Budhimaan

Home » Hindi Muhavare » मैदान मारना, अर्थ, प्रयोग(Maidan marna)

मैदान मारना, अर्थ, प्रयोग(Maidan marna)

शुभ_दौड़ते_हुए, मैदान_मारना_इल्लुस्ट्रेशन, शुभ_विजयी_समाज

परिचय: “मैदान मारना” एक प्रचलित हिंदी मुहावरा है जिसे सामान्यत: किसी कार्य में सफलता पाने या जीतने के संदर्भ में प्रयुक्त किया जाता है।

अर्थ: किसी कार्य सफल होना या जीत जाना।

उदाहरण:

-> अनन्य ने परीक्षा की तैयारी में कड़ी मेहनत की और अंत में मैदान मार लिया।

->अनुज ने नई कंपनी की स्थापना में कई बाधाओं का सामना किया, लेकिन अंतत: उसने मैदान मार दिया।

विवेचना: “मैदान मारना” मुहावरा वास्तविकता में युद्धभूमि से संबंधित है जहां एक सैनिक अपने प्रतिद्वंद्वी को हरा देता है। हालांकि, यह मुहावरा आजकल किसी भी प्रकार की संघर्ष या प्रतिस्पर्धा में सफलता पाने के संदर्भ में प्रयुक्त होता है।

निष्कर्ष: “मैदान मारना” हमें यह सिखाता है कि जीवन में संघर्ष और मेहनत से ही सच्ची सफलता प्राप्त होती है। इस मुहावरे का प्रयोग हमें प्रेरित करता है कि हमें अपने लक्ष्य की प्राप्ति के लिए सदैव प्रयासशील रहना चाहिए।

मैदान मारना मुहावरा पर कहानी:

शुभ एक गाँव में रहता था और वह गाँव का सबसे अच्छा दौड़ने वाला खिलाड़ी था। वह हर साल अपने गाँव के दौड़ में हिस्सा लेता था और हर बार जीतता था। इस बार वह अपने आप को प्रदेशीय स्तर पर भाग लेने के लिए तैयार कर रहा था।

उसे पता था कि प्रदेशीय स्तर की प्रतिस्पर्धा में उसके सामने और भी मजबूत प्रतिद्वंद्वी होंगे, लेकिन वह डरा नहीं। वह रोज़ सुबह और शाम अपनी तैयारी में व्यस्त रहता।

जब प्रतियोगिता का दिन आया, शुभ को थोड़ी घबराहट हुई। परन्तु उसने अपनी मेहनत और संघर्ष को याद किया और मैदान में कदम रखा। दौड़ शुरू होने से पहले, उसने अपने मन में ठान लिया कि वह अब मैदान मारेगा।

जैसे-जैसे दौड़ आगे बढ़ी, शुभ अपनी प्रतिस्पर्धियों को पीछे छोड़ता गया। और अंत में, वह प्रतिस्पर्धा में पहला आया। उसने सच में मैदान मार दिया!

जब उसे पूछा गया कि वह इतनी मजबूती से कैसे दौड़ सकता है, तो उसने कहा, “मैंने हमेशा अपने आप को यह कहते हुए तैयार किया कि मैं मैदान मार सकता हूँ, और आज मैंने वह किया।”

इस कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि जब हम मेहनत और संघर्ष से अपने लक्ष्य की तरफ बढ़ते हैं, तो हम सच में ‘मैदान मार सकते है

शायरी:

मैदान में खेल का जज्बा, उस जोश में कुछ खास बात है,

कविता की तरह बोलूँ, इस शेर में जोश अपार है।

जिस दिन मैं मैदान मारूँ, धरती गूँज उठे इस आवाज से,

कि “जिसे खेल से मोहब्बत है, वही जीत का मार्कज है”।

 

मैदान मारना शायरी

आशा है कि आपको इस मुहावरे की समझ आ गई होगी और आप इसका सही प्रयोग कर पाएंगे।

Hindi to English Translation of मैदान मारना – Maidan Maarna Idiom:

Introduction: “Maidan Maarna” is a prevalent Hindi idiom typically used to indicate succeeding or winning in a particular task or endeavor.

Meaning:  To achieve success or to win in an endeavor.

Usage:

-> Ananya worked hard in preparing for the exam and eventually succeeded (lit. won the field).

-> Anuj faced many challenges in establishing a new company, but in the end, he triumphed (lit. conquered the field).

Discussion: The phrase “Maidan Maarna” is originally related to a battlefield where a warrior defeats his opponents. However, today this idiom is used in the context of achieving success in any form of struggle or competition.

Conclusion: “Maidan Maarna” teaches us that true success in life comes through struggle and hard work. Using this idiom inspires us to always remain diligent in the pursuit of our goals.

Story of ‌‌Maidan Maarna Idiom in English:

Shubh lived in a village and was known as the best runner there. Every year, he participated in the village race and always emerged victorious. This time, he was preparing to compete at the provincial level. He knew that the competition at the provincial level would be tougher, but he wasn’t deterred. 

Every morning and evening, he would diligently train. When the day of the competition arrived, Shubh felt a bit nervous. However, he remembered all the hard work and perseverance he had put in and stepped onto the field. 

Before the race began, he mentally committed to “winning the field.” As the race progressed, Shubh began to surpass his competitors.

In the end, he finished first. He truly “won the field.” When asked how he could run with such strength, he replied, “I always trained myself thinking that I can ‘win the field’, and today, I did just that.” This story teaches us that when we move towards our goals with dedication and struggle, we can indeed ‘win the field’.

