकनीकें और नवीनीकरण किए। उसके पास पूर्ण अधिकार और नियंत्रण था, और उसने इसे बुद्धिमत्ता से इस्तेमाल किया। उसकी नई नीतियों और कार्यशैली ने व्यापार को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाया।

गाँववाले और श्री प्रेमचंद्र दोनों ही अभय की कामयाबी से बहुत खुश थे। अभय की सफलता ने सभी को यह सिखाया कि “बागडोर हाथ में होना” का मतलब सिर्फ अधिकार प्राप्त होना नहीं, बल्कि उस अधिकार का सही दिशा में उपयोग करना भी होता है। इस कहानी से यह सीख मिलती है कि जब हमारे हाथ में अधिकार होता है, तो हमें उसे सोच-समझकर और जिम्मेदारीपूर्वक इस्तेमाल करना चाहिए।

शायरी:

जब बागडोर हाथ में आई, खुद पर एक जिम्मेदारी आई,

हर फैसले में वजन है भारी, हर कदम पर नई कहानी।

सपनों की राह पे चलकर, देखो तो ज़रा खुली हवा में,

बागडोर जब हाथ में होती है, अपनी ही राह होती है।

नियति का खेल है ये कैसा, जिम्मेदारी का मेल है ऐसा,

हाथ में जब बागडोर आती है, नई दिशा आँखों में सजती है।

निर्णयों की डगर पे चलना, सपनों की उड़ान भरना,

बागडोर हाथ में होने पर, खुद की ताकत का एहसास करना।

अधिकार की इस बागडोर को, संभालना है बड़े जतन से,

जीवन की इस डोर को, चलाना है अपने विवेक से।

 

बागडोर हाथ में होना शायरी

आशा है कि आपको इस मुहावरे की समझ आ गई होगी और आप इसका सही प्रयोग कर पाएंगे।

Hindi to English Translation of बागडोर हाथ में होना – Bagdor haath mein hona Idiom:

Introduction: “Having the reins in hand” (बागडोर हाथ में होना) is a popular Hindi idiom frequently used in our daily life and professional situations. Through this idiom, we can understand the significance of control and authority.

Meaning: The idiom “बागडोर हाथ में होना” describes a situation where a person has complete control or authority. This idiom talks about leadership, ownership, or dominance over a situation.

Usage: This idiom can be used in any context where an individual has full authority and control. It can relate to business, politics, family affairs, or the management of an organization.

Example:

-> “When the CEO of the company took charge, he ensured that the reins were firmly in his hands.”

-> “When the elder brother took over the family responsibilities, he showed what it means to have the reins in hand.”

Conclusion: The importance of the idiom “बागडोर हाथ में होना” lies in that it informs us about the responsibilities of leadership and authority. It teaches us that when we have control, we should use it responsibly and thoughtfully.

Story of ‌‌Bagdor haath mein hona Idiom in English:

Once there was a story from a small village called ‘Ujjwalpur’, which had a large farming business. The owner of the business, Mr. Premchandra, was a very wise and experienced man. As he aged, he thought that it was time to hand over the reins of the business to younger hands.

He had two sons, Abhay and Anubhav. Abhay, the elder one, was keen on bringing new ideas into the business, while Anubhav preferred working in more traditional ways. Mr. Premchandra decided to hand over the business reins to Abhay.

When Abhay took over, he introduced many modern techniques and innovations. He had complete authority and control, which he used wisely. His new policies and methods took the business to new heights.

Both the villagers and Mr. Premchandra were very pleased with Abhay’s success. Abhay’s success taught everyone that “having the reins in hand” not only means having authority but also using it in the right direction. This story teaches that when we have authority, we should use it thoughtfully and responsibly.

 

I hope this gives you a clear understanding of the proverb and how to use it correctly

हिंदी मुहावरों की पूरी लिस्ट एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

टिप्पणी करे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Budhimaan Team

Budhimaan Team

हर एक लेख बुधिमान की अनुभवी और समर्पित टीम द्वारा सोख समझकर और विस्तार से लिखा और समीक्षित किया जाता है। हमारी टीम में शिक्षा के क्षेत्र में विशेषज्ञ और अनुभवी शिक्षक शामिल हैं, जिन्होंने विद्यार्थियों को शिक्षा देने में वर्षों का समय बिताया है। हम सुनिश्चित करते हैं कि आपको हमेशा सटीक, विश्वसनीय और उपयोगी जानकारी मिले।

संबंधित पोस्ट

"खाइए मनभाता पहनिए जगभाता मुहावरे का चित्रण", "गाँव की शादी में समाज के अनुरूप वेशभूषा में युवक", "सादगीपसंद खाने और समाजिक वस्त्रों में संतुलन", "Budhimaan.com पर जीवन शैली और संस्कृति"
Hindi Muhavare

खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता अर्थ, प्रयोग (Khaiye manbhata, Pahniye jagbhata)

परिचय: “खाइए मनभाता, पहनिए जगभाता” यह एक प्रचलित हिंदी मुहावरा है जो जीवन में एक संतुलित दृष्टिकोण अपनाने की सलाह देता है। यह मुहावरा हमें

Read More »
"करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत मुहावरे का चित्रण", "सकारात्मक कार्यों में ऊर्जा निवेश करते व्यक्ति की छवि", "Budhimaan.com पर सकारात्मक योगदान की प्रेरणा", "विवादों की बजाय कर्म पर ध्यान केंद्रित करता किसान"
Hindi Muhavare

करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत अर्थ, प्रयोग (Karni na kartoot, Ladne ko majboot)

परिचय: “करनी न करतूत, लड़ने को मजबूत” एक हिंदी मुहावरा है जो उन व्यक्तियों के व्यवहार को उजागर करता है जो वास्तव में तो कुछ

Read More »
"ईंट की लेनी पत्थर की देनी कहानी चित्र", "मुहावरे का विवेचन आलेख छवि", "छोटी गलती बड़ा प्रतिशोध इलस्ट्रेशन", "Budhimaan.com पर जीवन की सीख ग्राफिक्स"
Hindi Muhavare

ईंट की लेनी पत्थर की देनी अर्थ, प्रयोग (Eent ki leni patthar ki deni)

परिचय: “ईंट की लेनी पत्थर की देनी” यह मुहावरा हिन्दी भाषा में बहुत प्रचलित है, जिसका प्रयोग अक्सर किसी के द्वारा की गई छोटी कार्रवाई

Read More »
"उत्तम खेती मध्यम बान इमेज", "स्वावलंबन का महत्व चित्र", "भारतीय मुहावरे विश्लेषण ग्राफिक", "Budhimaan.com पर आत्मनिर्भरता लेख इमेज"
Hindi Muhavare

उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान अर्थ, प्रयोग (Uttam kheti madhaym baan, Nikrasht chakri bheekh nidan)

परिचय: “उत्तम खेती मध्यम बान, निकृष्ट चाकरी भीख निदान” एक प्राचीन हिंदी मुहावरा है जो विभिन्न पेशों की सामाजिक और आर्थिक स्थिति की तुलना करता

Read More »

आजमाएं अपना ज्ञान!​

बुद्धिमान की इंटरैक्टिव क्विज़ श्रृंखला, शैक्षिक विशेषज्ञों के सहयोग से बनाई गई, आपको भारत के इतिहास और संस्कृति के महत्वपूर्ण पहलुओं पर अपने ज्ञान को जांचने का अवसर देती है। पता लगाएं कि आप भारत की विविधता और समृद्धि को कितना समझते हैं।