 

I hope this gives you a clear understanding of the proverb and how to use it correctly

हिंदी मुहावरों की पूरी लिस्ट एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

टिप्पणी करे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Budhimaan Team

Budhimaan Team

हर एक लेख बुधिमान की अनुभवी और समर्पित टीम द्वारा सोख समझकर और विस्तार से लिखा और समीक्षित किया जाता है। हमारी टीम में शिक्षा के क्षेत्र में विशेषज्ञ और अनुभवी शिक्षक शामिल हैं, जिन्होंने विद्यार्थियों को शिक्षा देने में वर्षों का समय बिताया है। हम सुनिश्चित करते हैं कि आपको हमेशा सटीक, विश्वसनीय और उपयोगी जानकारी मिले।

संबंधित पोस्ट

"टुकड़ा खाए दिल बहलाए कहावत का प्रतीकात्मक चित्र", "कपड़े फाटे घर को आए कहावत की व्याख्या वाला चित्र", "आर्थिक संघर्ष दर्शाती Budhimaan.com की छवि", "भारतीय ग्रामीण जीवन का यथार्थ चित्रण"
Kahavaten

टुकड़ा खाए दिल बहलाए, कपड़े फाटे घर को आए, अर्थ, प्रयोग(Tukda khaye dil bahlaye, Kapde fate ghar ko aaye)

“टुकड़ा खाए दिल बहलाए, कपड़े फाटे घर को आए” यह हिंदी कहावत कठिन परिस्थितियों में जीवन यापन करने के संघर्ष को दर्शाती है। इस कहावत

Read More »
"टका सर्वत्र पूज्यन्ते कहावत का चित्रण", "धन और सामाजिक सम्मान का प्रतीकात्मक चित्र", "भारतीय समाज में धन का चित्रण", "हिंदी कहावतों का विश्लेषण - Budhimaan.com"
Kahavaten

टका सर्वत्र पूज्यन्ते, बिन टका टकटकायते, अर्थ, प्रयोग(Taka sarvatra pujyate, Bin taka taktakayte)

परिचय: हिंदी की यह कहावत “टका सर्वत्र पूज्यन्ते, बिन टका टकटकायते” धन के महत्व और समाज में इसके प्रभाव पर जोर देती है। यह कहावत

Read More »
"टेर-टेर के रोवे कहावत का प्रतीकात्मक चित्र", "Budhimaan.com पर व्यक्तिगत समस्याओं का समाधान", "सामाजिक प्रतिष्ठा की रक्षा करती कहावत का चित्र", "हिंदी प्रवचनों की व्याख्या वाला चित्र"
Kahavaten

टेर-टेर के रोवे, अपनी लाज खोवे, अर्थ, प्रयोग(Ter-ter ke rove, Apni laj khove)

“टेर-टेर के रोवे, अपनी लाज खोवे” यह हिंदी कहावत व्यक्तिगत समस्याओं को बार-बार और सबके सामने व्यक्त करने के परिणामों को दर्शाती है। इस कहावत

Read More »
"ठग मारे अनजान कहावत का प्रतीकात्मक चित्र", "Budhimaan.com पर बनिया मारे जान कहावत का विश्लेषण", "धोखाधड़ी के विभिन्न रूप दर्शाती कहावत का चित्र", "हिंदी प्रवचनों की गहराई का चित्रण"
Kahavaten

ठग मारे अनजान, बनिया मारे जान, अर्थ, प्रयोग(Thag mare anjaan, Baniya maare jaan)

“ठग मारे अनजान, बनिया मारे जान” यह हिंदी कहावत विभिन्न प्रकार के छल-कपट की प्रकृति को दर्शाती है। इस कहावत के माध्यम से, हम यह

Read More »
"टका हो जिसके हाथ में कहावत का चित्रण", "समाज में धन की भूमिका का चित्र", "भारतीय कहावतों का चित्रात्मक प्रतिनिधित्व", "Budhimaan.com पर हिंदी कहावतों का विश्लेषण"
Kahavaten

टका हो जिसके हाथ में, वह है बड़ा जात में, अर्थ, प्रयोग(Taka ho jiske haath mein, Wah hai bada jaat mein)

“टका हो जिसके हाथ में, वह है बड़ा जात में” यह हिंदी कहावत समाज में धन के प्रभाव और उसकी महत्वपूर्णता पर प्रकाश डालती है।

Read More »
"टट्टू को कोड़ा और ताजी को इशारा कहावत का चित्रण", "बुद्धिमत्ता और मूर्खता पर आधारित हिंदी कहावत का चित्र", "Budhimaan.com पर हिंदी कहावतों की व्याख्या", "जीवन शैली और सीख का प्रतिनिधित्व करता चित्र"
Kahavaten

टट्टू को कोड़ा और ताजी को इशारा, अर्थ, प्रयोग(Tattoo ko koda aur tazi ko ishara)

“टट्टू को कोड़ा और ताजी को इशारा” यह हिंदी कहावत बुद्धिमत्ता और मूर्खता के बीच के व्यवहारिक अंतर को स्पष्ट करती है। इस कहावत के

Read More »

आजमाएं अपना ज्ञान!​

बुद्धिमान की इंटरैक्टिव क्विज़ श्रृंखला, शैक्षिक विशेषज्ञों के सहयोग से बनाई गई, आपको भारत के इतिहास और संस्कृति के महत्वपूर्ण पहलुओं पर अपने ज्ञान को जांचने का अवसर देती है। पता लगाएं कि आप भारत की विविधता और समृद्धि को कितना समझते हैं।